ताज़ा खबर
 

गोरक्षक समूहों को क्यों प्रतिबंंध नहीं लगा रही सरकार: सीताराम येचुरी

वामपंथी दलों और दलित संगठनों के नेताओं ने शुक्रवार को राजग सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कथित गोरक्षकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया और दावा किया कि समुदाय के सदस्यों के खिलाफ अत्याचार के मामले बढ़ रहे हैं।

Author नई दिल्ली | September 17, 2016 2:38 AM
माकपा महासचिव सीताराम येचुरी

वामपंथी दलों और दलित संगठनों के नेताओं ने शुक्रवार को राजग सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कथित गोरक्षकों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया और दावा किया कि समुदाय के सदस्यों के खिलाफ अत्याचार के मामले बढ़ रहे हैं। माकपा महासचिव सीताराम येचुरी और अन्य नेताओं ने यहां एक रैली में सरकार पर देश के सामाजिक तानेबाने को नष्ट करने का आरोप लगाया और दलितों के खिलाफ अत्याचार की घटनाओं को लेकर व्यापक प्रदर्शन शुरू करने की चेतावनी दी। येचुरी ने रैली में कहा-प्रदर्शन सरकार को यह बताने के लिए है कि दलितों के खिलाफ गोरक्षा के नाम पर तेजी से अत्याचार के मामले बढ़े हैं। ऐसे मामलों के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा-आप इन गोरक्षक समूहों पर प्रतिबंध क्यों नहीं लगा रहे? आप दलितों को संविधान के मुताबिक मिला समानता का अधिकार क्यों नहीं दे रहे? मोदी के ‘मुझे मारो, लेकिन दलितों को नहीं मारो’ संबंधी बयान का जिक्र करते हुए येचुरी ने कहा कि केवल बयान देने से कुछ नहीं होगा। इसके बजाय प्रधानमंत्री को घोषित करना चाहिए कि अगर दलितों पर हमले होते हैं तो देश का कानून काम करेगा। लेकिन उन्होंने अभी तक आश्वासन नहीं दिया है।

राज्यसभा सदस्य ने दलितों को सशक्त बनाने की वकालत करते हुए कहा कि उन्हें पांच एकड़ कृषि भूमि आअ‍ेटित की जानी चाहिए ताकि वे आर्थिक रूप से सशक्त हों और मैला ढोने की कुप्रथा भी समाप्त होनी चाहिए। वाम दलों और दलित संगठनों के ‘दलित स्वाभिमान संघर्ष’ के बैनर तले आयोजित रैली में येचुरी ने कहा कि यह दलितों के आत्म-सम्मान की लड़ाई है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में सभी राज्यों की राजधानियों में रैलियों का आयोजन किया जाएगा।

Next Stories
1 AirAsia India मेडलिस्टों को कराएगी फ्री यात्रा और 2018 तक बढ़ाएगी अपना बेड़ा
ये पढ़ा क्या?
X