ताज़ा खबर
 

किताब में दावा: अमित शाह ने हमेशा की हिन्दू-मुस्लिम को बांटने वाली राजनीति, लेखक को दी थी नसीहत- हिन्दू धर्म पर भी पढ़ा करो

राजदीप सरदेसाई ने अपनी किताब ''2019 हाउ मोदी वॅॅन इंडिया'' में एक वाकया का जिक्र किया है।

Author Translated By Naveen Rai नई दिल्ली | Updated: December 13, 2019 6:31 PM
राजदीप सरदेसाई ने अपनी किताब ”2019 हाउ मोदी वॉन इंडिया” में एक वाकया का जिक्र किया है जिसमें वह अमित शाह के साथ बैठे थे।

पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने अपनी एक किताब में देश के गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख अमित शाह को लेकर कई बातें लिखी हैंं। उन्होंने लिखा है कि शाह ने हमेशा हिंदूू- मुस्लिम को बांटने वाली राजनीति की है।  सरदेसाई ने बताया है क‍ि एक बार शाह ने उन्हें हिंदूू धर्म पर भी पढ़ने को कहा था।

राजदीप सरदेसाई ने अपनी किताब ”2019 हाउ मोदी वॅॅन इंडिया” में एक वाकया का जिक्र किया है। उन्‍होंने लिखा है, ”मुझे याद है एक बार मैं अमित शाह के साथ लन्च के लिए बैठा था। जैसे ही मैं अपनी कुर्सी पर बैठा, शाह ने मेरी तरफ देखा और कहा- ओह! तो आज कम्युनिस्ट लोग भी हमारे साथ बैठ गए। इस पर मैंने एक पत्रकार के तौर पर कहा कि मुझे लेफ्ट और राइट दोनों की राजनीति पर संदेह है।”

सरदेसाई ने आगे लिखा है, ”अगले कुछ देर हमारे बीच धर्मनिरपेक्षता को लेकर काफी तीखी बहस हुई। कुछ देर बाद अमित शाह ने मेरी तरफ असहमति भरी निगाहों से देखाा और बोले, थोड़ा आप सेक्यूलर लोग हिंदू धर्म पे किताब पढ़ा करो, ये अंग्रेजी किताब में कुछ नहीं रखा है।”

राजदीप सरदेसाई ने और भी कई घटनाओं का जिक्र अपनी किताब में किया है। सरदेसाई ने लिखा है कि हत्या के एक मामले में सीबीआई अमित शाह से पूछताछ कर रही थी। सीबीआई ने अमित शाह से मोदी के नाम को लेकर भी कबूलनामे की कोशिश की और अमित शाह को अप्रूवर बनने तक की पेशकश की, लेकिन शाह ने  मोदी का नाम नहीं लिया। इस वाकये के बाद से दोनों के बीच काफी गहरा लगाव हुआ और अब उन्हें दो शरीर और एक आत्मा कहा जाता है।

बता दें कि यह साल 2014 में भाजपा के अध्यक्ष के रूप में शाह को चुना गया था। उनके नेतृत्व में पार्टी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी।  2104 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश बीजेपी  और उसके सहयोगियों को  80 में से 73 सीटें  मिली इसका श्रेय भी अमित शाह को दिया गया। इन परिणामों के  आधार पर शाह की चुनाव एक्सपर्ट के तौर पर तस्वीर काफी बुलंद हुई और राजनीतिक पटल पर उन्होंने स्थापित भी कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्‍या!
X