ताज़ा खबर
 

राजनीति

क्यों बढ़ रहा है डेंगू का कहर

पिछले कुछ वर्षों से डेंगू ने कई राज्यों में पैर पसार लिए हैं, पर दिल्ली में यह बीमारी कहर बरपाती रही है। डेंगू के...

अधिग्रहण का जमीनी सबक

मोदी सरकार ने ‘भूमि अर्जन, पुनर्वासन और पुनर्व्यवस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता का अधिकार विधेयक 2013’ कानून के विवादास्पद संशोधनों को वापस लेने...

स्त्री के भय की कड़ियां

हाल ही में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने बलात्कार की घटनाओं को लेकर एक बयान दिया। उन्होंने कहा कि चार...

फिर भ्रष्टाचार से कौन लड़ेगा

खबर है कि नेशनल प्रिंटिंग प्रेस में व्याप्त कथित अनियमितताएं जिस शख्स की जनहित याचिका की वजह से उजागर हुर्इं, उसने अपने उत्पीड़न के...

बेतरतीब शहरीकरण की मुश्किलें

तेज शहरीकरण की आपाधापी में इंसान उन बुनियादी बातों को भूल चुका है, जो प्रकृति प्रदत्त संसाधनों की हदों से वास्ता रखती हैं। धरती...

आजादी की गुजराती फिसलन

राष्ट्रीय आम सहमति के आधार पर बनी आरक्षण की राह पर भारतीय राजनीति लंबे समय से चलना सीख गई है।

इंटरनेट की दुनिया में हिंदी

तीसरी तकनीकी क्रांति (1980) के बाद इंटरनेट सूचनाओं के आदान-प्रदान का सबसे सुलभ साधन बन चुका है। इसने मानव जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में...

परीक्षा हो या न हो

परीक्षाएं स्कूल-व्यवस्था की खोज का परिणाम हैं। स्वदेशी स्कूलों को मिटा कर जब मैकाले मॉडल की शिक्षा लागू की गई, तो परीक्षा भी स्कूलों,...

ताकि प्राथमिक शिक्षा में सुधार आए

देश की प्राथमिक शिक्षा में सुधार हो, सरकारें इस मुद्दे पर दशकों से विचार कर रही हैं। लेकिन यह सुधार कैसे होगा, इस पर...

धर्म के खोटे सिक्के

भारत को पूरे विश्व में विभिन्न धर्मों, आस्थाओं, नाना प्रकार के विश्वास और अध्यात्मवाद के लिए जाना जाता है। इस देश की धरती ने...

बैंकों की बिगड़ती सेहत

सरकारी बैंकों को खतरे से उबारने के लिए सरकार ने एक बार फिर अपना खजाना खोल दिया है। अगले चार वर्षों में वह इन...

जीएसटी की कसौटी पर

संसद का सत्र लोक-अपेक्षाओं को पूर्ण करने का एक मंच होता है। संवैधानिक उद््देश्यों की प्राप्ति के लिए ही सरकार संविधान में संशोधन, परिवर्धन...

कितना कारगर होगा नगा समझौता

नगा विद्रोही संगठन नेशनल सोशलिस्ट कौंसिल आॅफ नगालिम (एनएससीएन) के इसाक-मुइवा गुट के साथ शांति प्रक्रिया आखिरकार अंतिम चरण में पहुंच गई है और...

विकास के कोलाहल में

देश में सामाजिक-आर्थिक और जातीय जनगणना (एसइसीसी) के अलग-अलग पहलुओं पर बहस चल रही है। कुछ जानकार इस तथ्य की तरफ इशारा कर रहे...

हादसों की रफ्तार बनाम सुरक्षा की पटरी

भारतीय रेल परिवहन तंत्र विश्व का सबसे बड़ा व्यावसायिक प्रतिष्ठान है, पर विडंबना है कि यह किसी भी स्तर पर विश्वस्तरीय मानकों को पूरा...

किसानों की खुदकुशी के सबब

जरा गौर कीजिए कि इसी देश में करीब अठारह-बीस करोड़ भूमिहीन दलित, अति पिछड़े मजूर हैं। उनके जीवन में यह मौका ही नहीं आता...

नगा समझौते की अड़चनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में समझौते पर हस्ताक्षर करने के बाद नगा नेता ने भारत सरकार और नगाओं के बीच एक नए रिश्ते...

दिल्ली में सरकारों का छाया-युद्ध

अगर विज्ञापनों के बूते संभव होता तो दिल्ली से अब तक भ्रष्टाचार का नामो-निशान मिट चुका होता और इस महानगर की स्त्रियां पूरी तरह...