ताज़ा खबर
 

सिद्धू ने इस्तीफे के 6 दिन बाद खाली किया सरकारी बंगला, लोग पूछ रहे- ‘केजरीवाल के बंगले में शिफ्ट हो रहे हो?’

इस्तीफा देने के बाद से सिद्धू लगातार मीडिया से बच रहे थे। संवाददाता लगातार उनसे पूछे रहे थे कि क्या उन्होंने यहां का आवास खाली कर दिया है। सिद्धू ने एक ट्वीट किया, ‘‘ मंत्री का बंगला खाली कर दिया है और उसे पंजाब सरकार के सुपुर्द कर दिया है।

Author चंडीगढ़ | July 21, 2019 9:42 PM
नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे के बाद उन्हें काफी ट्रोल किया जा रहा है। (फाइल फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब सरकार द्वारा आवंटित सरकारी बंगला रविवार को खाली कर दिया। सिद्धू ने पंजाब कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया था, जिसे मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शनिवार को स्वीकार कर लिया। इस्तीफा देने के बाद से सिद्धू लगातार मीडिया से बच रहे थे। संवाददाता लगातार उनसे पूछे रहे थे कि क्या उन्होंने यहां का आवास खाली कर दिया है।

सिद्धू ने एक ट्वीट किया, ‘‘ मंत्री का बंगला खाली कर दिया है और उसे पंजाब सरकार के सुपुर्द कर दिया है। नवजोत सिंह सिद्धू के बंगला खाली करने के बाद ट्विटर पर यूजर्स  उनका मजाक बना रहे हैं। सोशल मीडिया पर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल करते हुए यूजर्स ने यहां तक पूछा है कि  अरविंद केजरीवाल के बंगले में शिफ्ट हो रहे हो  क्या? वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा है, सिद्धू जी आप सीधा पाकिस्तान चले जाओ।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने शनिवार को सिद्धू का ‘एक लाइन’ का इस्तीफा स्वीकार कर लिया था और इसे मंजूरी के लिए पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर के पास भेज दिया था। राज्यपाल ने भी इसे अपनी मंजूरी दे दी। सिद्धू (55) का मुख्यमंत्री से टकराव चल रहा था और छह जून को हुए मंत्रिमंडल फेरबदल में उनसे महत्वपूर्ण मंत्रालय ले लिए गए। सिद्धू से स्थानीय सरकार और पर्यटन एवं संस्कृति मामलों का विभाग ले लिया गया था और उन्हें बिजली तथा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग दिया गया था।

सिद्धू के अलावा अन्य मंत्रियों के विभाग भी बदले गए थे।एक महीने से ज्यादा समय से सिद्धू द्वारा बिजली विभाग का कार्यभार संभालने से इनकार करना भी कांग्रेस के लिए ‘‘र्शिमंदगी’’ की बात बन गई। विपक्षी दल राज्य में अमरिंदर के नेतृत्व वाली सरकार पर हमला कर रहे थे।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App