avoid use of tricolour made of plastic - प्लास्टिक से बने तिरंगों पर सख्त हुई सरकार - Jansatta
ताज़ा खबर
 

प्लास्टिक से बने तिरंगे पर केंद्र सरकार हुई सख्त, इसके इस्तेमाल से बचने का दिया निर्देश

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को सलाह दी है कि ध्वज संहिता 2002 और राष्ट्रीय गौरव से जुड़े प्रतीक चिन्हों का अपमान रोकने संबंधी कानून 1971 के प्रावधानों का पालन हर हाल में सुनिश्चित करे।

प्लास्टिक से बने तिरंगे आसानी से निस्तारित नहीं हो पाते हैं।

केंद्र सरकार ने प्लास्टिक से बने तिरंगे के इस्तेमाल पर सख्ती दिखाई है। सरकार ने कहा है कि सभी राज्य सरकारें और सरकारी संस्थान जितना हो सके उतना प्लास्टिक के तिरंगों से बचे। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को एक एडवायजरी जारी करते हुए सभी राज्य एवं संघ शासित सरकारों और केन्द्रीय मंत्रालयों को ध्वज संहिता का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिये हैं।

मंत्रालय ने अपनी एडवायजरी में कहा कि सराकारी आयोजनों में आजकल कपड़े या कागज की बजाय प्लास्टिक के तिरंगों के इस्तेमाल का चलन बढ़ता जा रहा है। प्लास्टिक के तिरंगे के इस्तेमाल के बाद उसे इदर उधर फेंक दिया जाता है। तिरंगे प्लास्टिक के बने होने के कारण उनका जल्द निस्तारण नहीं हो पाता है जिससे राष्ट्रीय ध्वज के अपमान की आशंका बढ़ जाती है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को सलाह दी है कि ध्वज संहिता 2002 और राष्ट्रीय गौरव से जुड़े प्रतीक चिन्हों का अपमान रोकने संबंधी कानून 1971 के प्रावधानों का पालन हर हाल में सुनिश्चित करे।

तिरंगे के अपमान की आशंका को देखते हुए मंत्रालय ने सभी संबद्ध प्राधिकरणों से कहा है कि सभी सरकारी आयोजनों में ऐसे ही तिरंगों का इस्तेमाल करे जो सिर्फ जैविक तरीकों से आसानी से नष्ट किया जा सके। ऐसे में कागज या कपड़े से बने ध्वज ही इस्तेमाल में लाने की ज्यादा से ज्यादा कोशिश की जाए। मंत्रालय ने अपनr एडवायजरी में ये भी कहा है कि कागज और कपड़े के बने तिरंगे इस्तेमाल में लाने के लिए जिम्मेदारी का पालन सख्ती से होना चाहिए। अगर किसी भी सराकरी आयोजन में इस बात की अनदेखी की तो स्थानीय प्रशासन को राष्ट्रीय गौरव से जुड़े प्रतीक चिन्हों के अपमान को रोकने संबंधी कानून के प्रावधानों के तहत सख्त कार्रवाई करनी होगी।

सुप्रीम कोर्ट का आदेश- सिनेमाघरों में फिल्म शुरु होने से पहले बजाया जाए राष्ट्रीय गान; स्क्रीन पर दिखे तिरंगा

भारत ने अटारी बॉर्डर पर लहराया सबसे ऊंचा तिरंगा; पाकिस्तान को सता रहा 'जासूसी' का डर

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App