ताज़ा खबर
 

Rio Olympics 2016: भारतीय दल खरीदेगा अतिरिक्त कुर्सियां, TV सेट

ओलंपिक खेलों की आयोजन समिति के अतिरिक्त कुर्सियां और टीवी सेट मुहैया कराने में असमर्थता जताने के बाद भारतीय ओलंपिक दल के प्रमुख राकेश गुप्ता ने अब भारतीय दूतावास के जरिये इन्हें खरीदने का फैसला किया है।

Author रियो डे जेनेरियो | August 4, 2016 5:32 AM
India hockey team players at their apartments in Games Village. (Source: Facebook)

ओलंपिक खेलों की आयोजन समिति के अतिरिक्त कुर्सियां और टीवी सेट मुहैया कराने में असमर्थता जताने के बाद भारतीय ओलंपिक दल के प्रमुख राकेश गुप्ता ने अब भारतीय दूतावास के जरिये इन्हें खरीदने का फैसला किया है। गुप्ता ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘हॉकी टीम ने अतिरिक्त कुर्सियां और टीवी सेट मुहैया कराने का आग्रह किया था। मैंने आयोजन समिति से इस बारे में बात की और उन्हें पत्र भी लिखा।’

उन्होंने कहा, ‘आयोजन समिति के प्रतिनिधियों ने जवाब दिया कि, ‘रियो 2016 में केवल दल नेता के कार्यालय में टीवी सेट उपलब्ध कराने की व्यवस्था है। फर्नीचर भी आईओसी के दिशानिर्देशों के अनुरूप उपलब्ध कराया गया है। आपका रेट कार्ड डेस्क पर स्वागत है और वहां आप देख सकते हैं कि क्या कोई सामान खरीदा जा सकता है।’

आयोजन समिति ने इसके साथ ही कहा कि सभी राष्ट्रीय खेल संघों (एनओसी) को एक जैसी सुविधाएं मुहैया करायी गयी हैं। इस बीच भारतीय दल के नेता ने हाकी टीम को अपने कार्यालय का टीवी सेट और फर्नीचर उपलब्ध कराया। हाकी टीम के आग्रह के बाद एथलेटिक दल ने भी इसी तरह की मांग रखी। गुप्ता ने आयोजन समिति को इस बारे में लिखा और यहां तक कि रेट कार्ड पर भी खरीदने की कोशिश की लेकिन यह सामान उपलब्ध नहीं था। आखिर में गुप्ता ने भारतीय दूतावास से दल के लिये यह सामग्री खरीदने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा, ‘अब हमने प्रत्येक तल पर एक टीवी सेट रखने का फैसला किया है। इसके अलावा हम अतिरिक्त कुर्सियां भी रख रहे हैं। अगले कुछ दिनों में अपार्टमेंट में ये टीवी सेट और कुर्सियां लगा दी जाएंगी।’ उन्होंने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों की सभी मांगों पर गौर किया जाएगा। गुप्ता ने कहा, ‘हम जितना संभव हो खिलाड़ियों के लिये चीजों को सहज बनाने की कोशिश कर रहे हैं क्योंकि वे देश का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उनकी सभी मांगों के स्वीकार कर लिया गया है और हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं इन मांगों को पूरा किया जाए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App