राजनीति

बेरोजगारी की डराती तस्वीर

भारत को वैश्विक आर्थिक महाशक्ति बना देने का सपना दिखाने वालों की नींद अब टूटनी चाहिए।

नेताजी की गुमनामी और सियासत

कोलकाता में पश्चिम बंगाल सरकार ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस से जुड़ी चौंसठ फाइलें सार्वजनिक कीं तो इधर फैजाबाद में गुमनामी बाबा के समर्थक उनके...

क्या नदियों को जोड़ना जरूरी है?

नदियों को जोड़ने की महत्त्वाकांक्षी योजना के अंतर्गत एक और कामयाबी मिली। कृष्णा और गोदावरी नदियों के मिलन के साथ ही आंध्र प्रदेश का...

किस मर्ज का इलाज हैं कारें

गहराते तेल संकट के मद्देनजर वर्ष 1994 में स्पेन के टॉलेडो में हुई एक अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में प्रस्ताव दिया गया था कि दुनिया में...

स्वच्छता एक नैतिक मूल्य है

केंद्र में राजग की सरकार बनने के बाद गांधी की स्वच्छता संबंधी सोच को लेकर चर्चा तेज हो गई है। पिछले वर्ष दो अक्तूबर...

मशीन के इस्तेमाल की सीमाएं

हाल में देश-विदेश में रोबोट के हाथों दो मजदूरों की मौत का मामला काफी चर्चा में रहा। इनमें पहली घटना जर्मनी की आॅटोमोबाइल कंपनी...

कितने कारगर होंगे भुगतान बैंक

भारत का संविधान नागरिकों को राजनीतिक और सामाजिक समानता के साथ-साथ आर्थिक अवसरों की समानता का अधिकार भी देता है।

आतंक के खिलाफ बुलंद आवाज

देश में प्रमुख उलेमा और मुफ्तियों ने फतवा जारी करते हुए जिस तरह से कट्टरपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट यानी आइएस के खिलाफ आवाज बुलंद...

सीरिया में तबाही की जड़े

तुर्की के समुद्र किनारे एक रिसॉर्ट के पास औंधे मुंह पड़ी तीन साल के बच्चे की लाश ने पूरी दुनिया को द्रवित कर दिया...

खानपान की आदतें और सियासी नजर

भारत विभिन्न धर्मों, जातियों और अलग-अलग विश्वासों को मानने वालों का देश है। यहां का संविधान देश के सभी नागरिकों को समान रूप से...

हिचकोले खाती विकास दर

हमारी अर्थव्यवस्था के स्वास्थ्य से जुड़े संकेत शुभ नहीं दिखते। चार बातें तो साफ दिखती हैं। पहली, चालू वित्त वर्ष (2015-16) की पहली तिमाही...

वैश्वीकरण के दौर में आरक्षण

गुजरात में ‘संपन्न’ पटेलों का आरक्षण-विस्फोट न आकस्मिक है और न अंतिम। संभवत: हम शिक्षा और रोजगार में आरक्षण के तीसरे चरण से रूबरू...

निष्ठुर सत्ताएं, त्रासद तस्वीर

समुद्र किनारे औंधे मुंह पड़े तीन साल के सीरियाई बच्चे एलेन कुर्दी के शव की तस्वीर ने दुनिया को हिला दिया है। लाल रंग...

बंददिमागी के विरुद्ध बोलने की सजा

एक ऐसे समाज के बारे में क्या कहेंगे, जहां लेखकों को बंदूक की गोलियों का सामना करना पड़ता है और सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर पत्थर...

कैसी महिला मुक्ति है यह

पिछले दिनों हुए खुलासे ने हमें स्तब्ध ही नहीं कर दिया, हमारी सोच और समझ को थोड़ी देर के लिए जैसे ध्वस्त कर दिया...

डूबते कर्ज का बढ़ता मर्ज

कमजोर कर्ज वसूली से बेहाल बैंकों के लिए एक और बुरी खबर है। भारत सरकार के वित्तीय सेवा विभाग द्वारा जारी ताजा जानकारी के...

Britain, UK, Labour Party
ब्रिटेन में अनूठी संभावना

सोचिए, अगर आगामी संसदीय चुनाव में ब्रिटेन का प्रधानमंत्री एक गांधीभक्त सत्याग्रही, उपनिवेशवाद-विरोधी, शाकाहारी और तंबाकू तथा शराब से सख्त परहेजी कोई श्रमजीवी व्यक्ति...

संस्कृतियां और विध्वंसक प्रवृत्तियां

आतंकवादी संगठन आइएस की कू्ररता और दूसरे मजहबों, संस्कृतियों, सभ्यताओं को नष्ट करने की उसकी सोच को बार-बार स्पष्ट करने की आवश्यकता नहीं है।...

ये पढ़ा क्या?
X