राजस्थानः सीएम अशोक गहलोत ने मंत्रियों को बांटे महकमे, गृह और वित्त अपने पास रखे, जानें पूरा ब्योरा

डॉ बीडी कल्ला को राज्य का नया शिक्षा मंत्री और परसादी लाल को चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री बनाया है। तीन मंत्रियों गोविंद सिंह डोटासरा शिक्षा राज्यमंत्री, डॉ रघु शर्मा चिकित्सा व स्वास्थ्य तथा हरीश चौधरी राजस्व ने इस्तीफा दिया था। उनके विभाग अब अन्य मंत्रियों को दिए गए हैं।

Rajasthan, Ashok Gehlot, Rajasthan CM, Gehlot distributed departments, Kept home and finance
सीएम अशोक गहलोत के साथ सचिन पायलट। (फाइल फोटो- पीटीआई)

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंत्रिपरिषद के पुनर्गठन के बाद सोमवार को मंत्रियों को विभागों का आवंटन किया। उन्होंने गृह व वित्त विभाग को अपने पास ही रखा है जबकि डॉ बीडी कल्ला को राज्य का नया शिक्षा मंत्री और परसादी लाल को चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री बनाया है।
तीन मंत्रियों गोविंद सिंह डोटासरा शिक्षा राज्यमंत्री, डॉ रघु शर्मा चिकित्सा व स्वास्थ्य तथा हरीश चौधरी राजस्व ने इस्तीफा दिया था। उनके विभाग अब अन्य मंत्रियों को दिए गए हैं।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक गहलोत ने वित्त, गृह, कार्मिक विभाग, सूचना एवं जनसम्पर्क, स्टेट इन्वेस्टीगेशन ब्यूरो, कैबिनेट सचिवालय, सामान्य प्रशासन और कर विभाग अपने पास रखे हैं। पुराने मंत्रियों में प्रताप सिंह खाचरियावास को खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग दिया गया जबकि शांति धारीवाल के पास स्वायत्त शासन, शहरी विकास एवं आवास (यूडीएच), संसदीय मामलात विभाग बनाए रखा गया है। कृषि विभाग लाल चंद कटारिया और खनन व पेट्रोलियम विभाग प्रमोद जैन भाया के पास ही रखा गया है। परसादी व कल्ला समेत ये सारे कैबिनेट मंत्री पहले से ही गहलोत की मंत्रिपरिषद में मौजूद थे।

नए मंत्रियों में कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले हेमाराम चौधरी को वन, महेश जोशी को पीएचईडी, रामलाल जाट को राजस्व, रमेश मीणा को पंचायती राज और ग्रामीण विकास, विश्वेंद्र सिंह को पर्यटन और नागरिक उड्डयन व गोविंद राम मेघवाल को आपदा प्रबंधन और राहत विभाग मिला है। पिछले साल बगावत के चलते विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को सचिन पायलट के साथ कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। दोनों दोबारा मंत्री बने हैं। नए मंत्रियों में शकुंतला रावत को उद्योग विभाग जबकि राज्य मंत्री से कैबिनेट मंत्री में पदोन्नत ममता भूपेश को महिला और बाल विकास, भजन लाल को लोक निर्माण विभाग व टीकाराम जूली को सामाजिक न्याय मिला है।

पुराने राज्यमंत्रियों में अर्जुन सिंह बामनिया के पास आदिवासी क्षेत्र विकास (टीएडी), अशोक चांदना के पास खेल और युवा मामलात विभाग, डॉ सुभाष गर्ग के पास तकनीकी शिक्षा विभाग बरकरार रखा गया है। सुखराम को राजस्व और श्रम, भंवर सिंह भाटी को बिजली (स्वतंत्र प्रभार), राजेंद्र यादव को उच्च शिक्षा विभाग मिला है। नवनियुक्त राज्य मंत्रियों में बृजेंद्र ओला को परिवहन, देवस्थान और राज्य उद्यम, मुरारी लाल मीणा को कृषि विपणन, संपदा, पर्यटन, नागरिक उड्डयन, राजेंद्र सिंह गुढ्ढा को सैनिक कल्याण, होमगार्ड, पंचायती राज और ग्रामीण विकास, जाहिदा खान को विज्ञान और प्रौद्योगिकी, शिक्षा प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा, कला, साहित्य, संस्कृति विभाग दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि गहलोत मंत्रिमंडल में बहुप्रतीक्षित फेरबदल के तहत रविवार को सत्तारूढ़ कांग्रेस के 15 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी। उनमें से 11 विधायकों को कैबिनेट एवं चार विधायकों को राज्य मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई थी। मंत्रिपरिषद में अब मुख्यमंत्री सहित कुल 30 मंत्री हैं।

पढें अपडेट समाचार (Newsupdate News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट