ताज़ा खबर
 

बिहार: पत्रकार हत्या मामले में तेज प्रताप यादव और शहाबुद्दीन को SC का नोटिस, दो हफ्ते में मांगा जवाब

गौरतलब है कि बिहार के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या की जांच सीबीआई से कराने के लिए उनकी पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

Author नई दिल्ली | September 23, 2016 12:42 PM
पत्रकार हत्या के मामले में तेज प्रताप यादव और शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस दिया है।(File Photo)

सर्वोच्च न्यायालय ने बिहार के सिवान जिले में पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के मामले में बिहार सरकार, मंत्री तेज प्रताप यादव और हाल ही में 11 साल बाद जेल से जमानत पर रिहा हुए आरजेडी नेता शहाबुद्दीन को नोटिस जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने पत्रकार की हत्या के आरोपियों को पराश्रय देने के मामले में नोटिस जारी कर तेज प्रताप यादव और शहाबुद्दीन से दो हफ्ते के अंदर जवाब मांगा है। साथ ही न्यायालय ने मर्डर केस में सीबीआई को 17 अक्टूबर तक स्टेटस रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है। इस मामले में सीबीआई जांच की मॉनिटरिंग भी सर्वोच्च अदालत द्वारा की जाएगी। गौरतलब है कि बिहार के पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या की जांच सीबीआई से कराने के लिए उनकी पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।

आशा रंजन ने अपनी याचिका में हत्याकांड के एक आरोपी को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए बिहार के स्वास्थ्य मंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप यादव तथा राजद के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन पर एफआइआर दर्ज करने की मांग की थी। याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस दीपक मिश्रा की पीठ ने बिहार सरकार, मो. शहाबुद्दीन व अन्य को नोटिस जारी कर जवाब देने के लिए दो सप्ताह का समय दिया है और साथ ही राजदेव के परिवार को पुलिस सुरक्षा मुहैया कराए जाने का आदेश दिया है।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15445 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • MICROMAX Q4001 VDEO 1 Grey
    ₹ 4000 MRP ₹ 5499 -27%
    ₹400 Cashback

कोर्ट ने अपराधियों से सांठगांठ पर बिहार के नेताओं को लताड़ा और कहा कि जो पार्टी या एग्जीक्यूटिव में पोजीशन रखते हैं वे आपराधिक पृष्ठभूमि वाले लोगों से संबंध बनाने में एक सेकेंड भी नहीं लगाते, कई बार उनकी मदद भी लेते हैं। राजदेव की पत्नी आशा रंजन की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कई बार ताकतवर लोग दूसरे लोगों खासकर अकेली महिलाओं को खौफ में रखते हैं। वहीं, आशा रंजन के वकील ने कोर्ट में कहा कि राजदेव को शहाबुद्दीन के बारे में खुलासा करने की वजह से कत्ल किया गया। उन्होंने कहा कि राजदेव की हत्या के आरोपी शहाबुद्दीन और तेज प्रताप के करीबी हैं।

Read Also: फिर से जेल जाएंगे सहारा चीफ सुब्रत राय, सुप्रीम कोर्ट ने पैरोल बढ़ाने से किया इंकार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App