ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार की ‘पॉजिटिविटी’ मुहिम पर बोले प्रशांत किशोर- घृणित काम है, हमें अंध प्रचारक नहीं बनना

प्रशांत किशोर ने कहा कि सकारात्मक होने के लिए हमें अंधे होकर सरकार का प्रोपेगैंडा फैलाने वाला नहीं बन जाना चाहिए।

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कोरोना संकट के दौर में वैश्विक आलोचनाओं का सामना कर रही बीजेपी सरकार ‘पॉजिटिविटी’ मुहिम की शुरुआत करने जा रही है। जिसके तहत सरकार के छवि को बचाने का प्रयास किया जाएगा। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने सरकार के इस कार्य को घृणित बताया है।

प्रशांत किशोर ने कहा है कि ऐसे वक्त में जब हर कोई शोक मना रहा है और आए दिन हमारे चारों और त्रासदियां ही दिख रही है। ऐसे में सकारात्मकता के नाम पर झूठ और प्रोपेगैंडा फैलाना धिनौनी बात है। उन्होंने कहा कि सकारात्मक होने के लिए हमें अंधे होकर सरकार का प्रोपेगैंडा फैलाने वाला नहीं बन जाना चाहिए। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इस योजना को लेकर सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि सकारात्मक सोच की झूठी तसल्ली स्वास्थ्य कर्मचारियों व उन परिवारों के साथ मजाक है जिन्होंने अपनों को खोया है। उन्होंने कहा कि यह देशवासियों के साथ धोखा है।

खबरों के अनुसार पिछले सप्ताह केंद्र सरकार के कुछ अधिकारी एक वर्कशॉप में शामिल हुए थे। इस वर्कशॉप का उद्देश्य बेहतर संचार और सरकार द्वारा किए जा रहे सकारात्मक कार्यों को उजागर करना था। ‘मन की बात’ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी ट्वीट किया गया था कि सकारात्मकता के शक्तिशाली संदेश को फैलाने की आवश्यकता है।

बीजेपी की तरफ से भी आलोचनाओं का विरोध किया जा रहा है। हाल ही में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी के बयान पर तीखे शब्दों में पलटवार किया था। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी लोगों से आलोचना के बदले सलाह देने की बात कही थी।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से एक दिन में सर्वाधिक 4,205 लोगों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 2,54,197 हो गई, जबकि संक्रमण के 3,48,421 नए मामले सामने आने के बाद देश में अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 2,33,40,938 हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार को सुबह आठ बजे तक अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार, उपचाराधीन मामले कम होकर 37,04,099 हो गए, जो संक्रमण के कुल मामलों का 15.87 प्रतिशत है, जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर सुधरकर 83.04 प्रतिशत हो गई है।

Next Stories
1 यूपी में पंचायत चुनाव की वजह से गांवों मे फैल गया कोरोना, हाई कोर्ट ने कहा- चुनाव आयोग और सरकार दोनों फेल
2 जब पैनलिस्ट से बोले थे अर्नब- आप अद्भुत हैं, भारत के इतिहास में उंगली दिखाकर नमन करने वाले पहले व्यक्ति
3 वेंटीलेटर के लिए तरसते रहे पंडित राजन मिश्र, मृत्यु के बाद उनके नाम पर बना दिया कोविड अस्पताल
ये पढ़ा क्या?
X