पश्चिम बंगाल: भवानीपुर में चुनाव प्रचार करने पहुंचे BJP नेता दिलीप घोष के साथ धक्कामुक्की, नेताओं को एंबुलेंस में ले जाना पड़ा

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि यह हमला लोकतंत्र का अपमान है। घोष एक बुजुर्ग व्यक्ति हैं, लेकिन इसने टीएमसी कार्यकर्ताओं को उन पर लात और घूंसे से हमला किया।

West Bengal, BJP-TMC Clash, Dilip Ghosh, Bhawanipur, CM Mamata Banerjee
पश्चिम बंगाल बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष दिलीप घोष। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

भवानीपुर में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन जमकर बवाल मचा। बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ताओं के बीच लगातार झड़पें हुईं। बीजेपी नेताओं ने दावा किया कि टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने उनके नेता दिलीप घोष और वर्कर्स पर हमले किए। इसकी वजह से उन्हें प्रचार अभियान बीच में ही रोकना पड़ गया। बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष सुकांता मजूमदार का कहना है कि दिलीप घोष के साथ धक्का मुक्की हुई। उन्हें लात भी मारी गई। एक अन्य घटना में बीजेपी वर्कर को चोट भी आई।

भवानीपुर से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं। टीएमसी ने चुनाव जीतने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी है। सोमवार को बीजेपी के कई नेता और कार्यकर्ता भवानीपुर में प्रचार कर रहे थे। इनमें पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष भी शामिल थे। इसी दौरान टीएमसी कार्यकर्ताओं ने उनके साथ धक्कामुक्की की। एक मौके पर घोष के गनमैन को अपनी रिवाल्वर भी निकालनी पड़ी। लेकिन जब बीजेपी नेता ने भीड़ के उग्र तेवर देखे तो वह समर्थकों को लेकर वहां से चले गए।

एक वायरल वीडियो में दिख रहा है कि दोनों दलों के कार्यकर्ता आपस में उलझे हुए हैं। इस दौरान सुरक्षागार्ड को स्थिति संभालने के लिए गन तक निकालनी पड़ी। बीजेपी ने सवाल उठाया कि आखिर टीएमसी इतनी डरी हुई क्यों है? नंदीग्राम में हार की टीस टीएमसी यहां निकाल रही है। घोष पर हमला होने की खबर मिलते ही विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी और भाजपा सांसद अर्जुन सिंह मौके पर पहुंचे। घोष की तरह से ही अर्जुन सिंह को भी शंभूनाथ पंडित अस्पताल के बाहर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने घेर लिया और जमकर नारेबाजी की।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि यह हमला लोकतंत्र का अपमान है। घोष एक बुजुर्ग व्यक्ति हैं, लेकिन इसने टीएमसी कार्यकर्ताओं को उन पर लात और घूंसे से हमला किया। यह बंगाल की संस्कृति नहीं है। टीएमसी कार्यकर्ताओं को वापस लौटाने के लिए सुरक्षाकर्मियों को अपनी बंदूकें बाहर लाने के लिए मजबूर होना पड़ा। बीजेपी प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर हमले को लेकर सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि भवानीपुर में कानून-व्यवस्था नहीं है। चुनाव के दिन टीएमसी कार्यकर्ता इस तरह के हमले जारी रखते हैं तो सीआरपीएफ को एक्शन लेना होगा।

टीएमसी नेता सौगत रॉय ने कहा कि दिलीप घोष को देखकर लोग उग्र हो गए थे। उन्हें खुद पता नहीं है कि वह क्या कहते हैं। वह ममता बनर्जी के खिलाफ अनाप शनाप बोलते हैं। उनके सुरक्षाकर्मी ने बंदूकें निकाल ली, जिससे क्षेत्र में तनाव और बढ़ गया। उनका कहना है कि दिलीप घोष को ममता बनर्जी के खिलाफ अपमान जनक बातें कहने से बचना चाहिए था।

पढें अपडेट समाचार (Newsupdate News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट