ताज़ा खबर
 

हमारे गेंदबाजी आक्रमण में स्थिरता की कमी : धोनी

खराब गेंदबाजी महेंद्र सिंह धोनी की चिंता का सबब रही और भारतीय कप्तान ने कहा कि राष्ट्रीय टीम को खेल के तीनों प्रारूपों में अलग-अलग गेंदबाजी आक्रमण की जरूरत है।

Author सिडनी | January 24, 2016 01:19 am
भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी। (फाइल फोटो)

आस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय शृंखला में हार के दौरान खराब गेंदबाजी महेंद्र सिंह धोनी की चिंता का सबब रही और भारतीय कप्तान ने कहा कि राष्ट्रीय टीम को खेल के तीनों प्रारूपों में अलग-अलग गेंदबाजी आक्रमण की जरूरत है। धोनी ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि आगे बढ़ते हुए हमें तय करना होगा कि कौन हमारे सर्वश्रेष्ठ टी20 और एकदिवसीय गेंदबाज हैं और कौन हमारे टैस्ट गेंदबाज हैं। इसी के मुताबिक हमें टीम चुननी होगी। हम सभी प्रारूपों में समान गेंदबाजों के साथ नहीं उतर सकते।

धोनी ने पांचवें और अंतिम वनडे में छह विकेट की जीत के बाद कहा कि टीम के संयोजन को लेकर हमें जूझना पड़ रहा है। यहां तक कि जब हम पिछली बार यहां आए थे, तब भी हमारा गेंदबाजी आक्रमण अच्छा नहीं था। हमने विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन किया क्योंकि गेंदबाज लय में आ गए और उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की। हमारी बल्लेबाजी में हमेशा से स्थिरता है लेकिन गेंदबाजी से जूझने के दौरान हमने गलतियां भी की।

भारतीय कप्तान अब भी ऋषि धवन और गुरकीरत मान की क्षमताओं को लेकर सुनिश्चित नहीं है और यह उस समय जाहिर हुआ जब उनसे पूछा गया कि आज रोमांचक मुकाबले में उन्होंने भारत के 331 रन के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करने के दौरान पहले हिटिंग शुरू क्यों नहीं की। धोनी ने कहा कि कैनबरा में जो हुए उसे देखते हुए मैं बड़े शाट नहीं खेलना चाहता था और जोखिम नहीं उठाना चाहता था क्योंकि मेरे बाद गुरकीरत मान, रविंद्र जडेजा और ऋषि धवन थे। इसलिए मैंने सोचा कि मुझे मुश्किल हो रही है तो उनके लिए काम आसान कैसे होगा। अच्छी बात यह थी कि मनीष पांडे जम चुका था और साझेदारी बन रही थी क्योंकि हममें से कोई आउट नहीं हुआ।

धोनी ने शतक जड़ने वाले मनीष पांडे और पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की तारीफ की। उन्होंने कहा कि मनीष ने आज जिस तरह की पारी खेली, उसे देखते हुए वे उसे 10 से 15 अतिरिक्त एकदिवसीय खेलने का मौका देंगे। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल की मांग के अनुसार काफी सामंजस्य बैठाना होेता है। अलग-अलग हालात में अलग जगहों पर खेलने में काफी बदलाव करने पड़ते हैं। इस समय वह ऐसा खिलाड़ी है जो पांचवें नंबर पर अच्छा लग रहा है।

धोनी ने कहा कि मनीष ने काफी अच्छी बल्लेबाजी लेकिन हम जसप्रीत बुमराह की गेंदबाजी को भूल रहे हैं। वह शानदार था। यह उसका पहला मैच था और उसने नई गेंद से, बीच के ओवरों और डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की। हमें ऐसे की गेंदबाज की जरूरत है। उसके पास अजीब एक्शन के साथ विविधता है। हमें गेंदबाजों पर से दबाव हटाने की जरूरत है क्योंकि हमेशा कोई ना कोई गेंदबाज 10 ओवर में 75 रन खर्च कर रहा है। इससे बल्लेबाजों पर भी दबाव बन जाता है।टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों के लिए युवराज सिंह, हरभजन सिंह, आशीष नेहरा और सुरेश रैना टीम के साथ जुड़ गए हैं जिससे टीम के संयोजन में काफी बदलाव आएगा। धोनी ने कहा कि जीतना अच्छा है। प्रक्रिया महत्त्वपूर्ण है क्योंकि इससे आपको मैच जीतने में मदद मिलती है। पिछले कुछ दौरे पर यहां आने पर हमने शृंखला गंवाई। हम कहते रहे हैं कि बल्लेबाजों को समय दीजिए और वे सामंजस्य बैठा लेंगे। उन्होंने इस शृंखला में अच्छा प्रदर्शन किया जिसका मतलब है कि हमारे पास जिस तरह की प्रतिभा है, उसमें कुछ निखार के साथ हम अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।

सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (99) को पांच मैचों में सर्वाधिक 441 रन बनाने के लिए मैन आफ द सीरीज चुना गया। शृंखला में दो शतक जड़ने वाले रोहित तीसरे शतक से चूकने के बाद ज्यादा निराश नहीं दिखे। उन्होंने कहा कि हताश नहीं हूं क्योंकि आज रात हम मैच जीत गए। युवा मनीष पांडे ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया, अपना चौथे वनडे खेलते हुए, शतक जड़ना और हमारा खाता खोलना।

आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ टीम के शृंखला जीतने से खुश हैं लेकिन उन्होंने अच्छे प्रदर्शन के लिए मेहमान टीम की तारीफ की। उन्होंने कहा कि काफी अधिक रन बने। इस शृंखला में खिलाड़ी जिस तरह खेले उस पर गर्व है। आज लक्ष्य का पीछा करते हुए बेजोड़ प्रदर्शन देखने को मिला (भारत की ओर से)। हमने क्षेत्ररक्षण में कुछ मौके गंवाए लेकिन क्रिकेट में ऐसा होता है। हमें आगे बढ़ना होगा और सुधार करना होगा। स्मिथ ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि हमने अंतिम दो ओवर में काफी रन नहीं बनाए और फिर कैच टपकाए। मुझे लगता है कि दोनों कारणों से हमने आज मैच गंवाया। लेकिन क्षेत्ररक्षण के कारण आज रात हमें काफी नुकसान उठाना पड़ा। हमने कुछ आसान कैच टपकाए।

और जब आप ऐसे खिलाड़ियों के कैच छोड़ते हो तो वे वापसी करते हुए आपको नुकसान पहुंचाते हैं। स्पाइडर कैम आज हमारा सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षक रहा जिसने चार रन बचाए। उन्होंने कहा कि हमारी योजना एमएस धोनी को कोई मौका नहीं देने की थी। पहली योजना उन्हें आउट करने की थी लेकिन हमें जो मौका मिला हम उसका फायदा नहीं उठा पाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App