ताज़ा खबर
 

CID करेगी पुलिस उपाधीक्षक की खुुदकुशी की जांच

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार ने मैंगलुरू के पुलिस उपाधीक्षक एमके गणपति की कथित खुदकुशी के मामले की सीआइडी जांच का आदेश दिया है।

Author बंगलुरु | July 9, 2016 4:06 AM
मैंगलुरू के पूर्व पुलिस उपाधीक्षक एमके गणपति

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार ने मैंगलुरू के पुलिस उपाधीक्षक एमके गणपति की कथित खुदकुशी के मामले की सीआइडी जांच का आदेश दिया है। उन्होंने चेतावनी दी कि गणपति को परेशान करने के आरोपी वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने यह जांच सीआइडी को सौंप दी है। सीआइडी की ओर से रिपोर्ट सौंपे जाने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी। एक सप्ताह के भीतर राज्य के दो वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की कथित खुदकुशी का मामला सामने आया है। गणपति गुरुवार को मडिकरी में एक लॉज में पंखे से लटकते पाए गए।

पांच जुलाई को चिक्कामंगलुरु अनुमंडल के पुलिस उपाधीक्षक कलप्पा हैंडीबैग बेलगावी जिले में अपने ससुर के आवास पर लटकते हुए मिले थे। उन पर फिरौती के लिए एक व्यक्ति के अपहरण का आरोप था। मडिकेरी में एक स्थानीय चैनल को दिए साक्षात्कार में गणपति ने उनके दो वरिष्ठ अधिकारियों और बंगलुरु विकास मंत्री केजे जॉर्ज पर उनको प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। जॉर्ज पहले गृह मंत्री रहे हैं। उन्होंने कहा था कि मैं पुलिस विभाग में जाति को देखते हुए हो रहे तबादलों से निराश हूं। वरिष्ठ अधिकारियों को ऐसा नहीं करना चाहिए। यह अच्छा नहीं है। यह गलत है। इसलिए मैं खुलकर मीडिया के सामने आ रहा हूं।

गणपति ने यह भी कहा था कि अगर मुझे कुछ होता है तो ये लोग जिम्मेदार होंगे। कौन? (पुलिस अधिकारी) एएम प्रसाद और प्रणब मोहंती व पूर्व गृह मंत्री जॉर्ज। वे मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के करीबी हैं। अपनी सरकार के विपक्ष के निशाने पर आने के बाद सिद्धरमैया ने कहा कि जॉर्ज के इस्तीफे की मांग कर रही भाजपा को ऐसा करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

दिवंगत पुलिस अधिकारी गणपति के आरोपों का जवाब देते हुए जॉर्ज ने कहा कि उनका गणपति से कोई संपर्क नहीं रहा और उनके साथ कोई निजी मामला भी नहीं था। उन्होंने इस पुलिस अधिकारी को कभी परेशान नहीं किया। भाजपा की ओर से इस्तीफे की मांग किए जाने के संदर्भ में जॉर्ज ने कहा कि उनके मंत्री बनने के दिन से यह पार्टी इस्तीफे की मांग कर रही है। गणपति की पत्नी पावना ने कहा कि हम सिर्फ यह जानते हैं कि उन पर विभाग का दबाव था। उनको जो कहना था, वह उन्होंने कहा। हम कुछ नहीं जानते। वे हमसे भी ये बातें किया करते थे। जॉर्ज ने दावा किया कि उन्होंने 2014 से गणपति से संपर्क नहींं किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App