ताज़ा खबर
 

कश्मीर के कुछ और इलाकों में अभी भी कर्फ्यू, अस्पताल के बाहर मिला युवक का शव

हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद शुरू हुए विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए ऐहतियाती उपाय के तौर पर कश्मीर के कुछ और इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया।

Author श्रीनगर | Published on: August 3, 2016 11:45 PM
kashmir, kashmir unrest, kashmir curfew, kashmir curfew news, kashmir protests, burhan wani killing, burhan wani, kashmir news, india newsकश्मीर।

हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद शुरू हुए विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए ऐहतियाती उपाय के तौर पर कश्मीर के कुछ और इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया। इस बीच आज यहां के एक अस्पताल के बाहर एक युवक का शव पाया गया, जिसके शरीर पर र्छे के निशान थे, इसके बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि रेयाज अहमद का शव एसएमएचएस अस्पताल के बाहर मिला। उसके पेट में एक बड़ा सा सूराख था। उन्होंने कहा कि पहले यह साफ नहीं था कि युवक की मौत कैसे हुई लेकिन उसके शव का एक्स रे करने पर अंदर र्छे मौजूद होने का पता चला। शव का पोस्टमार्टम किया गया है लेकिन रिपोर्ट आने में कुछ दिन लग जाएंगे। अधिकारी ने कहा कि युवक की मौत के बाद आज तड़के बेगियास और उससे लगे इलाकों में विरोध प्रदर्शन हुए। कल हुए हिंसक विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए घाटी के और इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया। कल प्रदर्शन के दौरान पुलवामा जिले के लेथपोरा इलाके में एक युवक की मौत हो गयी थी और कई अन्य घायल हो गए।

उन्होंने कहा कि पुराने शहर के पांच थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी रहा जबकि ऐहतियातन शहर के बटमालू, शहीदगंज, सौरा, जदिबल, कमरवारी और बेमिना इलाकों में भी कर्फ्यू लगा दिया गया। अधिकारी ने कहा कि बारामुला जिले के खानपोरा इलाके, पुलवामा जिले के अवंतिपोरा और पंपोर में भी कफ्र्यू लगा दिया गया है जबकि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग शहर में कर्फ्यू अब भी जारी है। उन्होंने कहा, ‘कश्मीर के बाकी हिस्सों में भारतीय दंड संहिता की धारा 144 के तहत चार या अधिक लोगों के एक जगह जमा होने पर पाबंदी है।’ अलगाववादी समर्थक हड़ताल और प्रशासन द्वारा लगाई गई पाबंदियों के कारण घाटी में लगातार 26वें दिन भी जनजीवन प्रभावित रहा। स्कूल, कॉलेज, कारोबारी संस्थान, बैंक और निजी कार्यालय बंद रहे, जबकि सड़कों से सार्वजनिक वाहन नदारद रहे।

अधिकारी ने कहा कि सरकारी कार्यालयों में भी उपस्थिति कम रही। पूरी घाटी में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद रही जबकि सभी नेटवर्कों पर पोस्टपेड सेवा बहाल कर दी गई है। प्रीपेड कनेक्शनों पर इनकमिंग सुविधा बहाल की जा चुकी है लेकिन आउटगोइंग सेवा पर पाबंदी है। अलगाववादियों ने हड़ताल को पांच अगस्त तक बढ़ा दिया है और शुक्रवार को हजरत बल तक रैली का आह्वान किया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बंगाल में BJP की अनदेखी नहीं की जा सकती: अमित शाह
2 GST के पास होने से काले धन पर लगेगी लगाम, अप्रैल 2017 से लागू होना कठिन
3 Punjab 2017 polls: नवजोत सिंह सिद्धू और पत्नी में से किसी एक को ही मिलेगा AAP का टिकट
ये पढ़ा क्या...
X