ताज़ा खबर
 

देशविरोधी नारे लगाने के आरोपी उमर खालिद की पीएचडी पूरी, जानें किन्हें कहा शुक्रिया

खालिद ने जैसे ही यह ट्वीट किया, उस पर धड़ाधड़ उनके फॉलोअर्स और अन्य लोगों की प्रतिक्रियाएं आने लगीं। कुछ लोगों ने उन्होंने पीएचडी पूरी करने पर बधाई दी, जबकि कुछ ने फर्जी डिग्री धारकों को असली डिग्री दिखाने के लिए उन्हें धन्यवाद कहा।

जेएनयू शोधार्थी ने पीएचडी पूरी करने से जुड़े ट्वीट के साथ यह फोटो भी शेयर किया था।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में शोधार्थी और देशविरोधी नारे लगाने के आरोपी उमर खालिद की पीएचडी पूरी हो गई है। मंगलवार (14 मई, 2019) को उन्होंने डिग्री मिलने पर सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी। कहा कि वह अब डॉक्टर उमर खालिद कहलाएंगे। जेएनयू छात्र ने डिग्री पाने के बाद ट्वीट कर कुछ खास लोगों को शुक्रिया अदा किया।

खालिद ने ट्वीट किया, “आज मैंने सफलतापूर्वक पीएचडी की डिग्री हासिल कर ली। आखिरकार, अब मैं डॉक्टर उमर खालिद कहलाऊंगा! मोदी साहब, हमने तो टैक्सपेयर्स का हिसाब चुकता किया! और आपने? डॉक्टर संगीता दासगुप्ता, प्रोफेसर प्रभु महापात्रा और प्रो.रोहन डिसूजा, जेएनयू बिरादरी और पिछले कुछ सालों में जो भी लोग मेरे साथ खड़े रहे, उनका खास तौर पर शुक्रिया।”

जेएनयू छात्र ने इसके साथ दो तस्वीरें भी शेयर कीं। एक में वह दो शिक्षकों के साथ बीच में खड़े थे और उनके हाथ में जेएनयू की पीएचडी की डिग्री भी थी, जबकि दूसरे फोटो में वह दो अन्य टीचर्स से बातचीत कर रहे थे।

खालिद ने जैसे ही यह ट्वीट किया, उस पर धड़ाधड़ उनके फॉलोअर्स और अन्य लोगों की प्रतिक्रियाएं आने लगीं। कुछ लोगों ने उन्होंने पीएचडी पूरी करने पर बधाई दी, जबकि कुछ ने फर्जी डिग्री धारकों को असली डिग्री दिखाने के लिए उन्हें धन्यवाद कहा।

इससे पहले, 14 फरवरी को पूर्व जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की पीएचडी पूरी हुई थी। उन्होंने भी तब ट्वीट के जरिए इसकी जानकारी दी थी। बता दें कि जेएनयू राजद्रोह मामले में दिल्ली पुलिस की चार्जशीट में खालिद का 10 मुख्य आरोपियों में शामिल है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X