ताज़ा खबर
 

राजनीति

राजनीतिः बचत पर बाजार की नजर

राष्ट्रीय लघु बचत कोष को भी अब गैरजरूरी बताया जा रहा है। आम आदमी को समझाया जा रहा है कि उसकी छोटी-छोटी बचतों पर...

राजनीतिः स्त्री का डर, कानून और समाज

क्या यौनहिंसा संबंधी कानूनों में और कड़े प्रावधान कर देने भर से ये अपराध कम होने लगेंगे? निर्भया कांड के बाद देश में उठे...

राजनीतिः टिकाऊ विकास की उर्जा

पश्चिमी दुनिया में ऊर्जा की प्रतिव्यक्ति खपत को किसी देश के विकास का पैमाना माना जाता रहा। पर अब वह मापदंड अप्रासंगिक ही नहीं,...

राजनीतिः उलटी प्राथमिकताओं की पटरी

इसे विडंबना ही कहा जाना चाहिए कि आम जनता जिन रेलगाड़ियों में सफर करती है, धनाभाव के कारण हम उनके रेल-पथ का नवीनीकरण और...

राजनीतिः नेपाली लोकतंत्र का प्रभात

चीन से किए गए नेपाल के किसी नए करार पर भारत को किसी प्रकार की असुरक्षा प्रदर्शित न करते हुए सावधानी से प्रतिक्रिया...

महिला सरपंचों की कठिन राह

ग्राम पंचायतों की अधिकतम महिला सदस्यों की आयु बीस से चालीस वर्ष के बीच है, जिनमें से लगभग नब्बे प्रतिशत चुनी गई महिलाओं...

राजनीतिः देश की तरक्की बनाम तपेदिक

टीबी के उन्मूलन के लिए पूरे देश में युद्धस्तर पर अभियान चलाना होगा। साथ ही यह सुनिश्चित करना पड़ेगा कि स्वास्थ्य केंद्रों विशेषकर ग्रामीण...

राजनीतिः कैसे घटे बस्ते का बोझ

बच्चों में सीखने की क्षमता के सहज विकास के लिए उनके साथ बहुत संवेदनशील तरीके से पेश आने की जरूरत है। पर यह तभी...

राजनीतिः बीमार स्वास्थ्य तंत्र का निदान

नई स्वास्थ्य नीति में उन सारीअच्छी बातों का जोर-शोर से उल्लेख है जो देश के निराशाजनक स्वास्थ्य परिदृश्य में बदलाव के लिए आवश्यक हैं,...

शिया वक्‍फ बोर्ड के चेयरमैन का दावा- गुजरात दंगों का बदला लेने के लिए मुसलमानों को उकसा रही कांग्रेस

शिया वक्‍फ बोर्ड के अध्‍यक्ष वसीम रिजवी ने गुजरात में राजनीतिक बढ़त बनाने में जुटी कांग्रेस पर सनसनीखेज आरोप लगाया है।

राजनीतिः चाबहार की अहमियत

चाबहार होकर भारत को अफगानिस्तान जाने का एक रास्ता मिला है। वहीं अफगानिस्तान का व्यापार भी दुनिया के बाकी हिस्सों से बढ़ेगा। लेकिन सबसे...

‘भाजपा के कुछ बड़े नेता ही नहीं चाहते थे कि ढांचा टूटे’

पच्चीस साल पहले 5 दिसंबर की शाम करीब सवा सौ शिवसैनिकों को साथ लेकर जयभगवान गोयल कार सेवा करने के लिए दिल्ली से अयोध्या...

मंदिर कोई बनाए, पूजा सिर्फ हम करेंगे

छह दिसंबर 1992 को अयोध्या में विवादित ढांचा गिराने की घटना को कारसेवक अब तक नहीं भुला पाए हैं।

राजनीतिः जहां जहरीला आकाश है

दुनिया की बानवे फीसद आबादी उन इलाकों में रहती है, जहां की हवा स्वच्छ नहीं है। भारत प्रदूषण का सबसे बड़ा शिकार बनता जा...

राहुल गांधी के अध्‍यक्ष बनते ही युवा नेताओं के ‘अच्‍छे द‍िन’ आने के आसार, पुराने दिग्गज हो सकते हैं किनारे

राहुल द्वारा किए गए बदलावों में सबसे अहम है आंतरिक लोकतांत्रिक प्रक्रिया के जरिये युवा चेहरों को सामने लाना।

फिर सूखे की ओर बुंदेलखंड

बुंदेलखंड की असली समस्या अल्पवर्षा नहीं है, वह तो यहां सदियों से, पीढ़ियों से रही है। पहले यहां के बाशिंदे कम पानी में जीना...

राहुल ने कविता के जरिये फिर बोला नरेंद्र मोदी पर हमला, कहा-गुजरात में दयनीय है महिलाओं की हालत

राहुल ने '22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब, प्रधानमंत्रीजी - 5वां सवाल' शीर्षक से कविता ट्वीट कर महिलाओं से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण मुद्दों...

अयोध्या : मुस्लिम बना पार्षद तो बधाई देने पहुंचे हिंदू, घर के पास ही मन रहा था बीजेपी का भी जश्न

हाल में संपन्न निकाय चुनाव के बाद आयोध्या के हिंदू और मुस्लिम समुदाय छह दिसंबर की घटना को छोड़कर भविष्य की बारे में सोचने...