ताज़ा खबर
 

आगरा में आंधी-तूफान से ताजमहल को हुआ खासा नुकसान, मुख्य मकबरे की रेलिंग टूटी

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन की वजह से ताजमहल पिछले 68 दिन से बंद है। इससे पहले आंधी से ताजमहल में वर्ष 2018 में दो बार स्तंभ और पत्थर गिरे थे। 2018 में 11 अप्रैल और दो मई को आंधी से शाही दरवाजा, दक्षिणी दरवाजा के उत्तर पश्चिम गुलदस्ता स्तंभ टूटकर गिर गये थे।

Author आगरा | Updated: May 30, 2020 9:41 PM
Tajmahal, thunderstorm,आगरा में शुक्रवार देर शाम तेज आंधी के चलते ताजमहल परिसर में काफी नुकसान हुआ है। (फोटो-सोशल मीडिया)

आगरा में शुक्रवार देर रात आंधी-तूफान की वजह से विश्वप्रसिद्ध ताजमहल की इमारत को खासा नुकसान पहुंचा और इस दौरान ताजमहल के मुख्य मकबरे की संगमरमर की रेलिंग टूट गयी और उसकी जालियां भीं गिर गईं। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीक्षण पुरातत्वविद् डॉ.बसंत स्वर्णकार ने बताया, “आंधी से ताजमहल में संगमरमर की जालियां और लाल पत्थर की जालियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। परिसर में पेड़ उखड़ गये हैं वहीं एक दरवाजा भी उखड़ गया है।” उन्होंने कहा, “इसके अलावा ताजमहल परिसर में पर्यटकों की सुविधा के लिये बनायी गई शेड की फॉल्स सीलिंग उखड़ गयी है। ताजमहल के अलावा महताब बाग की दीवार पर पेड़ गिर गया है तो वही मरियम के मकबरे में भी पेड़ गिरा है।”

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन की वजह से ताजमहल पिछले 68 दिन से बंद है।  इससे पहले आंधी से ताजमहल में वर्ष 2018 में दो बार स्तंभ और पत्थर गिरे थे। 2018 में 11 अप्रैल और दो मई को आंधी से शाही दरवाजा, दक्षिणी दरवाजा के उत्तर पश्चिम गुलदस्ता स्तंभ टूटकर गिर गये थे।  इस बीच तूफान की वजह से आगरा शहर और देहात में कई जगह बिजली के खंभे और पेड़ उखडऩे के साथ ही मकान गिरने की भी सूचना आई है। इस आंधी में तीन लोगों की मौत की और 25 लोगों के घायल होने की खबर हैं, हालांकि इस संबंध में कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories