ताज़ा खबर
 

अब दुनियाभर के आधे कोरोना केस भारत से, WHO बोला- धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रम बन गए काल

डब्लूएचओ ने बुधवार को प्रकाशित अपने COVID-19 वीकली एपिडेमियोलॉजिकल अपडेट में कहा कि B.1.617 वायरस पहली बार भारत में अक्टूबर 2020 में सामने आए थे।

भारत में कोरोना का कहर जारी (फोटो- PTI)

भारत कोरोना महामारी से त्रस्त है, रोज के मृत्यु के आंकड़े लोगों को डरा रहे है। इसी बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि हाल ही में हमने भारत में तेजी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस का आकलन किया है जिसमे यह बात निकल कर आयी है कि भारत में कोविड-19 फैलने के कई कारक थे, जिसमें धार्मिक और राजनीतिक आयोजन मुख्य रूप से शामिल है।

डब्लूएचओ ने बुधवार को प्रकाशित अपने कोविड-19 वीकली एपिडेमियोलॉजिकल अपडेट में कहा कि B.1.617 वायरस पहली बार भारत में अक्टूबर 2020 में सामने आए थे। डब्लूएचओ ने कहा कि भारत में  कोविड-19 मामलों और मौतों का कारण B.1.617 वेरिएंट अन्य वेरिएंट (जैसे, B.1.1.7) भी है। डब्लूएचओ द्वारा भारत की स्थिति हालिया आकलन में पाया गया है कि भारत में कोविड-19 ट्रांसमिशन के बढ़ने के कई संभावित कारक थे, जिनमें संभावित रूप से संक्रमण के साथ SARS-CoV-2 वेरिएंट के मामलों के अनुपात में वृद्धि शामिल है। कई धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों ने सामाजिक दूरी का पालन नहीं किया । साथ ही यह भी कह गया है कि अभी फिलहाल भारत में बढ़ते कोरोना मामलों के बारे में कोई सटीक कारक के बारे में जानकारी नहीं है।

डब्लूएचओ के अपडेट में कहा गया है कि “B.1.1.7 और B.1.612 सबलाइन सहित कई वेरिएंट की व्यापकता भारत में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण बने हैं। बताते चलें कि इससे पहले मार्च में, भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से कहा गया था कि देश में 18 राज्यों में नए वेरिएंट पाए गए हैं।

वैश्विक अध्ययन के आधार पर यह बताया गया है कि इस सप्ताह नए कोविड-19 मामलों और वैश्विक स्तर पर होने वाली मौतों की संख्या में कुछ कमी आयी है। लेकिन इस दौरान भारत में सबसे अधिक नए मामले सामने आए है। इस दौरान ब्राजील में (423,438 नए मामले) आए हैं यूएसए (334,784 ), तुर्की (166,733 ) और अर्जेंटीना (140,771) नए मामले दर्ज किये गए है।

रिपोर्ट के अनुसार दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र में 2.8 मिलियन से अधिक नए मामले दर्ज किए गए और पिछले सप्ताह की तुलना में क्रमशः 29,000 नई मौतें हुई है। रिपोर्ट के अनुसार भारत से सबसे ज्यादा (26,820) मौतें हुईं है , इंडोनेशिया में (1190) और बांग्लादेश (368) मौत हुई है। इस हफ्ते की शुरुआत में ही भारत में कोरोनोवायरस के बी -1617 वेरिएंट की पहचान डब्ल्यूएचओ द्वारा की गयी थी। कोविड-19 टेक्निकल की हेड डॉ मारिया वान केरखोव ने सोमवार को कहा कि एपी टीम और डब्लूएचओ लैब की टीम डब्ल्यूएचओ वायरस डेवलपमेंट वर्किंग ग्रुप के साथ इस वेरिएंट के विषय चर्चा कर रही है।

Next Stories
1 कार्टून शेयर कर बोले असदुद्दीन ओवैसी, किसी काम का नहीं कोविन ऐप, इससे दूर रहें
2 जब प्रशांत किशोर ने बताया, सरकारी स्कूल में हुई पढ़ाई, IIT से बचने को आ गए थे दिल्ली, कई बार ड्रॉप की पढ़ाई
3 मोदी सरकार की ‘पॉजिटिविटी’ मुहिम पर बोले प्रशांत किशोर- घृणित काम है, हमें अंध प्रचारक नहीं बनना
ये पढ़ा क्या?
X