ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी ने पद्मावत पर हंगामे के लिए बीजेपी को ठहराया जिम्मेदार, बोले- नफरत की राजनीति से देश जल रहा

राहुल ने ट्वीट कर कहा, "बच्चों के खिलाफ हिंसा को जायज ठहराने के लिए कोई भी कारण नहीं हो सकता। हिंसा और नफरता कमजोर लोगों के हथियार हैं। भाजपा नफरत और हिंसा की राजनीति कर पूरे देश आग में लगा रही है।

Author January 25, 2018 8:01 PM
राहुल गांधी और पीएम मोदी। (फाइल फोटो)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फिल्म ‘पद्मावत’ की रिलीज को लेकर हुई हिंसा की निंदा की जबकि पार्टी महासचिव दिग्विजय सिंह ने ‘पद्मावत’ की आलोचना करते हुए कहा कि इस तरह की फिल्में नहीं बननी चाहिए। राजपूत महारानी पद्मावती पर आधारित संजय लीला भंसाली की फिल्म गुरुवार को रिलीज हो गई। कई राज्यों में करणी सेना द्वारा फिल्म के खिलाफ किए जा रहे प्रदर्शनों को लेकर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था की गई है। करणी सेना का दावा है कि फिल्म में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। जबकि फिल्म निर्माताओं का कहना है कि ऐसा कुछ नहीं है। राहुल गांधी ने फिल्म के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों द्वारा गुरुग्राम में स्कूली बच्चों की बस पर हमले के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘पार्टी की नफरत की राजनीति से देश में आग लग गई है।’ हालांकि, उन्होंने 16वीं सदी के अवधि कवि मलिक मुहम्मद जायसी के महाकाव्य ‘पद्मावत’ पर आधारित फिल्म पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

राहुल ने ट्वीट कर कहा, “बच्चों के खिलाफ हिंसा को जायज ठहराने के लिए कोई भी कारण नहीं हो सकता। हिंसा और नफरता कमजोर लोगों के हथियार हैं। भाजपा नफरत और हिंसा की राजनीति कर पूरे देश आग में लगा रही है।” राहुल का ट्वीट भंसाली की फिल्म का विरोध कर रहे उपद्रवियों द्वारा स्कूली बस पर हमले के वीडियो के कुछ घंटों बाद आया। इस वीडियो में बच्चों को सीट के नीचे दुबके हुए रोते-बिलखते देखा जा सकता है।

राहुल गांधी के ट्वीट के कुछ घंटों बाद दिग्विजय सिंह ने फिल्म का विरोध करते हुए कहा कि फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ की गई है। उन्होंने मीडिया से कहा, “ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़ने-मरोड़ने वाली और किसी भी धर्म या जाति की भावनाएं आहत करने वाली फिल्में नहीं बननी चाहिए।” दिग्विजय तीन महीने की स्वघोषित नर्मदा यात्रा पर हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App