ताज़ा खबर
 

प्रकाश पर्व पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखेंगे: नीतीश

गुरु गोविंद सिंह के जन्मदिवस पर मनाए जाने वाले 350वें प्रकाश पर्व के मद्देनजर तीन दिन का अंतरराष्ट्रीय सिख सम्मेलन गुरुवार से पटना में शुरू हो गया।

Author पटना | September 23, 2016 3:50 AM
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

गुरु गोविंद सिंह के जन्मदिवस पर मनाए जाने वाले 350वें प्रकाश पर्व के मद्देनजर तीन दिन का अंतरराष्ट्रीय सिख सम्मेलन गुरुवार से पटना में शुरू हो गया। इसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल शामिल हुए। इस मौके पर नीतीश कुमार ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह महाराज के 350वें प्रकाश पर्व को यादगार बनाने के लिए राज्य सरकार बड़े पैमाने पर तैयारियां कर रही है। उन्होंने कहा कि इस मौके पर आने वाले श्रद्धालुओं की सभी जरूरतों और सुविधाओं का विशेष ध्यान रखा जाएगा ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो। नीतीश ने कहा कि इस सम्मेलन का उद्देश्य देश व दुनिया से सिख समाज के प्रख्यात विद्धानों, प्रतिनिधियों, चिंतक, कलाकार आदि के साथ-साथ सभी समुदायों के प्रतिनिधयों को एक मंच पर लाना है। जहां सब मिलकर श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के जीवनवृत, उपदेश, विचारों को साझा कर उस पर चर्चा कर सकें। इस सम्मेलन में 23 और 24 सितंबर को सिख धर्म साहित्य व संस्कृति से जुड़े चार विषयों पर देश-विदेश के विद्वानों की परिचर्चा होगी।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XA Dual 16 GB (White)
    ₹ 15940 MRP ₹ 18990 -16%
    ₹1594 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

नीतीश ने कहा कि हमें गर्व है कि गुरु गोविंद सिंह महाराज का जन्म पटना साहिब में हुआ। सिख धर्म में पटना साहिब का विशेष महत्त्व है। उन्होंने कहा कि गुरु गोविंद सिंह महाराज का सारा संघर्ष दलित शोषित मानवता की रक्षा के लिए था। खालसा का सृजन कर उन्होंने ऐसी शक्तिशाली सेना तैयार की जिसने अपने समय की सबसे बड़ी सैनिक शक्ति को परास्त किया। गुरु जी ने जनता की सोई शक्ति को जगा दिया जो अपने सम्मान और अधिकारों की रक्षा के लिए बड़ी से बड़ी ताकत से लड़ने में समर्थ साबित हुई। गुरु ही सत्य थे और सिपाही भी थे पर उनके सैनिक व्यक्तित्व पर भी उनका अध्यात्मिक व्यक्तित्व छाया रहता था। उन्होंने कहा कि आज भी सिख कौम को भाईचारा एवं बहादुरी की मिसाल के रूप में देखा जाता है। अंतरराष्ट्रीय सिख सम्मेलन को संबोधित करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सारे सिख समुदाय और पंजाब की सम्पूर्ण जनता की ओर से शुक्रिया अदा किया और कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार में जितना कार्य किया है उतना वे पंजाब में नहीं कर सके। उन्होंने कहा कि सारे हिन्दुस्तान में बिहार की अलग अहमियत है।

तीन सिख गुरुओं गुरुनानक जी महाराज, गुरु तेग बहादुर जी महाराज एवं गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का चरण बिहार की धरती पर पड़ा है। बादल ने कहा कि पंजाब में भी इस तरह के कार्यक्रम रखे गए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अनुरोध किया कि वे समय निकालकर जरूर आएं। उन्होंने गुरु गोविंद सिंह जी के नाम से पटना में नया भवन बनाने का आग्रह किया और इसके लिए 10 करोड़ रुपए का चेक नीतीश कुमार को सौंपा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App