ताज़ा खबर
 

CM अशोक गहलोत बोले- PM मोदी ने विदेश नीति की धज्जियां उड़ा दीं, नेहरू- इंदिरा गांधी की परंपरा को ध्वस्त किया

प्रधानमंत्री मोदी के अमेरिका दौरे के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और रिपब्लिकन पार्टी के नेताओं के साथ मंच साझा करने को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता ने उनपर निशाना साधा है।

Ashok Gehlot, maharashtra news, maharashtra, ajit pawar, maharashtra cm, devendra fadnavis, maharashtra government, sharad pawar, maharashtra election, shiv sena, maharastra gov news, ncp party, ncp, maharashtra election news, uddhav thackeray, sanjay raut, cm of maharashtra, amit shah, fadnavis, maharashtra chief minister, maharashtra cm news, maharashtra election results 2019 seats, maharashtra government formation, chief minister of maharashtra, shivsena, maharashtra election resultsराजस्थान के सीएम अशोक गहलोत का देवेंद्र फड़णविस के सीएम पद को लेकर हमला

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार (24 सितम्बर) को प्रधानमंत्री मोदी के अमेरिका दौरे को लेकर उनपर निशाना साधते हुए  भारत की छवि धूमिल करने के आरोप लगाए। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दशकों से चली आ रही भारतीय विदेश नीति की परंपरा को ध्वस्त कर दिया। उन्होंने कहा कि मोदी के इस कार्यक्रम में शिरकत करने से दुनिया-भर में हमारी आलोचना हो रही है।

विदेश नीति की धज्जियाँ उड़ा दीं: मोदी पर निशाना साध रहे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि भारत जिस विदेश नीति का पालन करता है उसकी नींव पंडित नेहरु और इंदिरा गांधी ने रखी थी। उन्होंने कहा, “70 साल के इतिहास में पहली बार हुआ होगा कि देश का प्रधानमंत्री जाकर किसी उम्मीदवार विशेष का, उसकी पार्टी का खुल कर प्रचार करे। मैं समझता हूं कि इसकी जितनी आलोचना की जाए, उतनी कम है क्योंकि देश के इतिहास में पहली बार प्रधानमंत्री ने हमारी विदेश नीति की धज्जियां उड़ा दीं, हम गुटनिरपेक्ष रहे हैं, हमारी विदेश नीति की स्थापना पंडित नेहरू ने, इंदिरा गांधी ने की थी प्रधानमंत्री मोदी ने उसकी धज्जियां उड़ा दीं ”

National Hindi News, 21 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

देश के प्रतिनिधित्व में कैसी दोस्ती: गहलोत ने अमेरिका में मोदी के शिरकत करने को लेकर कहा, “मोदी और ट्रम्प की निजी दोस्ती अपनी जगह है, वे भले ता-उम्र अपनी दोस्ती निभाएं हमें कोई एतराज़ नहीं मगर देश का प्रतिनिधित्व करने वाले  प्रधानमंत्री ने जो वहां किया है उसे किसी भी रूप में देशवासी उचित नहीं मान सकते”

दुनिया भर में आलोचना:गहलोत यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने कहा कि जबसे प्रधानमंत्री अमेरिका में एक राजनीतिक पार्टी का प्रचार करके आये हैं, अगर अमेरिका में कोई दूसरी पार्टी का आदमी राष्ट्रपति बन गया तो इसके अंजाम भारत को कूटनीतिक स्तर पर भुगतने पड़ेंगे, भारत और अमेरिका के बीच रिश्ते कैसे रहेंगे?  गहलोत बोले ने यह भी कहा कि दुनिया भर में इसपर चर्चा हो रही है, लोग इसकी आलोचना कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजनीति: जाली मुद्रा का बाजार
2 राजनीतिः किसान का संकट
3 राजनीति: आर्थिक संकट में घिरा पाकिस्तान
IPL 2020
X