ताज़ा खबर
 

कैरेबियाई दिग्गज चंद्रपाल ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा, जानें रिकॉर्ड्स

बायें हाथ के इस जुझारू बल्लेबाज ने 1994 में गयाना में इंग्लैंड के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरूआत की। उन्होंने तब शतक जमाया और वेस्टइंडीज ने वह मैच पारी और 44 रन से जीता था।

Author सेंट जोंस | January 24, 2016 1:01 AM
इस 41 वर्षीय पूर्व कप्तान ने अपने टेस्ट करियर में 11867 रन बनाये जो वेस्टइंडीज की तरफ से सर्वाधिक रन बनाने वाले ब्रायन लारा की रन संख्या से केवल 86 रन कम है।

वेस्ट इंडीज के दिग्गज बल्लेबाज और टैस्ट इतिहास में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में सातवें नंबर पर काबिज शिवनारायण चंद्रपाल ने अपने पदार्पण के 22 साल बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। इस 41 वर्षीय पूर्व कप्तान ने अपने टैस्ट करिअर में 11867 रन बनाए जो वेस्ट इंडीज की तरफ से सर्वाधिक रन बनाने वाले ब्रायन लारा से सिर्फ 86 रन कम है। उन्होंने शुक्रवार को संन्यास लेने की घोषणा की।

बाएं हाथ के इस जुझारू बल्लेबाज ने 1994 में गयाना में इंग्लैंड के खिलाफ अपने टेस्ट करिअर की शुरुआत की। उन्होंने तब शतक जमाया और वेस्ट इंडीज ने वह मैच पारी और 44 रन से जीता था। उन्होंने अपना आखिरी टैस्ट मैच भी इंग्लैंड के खिलाफ ही पिछले साल मई में बारबाडोस में खेला था। वेस्ट इंडीज ने इस मैच में पांच विकेट से जीत दर्ज करके तीन मैचों की सीरीज बराबर कराई थी। चंद्रपाल का 164 टैस्ट मैचों में उच्चतम स्कोर नाबाद 203 रन रहा। उन्होंने दो बार यह स्कोर बनाया। पहली बार दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जार्जटाउन में 2005 में और फिर बांग्लादेश के खिलाफ 2012 में मीरपुर मेंं उनका औसत 51.37 रहा। उन्होंने अपने टैस्ट करिअर में कुल 30 शतक और 66 अर्धशतक लगाए।

उनके करिअर का संभवत: सबसे बेहतरीन क्षण 2003 में आया जब उन्होंने 104 रन बनाए और वेस्ट इंडीज एंटिगा में आस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टैस्ट मैच में रेकार्ड 418 रन के लक्ष्य को हासिल करने में सफल रहा। चंद्रपाल को पिछले साल जून में आस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टैस्ट मैचों की सीरीज के लिए टीम में नहीं चुना गया क्योंकि इंग्लैंड के खिलाफ तीन टैस्ट मैचों की सीरीज में वे केवल 92 रन बना पाए थे। अपनी आखिरी दस टैस्ट पारियों में वे केवल एक बार 50 रन की संख्या तक पहुंच पाए थे। हालांकि इसके बावजूद उनके टीम में चयन नहीं होने पर कई वरिष्ठ खिलाड़ियों ने नाराजगी जताई थी।चंद्रपाल ने 268 वनडे मैच भी खेले जिनमें उनका सर्वोच्च स्कोर 150 रन रहा। उनका औसत 41.60 रहा और उन्होंने अपना आखिरी एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 2011 विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ ढाका में विश्व कप क्वार्टर फाइनल में खेला था। उन्होंने वनडे में 8778 रन बनाए जिसमें 11 शतक शामिल हैं। इसके अलावा चंद्रपाल ने वेस्ट इंडीज की तरफ से 22 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच भी खेले लेकिन इस प्रारूप में वे आखिरी बार 2010 में खेले थे।

डब्लूआइसीबी अध्यक्ष डेव कैमरन ने कहा कि वेस्ट इंडीज क्रिकेट बोर्ड (डब्लूआइसीबी) शिव के इस खेल में अमूल्य योगदान को मानता है और उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बावजूद चंद्रपाल अपनी स्थानीय टीम गयाना की तरफ से खेलते रहेंगे। पिछले हफ्ते उन्होंने गयाना की तरफ से घरेलू 50 ओवर टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। उनकी टीम सेमीफाइनल में हार गई थी। विजडन ने 2008 में चंद्रपाल को अपने वर्ष के पांच क्रिकेटरों में शामिल किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App