ताज़ा खबर
 

चुनाव बाद आर्थिक संकट झेल रही कांग्रेस, सभी इकाई से कॉस्ट कटिंग की अपील, कर्मचारियों की सैलरी भी अटकी

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के कई विभागों को अपने खर्चे कम करने के लिए कहा गया है। कांग्रेस के सेवा दल का बजट भी 2.5 लाख मासिक से घटाकर 2 लाख कर दिया गया है।

Author नई दिल्ली | July 13, 2019 7:43 PM
राहुल गांधी (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी के आर्थिक हालात भी ठीक नहीं चल रहे हैं। कांग्रेस की कई इकाईयों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के कई विभागों को अपने खर्चे कम करने के लिए कहा गया है। कांग्रेस के सेवा दल का बजट भी 2.5 लाख मासिक से घटाकर 2 लाख कर दिया गया है। एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि पार्टी के लिए डाटा इंटेलिजेस की जरूरत है या नहीं इस पर विचार किया जा रहा है। इसके कांग्रेस मुख्यालय में काम करने वाले बहुत से लोगों को कुछ महीनों से सैलरी भी नहीं मिली है।

कांग्रेस की आर्थिके समस्या का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम के 20 सदस्यों ने लोकसभा चुनाव आने के बाद इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम में पहले 55 लोग थे लेकिन अब सिर्फ 35 लोग रह गए हैं। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस की सोशल मीडिया के साथ जो लोग अभी भी जुड़े हुए हैं उनकी सैलरी देर से मिल रही है। पार्टी के मीडिया विभाग की हालत भी कुछ ऐसी ही है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस का दूसरा सबसे बुरा प्रदर्शन रहा था कांग्रेस, को 542 सीटों में से महज 52 सीटों पर ही जीत हासिल हुई थी जबकि 2014 के चुनाव में भी कुछ ऐसा ही हुआ था जब कांग्रेस को सिर्फ 44 सीट ही हासिल हुई थी। कांग्रेस अध्यक्ष रहे राहुल गांधी स्वयं अपनी संसदीय सीट अमेठी को नहीं बचा सके थे। वायनाड से मिली जीत से वह संसद पहुंचे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App