ताज़ा खबर
 

73 साल के नारायणमूर्ति ने 82 साल के रतन टाटा के झुककर छुए पैर, लोगों ने कहा- संस्कार हों तो ऐसे

73 वर्षीय एन आर नारायणमूर्ति ने जब 82 साल के रतन टाटा को पुरस्कार दिया तो उसके बाद झुककर उनके पैर छुए। अब सोशल मीडिया पर यह तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है।

73 वर्षीय एन आर नारायणमूर्ति ने जब 82 साल के रतन टाटा को पुरस्कार दिया तो उसके बाद झुककर उनके पैर छुए. (फोटो-सोशल मीडिया)

उद्योगपति रतन टाटा को मंगलवार को टाईकॉन मुंबई 2020 लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाजा गया। उन्हें यह सम्मान इन्फोसिस के सह संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति ने प्रदान किया। मुंबई में आयोजित इस समारोह की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है और लोग नारायण मूर्ति की खूब तारीफ कर रहे हैं। तमाम लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि ‘संस्कार हों तो नारायण मूर्ति जैसा।’

दरअसल, 73 वर्षीय एन आर नारायणमूर्ति ने जब 82 साल के रतन टाटा को पुरस्कार दिया तो उसके बाद झुककर उनके पैर छुए। अब सोशल मीडिया पर यह तस्वीर तेजी से वायरल हो रही है। लोग नारायण मूर्ति की जमकर तारीफ कर रहे हैं और इस तस्वीर को शेयर कर रहे हैं। श्रीनिवास नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा, ‘यही तो भारत की पहचान है। दुनिया के और किसी कोने में आपको इस तरह का संस्कार देखने को नहीं मिलेगा। ऐसा सिर्फ भारत ही देखने को मिलता है’।

एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘तभी तो इन्होंने एंपायर खड़ा कर लिया और हम नौकरी कर रहे हैं।’ मुकुल नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘सही कहते हैं…आप किसी से सम्मान की डिमांड नहीं कर सकते हैं…यह कमाया जाता है। इन दोनों सज्जनों ने सम्मान कमाया है। खास बात है कि एक-दूसरे के लिए भी उतना ही सम्मान है’। एक शख़्स ने कहा कि ‘ये दशक की सर्वश्रेष्ठ तस्वीर होनी चाहिए। कितनी विनम्रता है…शानदार’।

 

कॉरपोरेट में भी मूल्यों के पक्षधर रहे हैं नारायणमूर्ति: इन्फोसिस के सह संस्थापक एन आर नारायणमूर्ति को कॉरपोरेट वर्ल्ड में मूल्यों के पक्षधर के रूप में जाना जाता है। वह तमाम फोरम पर कहते रहे हैं कि संस्कृति और मूल्यों को संजोकर ही आगे बढ़ा जा सकता है। नारायणमूर्ति अपनी विनम्रता के लिए भी जाने जाते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories