ताज़ा खबर
 

राजपाटः चक्रव्यूह में रामदेव

दरअसल जिन जड़ी बूटियों का किट तैयार कर रामदेव ने नए नाम कोरोनिल के साथ लांच किया, नजले-जुकाम के उपचार के लिए उनका संस्थान पहले ही उनकी बिक्री कर रहा था।

रामदेव ने सोचा था कि यश तो मिलेगा ही पतजंलि योग फार्मेसी का कारोबार भी अरबो-खरबों में पहुंच जाएगा।

स्वामी रामदेव की स्थिति शोले फिल्म के किरदार सांबा जैसी हो गई है। गब्बर सिंह ने उसका जिस अंदाज में मजाक उड़ाया था, वह हर किसी की जुबान पर चढ़ गया था। गब्बर बोला था- अरे ओ सांबा। तुमने क्या सोचा था कि सरदार खुश होगा और इनाम देगा। स्वामी रामदेव ने मंगलवार को जब अपनी दवा कोरोनिल लांच की और दावा किया कि कोविड-19 के उपचार में यह अचूक और रामबाण साबित होगी। बड़े खुश थे रामदेव। होना स्वाभाविक भी था। सारी दुनिया आज जिस रहस्यमय बीमारी से त्राहि-त्राहि कर रही है, उसकी दवा ईजाद हो जाए तो चमत्कार ही माना जाएगा। रामदेव ने सोचा था कि यश तो मिलेगा ही पतजंलि योग फार्मेसी का कारोबार भी अरबो-खरबों में पहुंच जाएगा।

दुनिया के तमाम विकसित देश जिस बीमारी की दवा अब तक न खोज पाए हों, उसका निदान रामदेव ने खोजने का न केवल दावा किया बल्कि अनेक कोरोना संक्रमितों पर उसके परीक्षण का दावा भी कर डाला। पर कुछ घंटों के भीतर ही भारत सरकार के आयुष मंत्रालय ने उनकी खुशफहमी की हवा निकाल दी। न केवल रामदेव के दावे को अनुचित बताया बल्कि कोरोनिल के प्रचार-प्रसार पर भी रोक लगा दी। ऊपर से नोटिस अलग थमाया कि रोगियों पर परीक्षण से पहले सरकार से इजाजत क्यों नहीं ली?

राजपाटः पेच फंसा है जात का

दरअसल जिन जड़ी बूटियों का किट तैयार कर रामदेव ने नए नाम कोरोनिल के साथ लांच किया, नजले-जुकाम के उपचार के लिए उनका संस्थान पहले ही उनकी बिक्री कर रहा था। आयुष मंत्रालय ने भौंहे तरेरी तो उत्तराखंड सरकार ने भी नोटिस जारी कर दिया। दिल्ली, राजस्थान और महाराष्ट्र की सरकारों ने भी पाबंदी लगा दी। राजस्थान सरकार ने तो जवाब-तलब भी कर लिया कि उसकी इजाजत के बिना जयपुर के मेडिकल कालेज में कोरोना रोगियों पर इस दवा का परीक्षण कैसे कर दिया?

स्वामी रामदेव ने पीएम केयर्स फंड में भी पच्चीस करोड़ दिए थे। केंद्र में 2014 में भाजपा सरकार बनवाने के लिए तो उन्होंने रात दिन एक कर दिया था। उनके साथ ऐसा सलूक होगा, सपने में भी न सोचा होगा। अजीब उलझन में फंस गए हैं रामदेव। चले थे मानवता का कल्याण करने पर उलझ गए सरकारों के चक्रव्यूह में।

(प्रस्तुति : अनिल बंसल)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजपाटः पेच फंसा है जात का
2 राजपाटः दूर की कौड़ी
3 राजपाटः दाल में काला
IPL 2020 LIVE
X