ताज़ा खबर
 

प्रधानमंत्री ने लंदन में आंबेडकर स्मारक का उद्घाटन किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यहां भारतीय संविधान के निर्माता और दलितों के मसीहा डॉक्टर भीमराव आंबेडकर को समर्पित एक स्मारक का उद्घाटन किया.

Author लंदन | November 15, 2015 1:01 AM
(पीआईबी ट्विटर)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यहां भारतीय संविधान के निर्माता और दलितों के मसीहा डॉक्टर भीमराव आंबेडकर को समर्पित एक स्मारक का उद्घाटन किया। ब्रिटेन प्रवास के दौरान एक छात्र के रूप में 1920 के दशक में आंबेडकर यहां रहा करते थे और भारत ने अभी दो महीने पहले ही इस बंगले को अधिग्रहीत किया है। मोदी ने इस स्मारक का उद्घाटन किया और कहा कि दलितों के इस दिग्गज नेता का समानता और न्याय का संदेश आज भी प्रासंगिक है। महाराष्ट्र सरकार ने इस बंगले को अधिग्रहित किया है। उत्तर पश्चिम लंदन में 10 किंग हेनरी रोड स्थित यह तिमंजिला बंगला 2050 वर्ग फुट में फैला हुआ है। अगस्त में इसे 32 लाख से 40 लाख पौंड की अनुमानित लागत में अधिग्रहित किया गया और यह खर्च महाराष्ट्र सरकार ने उठाया।

मोदी और उनके साथ गए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस बंगले में स्थापित आंबेडकर की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजलि दी। नया स्मारक ‘डॉक्टर बाबा साहब आंबेडकर संग्रहालय’ के नाम से जाना जाएगा। यहां आने पर मोदी की आगवानी फडणवीस और महाराष्ट्र के सामाजिक न्याय मंत्री राजकुमार बडोले ने की।

फडणवीस ने कहा कि बाबा साहब से जुड़े कुछ बहुत ही विशेष दस्तावेजों और पत्रों को इस संग्रहालय में रखा जाएगा। इनमें उनके कुछ लेख भी शामिल हैं। इसमें सबसे अहम वह पत्र है जो डॉक्टर आंबेडकर ने जर्मन भाषा में बान विश्वविद्यालय को लिखा था। उन्होंने कहा कि यह पत्र उनकी व्यापक विद्वता को दर्शाता है।

उन्होंने उम्मीद जताई कि यह संग्रहालय युवा छात्रों और दुनिया के अन्य लोगों के लिए एक प्रेरणा स्रोत बनेगा। इस छह कमरों वाली इमारत में अभी रख-रखाव और मरम्मत कार्य जारी है। लेकिन उस एक मंजिल को जिसका अवलोकन शनिवार को मोदी ने किया, उसे 20 नवंबर तक आम जनता के लिए खोला जाएगा। इसके बाद मरम्मत और रख-रखाव कार्य के लिए इसे बंद कर दिया जाएगा और संभवत: नए साल से इसे फिर से जनता के लिए खोल दिया जाएगा। बडोले ने बताया कि इस संग्रहालय की योजना को लेकर अभी भी विचार-विमर्श जारी है।

इससे पहले ब्रिटिश सांसदों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा था, ‘आंबेडकर की 125वीं जयंती मनाई जा रही है जो न केवल भारतीय संविधान बल्कि हमारे संसदीय लोकतंत्र के भी शिल्पकार थे’। उन्होंने कहा था कि बाबा साहब ने कमजोर और दबे व हाशिए पर खड़े लोगों के उत्थान के लिए काम किया। मानवता के प्रति अपनी सेवाओं के उच्च मूल्यों के लिए हमें प्रेरित किया जिससे पूरी मानवता के लिए न्याय, समानता, अवसर और गरिमामयी भविष्य निर्मित किया जा सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जापान में 7.0 तीव्रता का भूकम्प, सुनामी का खतरा नहीं
2 चीनी पर्यटकों को लुभाने की कोशिश में भारत
3 जूनियर एशिया कप में भारत की जीत से शुरुआत
राशिफल
X