ताज़ा खबर
 

मेवात गैंगरेप और बीफ बिरयानी जैसे छोटे मुद्दों पर नहीं देता ध्यानः मनोहर लाल खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि मेवात गैंगरेप और बीफ बिरयानी जैसे छोटे मुद्दों पर ज्यादा ध्यान नहीं देना चाहिए।

Author गुड़गांव | Published on: September 18, 2016 1:16 PM
मनोहर लाल खट्टर ने मेवात गैंगरेप और बीफ बिरयानी जैसे मुद्दों को बताया छोटा

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपने एक बयान में कहा कि डबल मर्डर केस, मेवात में दो बहनों का गैंगरेप और बीफ में बिरयानी जैसे मामले छोटे मामले हैं। ये देश के किसी भी हिस्से में हो सकते थे। हरियाणा के 50 साल पूरे होने के मौके पर रिपोर्टर्स ने जब खट्टर से मेवात गैंगरेप और बीफ मामले में CBI जांच को लेकर सवाल किया तो खट्टर ने अपने जवाब में कहा- ‘ये सब छोटे मामले हैं , मैं ऐसे मुद्दों को ज्यादा तरजीह नहीं देता, आज हमें हरियाणा की स्वर्ण जयंती पर बात करनी चाहिए।’ दुबारा पूछे जाने पर खट्टर ने कहा कि ‘हरियाणा की स्वर्ण जयंती की तुलना में ये सब मुद्दे बहुत छोटे हैं। ये घटनाएं देश के किसी भी हिस्से में हो सकती थीं।’ आपको बता दें कि बीते 24 अगस्त को एक 20 साल की महिला और इसकी 14 साल की भतीजी के साथ कई लोगों ने मिलकर दुष्कर्म किया था।

जिसके बाद उनकी हत्या कर दी गई थी। बिरयानी में बीफ विवाद तब शुरु हुआ जब हरियाणा गो रक्षा टास्क फोर्स इंचार्ज भारती अरोड़ा और गौ सेवा आयोग चेयरमैन भानी राम मंगला ने ईद के मौके पर एक होटल से बिरयानी के सैंपल लिए। आरोप है कि बिरयानी बनाने में बीफ का इस्तेमाल किया गया। मंगला ने दावा किया कि मेवात में बीफ बिरयानी बेची जा रही है। मेवात के नूह, फिरोजपुर, नगीना, पुनहाना, भड़ास, शाह चोखा और अन्य कई गांवों में बीफ बिरयानी बेचे जाने का आरोप भानी राम मंगला ने लगाया है। इसके बाद हरियाणा के एक मंत्री अनिल विज ने कहा था कि बिरयानी के सभी सैंपल्स में बीफ मौजूद मिला है। इन सैंपल्स की जांच हिसार में लाला लाजपत राय यूनिवर्सिटी की लैब में की गई है। आप को बता दें कि हरियाणा सरकार ने गोवंश संरक्षण और गौ संवर्धन एक्ट के तहत बीफ की बिक्री को गैरकानूनी घोषित कर दिया था। इस मामले में दोषी पाए जाने पर 10 साल की सजा और एक लाख रुपए जुर्माने का प्रावधान है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राजनीतिः पुलिस सुधार का इंतजाम
2 दक्षिण चीन सागर पर क्यों है घमासान
3 मलेरिया से मुक्ति का रास्ता