ताज़ा खबर
 

कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने वाले 4 पार्षदों पर ऐक्शन, अयोग्य करार देने का आदेश

मुख्य चुनाव अधिकारी के आदेश के बाद अब नगर परिषद में अब 16 पार्षद ही रह गए हैं। कांग्रेस पार्षद पुष्पा देवी और बलजीत सिंह की तरफ से वकील शाह मोहम्मद चौधरी ने एक याचिका दायर की थी।

Jammu Kashmir CEO, Congress, bjp, Congress councillors , Kathua Municipal Council, BJP councillors CEO Shailendra Kumarफोटो: इंडियन एक्सप्रेस

जम्मू-कश्मीर के मुख्य चुनाव अधिकारी ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जाने वाले 4 पार्षदों को अयोग्य करार देने का आदेश जारी किया है। ये चार पार्षद कठुआ नगर परिषद के हैं इसमें कुल 20 पार्षद हैं।

नरेश कुमरा, रेखा कुमारी, अजय कुमरा और रेणु बाला ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष रविंद्रे रैना की मौजूदगी में बीजेपी का दामन थामा था। नरेश कुमार तो कठुआ नगर परिषद के प्रेसिडेंट भी चुने गए थे।

मुख्य चुनाव अधिकारी के आदेश के बाद अब नगर परिषद में अब 16 पार्षद ही रह गए हैं। बता दें कि कांग्रेस पार्षद पुष्पा देवी और बलजीत सिंह की तरफ से वकील शाह मोहम्मद चौधरी ने एक याचिका दायर की थी। जिसके बाद मुख्य चुनाव अधिकारी ने वकील का बयान सुनने के बाद दल बदल कानून का उल्लंघन करने पर उन्हों अयोग्य ठहराने का फैसला सुनाया।

खास बता यह है कि नरेश कुमार प्रधान पद पर नियुक्त किए गए हैं ऐसे में उनके अयोग्य घोषित होने के बाद अब प्रधान की पोस्ट खाली हो चुकी है। ऐसे में अब नए प्रधान का चुनाव होगा।

सीईओ ने अपने फैसले में माना कि प्रतिवादियों ने अपना एक अलग समूह बनाया जिसमें नियमों की अनदेखी की गई। प्रतिवादियों ने माना है कि प्रतिवादियों ने कांग्रेस से अपनी सदस्यता त्यागा दी है और एक ग्रुप बनाकर उसका बीजेपी में विलय किया है। ऐसे में उनके खिलाफ जम्मू-कश्मीर के डिफेक्शन के प्रावधानों के तहत कार्यवाही की गई। वहीं मामले पर नरेश कुमार ने कहा है कि वह सीईओ के आदेश को हाई कोर्ट में चुनौती देंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories