ताज़ा खबर
 

विजय हजारे ट्राफी का फाइनल दिल्ली व गुजरात के बीच

दिल्ली व गुजरात की टीमें विजय हजारे वनडे क्रिकेट ट्राफी के फाइनल में पहुंच गई है। दिल्ली ने पहले सेमीफाइनल में उन्मुक्त चंद की पारी की मदद से हिमाचल प्रदेश को छह विकेट से हराया..

Author बंगलुरु / अलूर | December 27, 2015 4:56 AM
भारतीय बल्लेबाज उन्मुक्त चंद। (फाइल फोटो)

दिल्ली व गुजरात की टीमें विजय हजारे वनडे क्रिकेट ट्राफी के फाइनल में पहुंच गई है। दिल्ली ने पहले सेमीफाइनल में उन्मुक्त चंद की पारी की मदद से हिमाचल प्रदेश को छह विकेट से हराया तो गुजरात ने अक्षर पटेल की बेहतरीन गेंदबाजी की बदौलत तमिलनाडु को 31 रनों से हराया। फाइनल सोमवार को खेला जाएगा। बंगलुरु में खेले गए पहले सेमीफाइनल में उन्मुक्त चंद के नाबाद 80 रन की मदद से हिमाचल प्रदेश को छह विकेट से हराकर दिल्ली ने फाइनल में प्रवेश किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए हिमाचल प्रदेश ने 50 ओवरों में नौ विकेट पर 200 रन बनाए। जवाब में दिल्ली ने 41.1 ओवर में चार विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। उन्मुक्त ने 86 ओवरों में सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 80 रन बनाए। वहीं भारत के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने 39 रन की पारी खेली। कप्तान गौतम गंभीर 16 रन बनाकर आउट हो गए।

दिल्ली के गेंदबाजों ने कप्तान गौतम गंभीर के फैसले को सही साबित किया। उन्होंने अनुशसासित गेंदबाजी की और हिमाचल प्रदेश के बल्लेबाजों को रन बनाने से रोके रखा। शुरुआत में तो हिमाचल के बल्लेबाजों ने काफी धीमी बल्लेबाजी की। भारतीय गेंदबाज ईशांत शर्मा की अगुआई में दिल्ली के गेंदबाजों ने हिमाचल प्रदेश के सभी बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा ली। एक समय तो लग रहा था कि हिमाचल प्रदेश की टीम देढ़ सौ रन भी बना पाएगी या नहीं। लेकिन वे तो कप्तान विपुल शर्मा ने अंतिम ओवरों में कुछ ताबड़तोड़ कर टीम की पारी को 200 रनों तक पहुंचाया। भारतीय वनडे टीम में चुने गए ऋषि धवन ने भी मायूस किया। उनसे बड़ी पारी की उम्मीद थी लेकिन वे चल नहीं पाए।

इससे पहले हिमाचल के लिए कप्तान बिपुल शर्मा को छोड़कर कोई बल्लेबाज ज्यादा देर टिक नहीं सका। शर्मा ने 45 गेंद में चार चौकों और तीन छक्कों की मदद से 51 रन बनाए जबकि सलामी बल्लेबाज प्रशांत चोपड़ा ने 33 रन का योगदान दिया। दिल्ली की ओर से सुबोध भाटी, पवन नेगी और नीतिश राणा ने दो दो विकेट लिए। फाइनल में दिल्ली का सामना गुजरात से होगा जिसने दूसरे सेमीफाइनल में तमिलनाडु को 31 रन से हराया।

दूसरी तरफ, अलूर में अक्षर पटेल के करिअर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी की बदौलत गुजरात ने अभिनव मुकुंद के नाटआउट शतक के बावजूद तमिलनाडु को 31 रन से हरा दिया। तमिलनाडु ने टास जीतकर गुजरात को पहले बल्लेबाजी करने का न्यौता दिया जिसने मनप्रीत जुनेजा (74) और चिराग गांधी (71) के अर्धशतकों की बदौलत विषम परिस्थतियों से उबरते हुए निर्धारित 50 ओवर में आठ विकेट पर 248 रन बनाए। तमिनालडु की ओर से भारत के शीर्ष स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने 51 रन देकर तीन जबकि विजय शंकर ने 36 रन देकर दो विकेट चटकाए।

इसके जवाब में तमिलनाडु को मुकुंद (नाटआउट 104) और दिनेश कार्तिक (41) ने पहले विकेट के लिए 16.2 ओवर में 84 रन जोड़कर शानदार शुरुआत दिलाई लेकिन इस जोड़ी के टूटने के बाद अक्षर (43 रन पर छह विकेट) की फिरकी के सामने पूरी टीम 47.3 ओवर में 217 रन पर ढेर हो गई। जसप्रीत बुमराह ने भी 45 रन देकर दो विकेट चटकाए। तमिलनाडु की ओर से मुकुंद और कार्तिक के बाद कप्तान अश्विन ने सर्वाधिक 22 रन बनाए। फाइनल में गुजरात का सामना दिल्ली से होगा जिसने एक अन्य सेमीफाइनल में हिमाचल प्रदेश को छह विकेट से हराया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App