ताज़ा खबर
 

मैराथन प्रतिरोध ध्वस्त कर भारत ने किया क्लीन स्वीप, अश्विन मैन ऑफ द सीरीज

भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के संघर्ष को चौथे टैस्ट के अंतिम दिन के अंतिम सत्र में थाम दिया और फीरोजशाह कोटला पर उसे 337 रनों से फतह कर ऐतिहासिक जीत दर्ज की..

Author नई दिल्ली | December 8, 2015 12:10 AM
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टैस्ट शृंखला में 3-0 से ऐतिहासिक विजय दर्ज करने के बाद सोमवार को फीरोजशाह कोटला मैदान पर ट्राफी के साथ भारतीय खिलाड़ी। यह पहला मौका है जब भारत ने किसी सीरीज में दक्षिण अफ्रीका का सूपड़ा साफ किया है।

भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों के संघर्ष को चौथे टैस्ट के अंतिम दिन के अंतिम सत्र में थाम दिया और फीरोजशाह कोटला पर उसे 337 रनों से फतह कर ऐतिहासिक जीत दर्ज की। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने सोमवार को भी धैर्य और एकाग्रता के साथ खेलते हुए मैच को बचाने के लिए लंबा संघर्ष किया। रविवार को पहले सत्र में भारतीय पारी घोषित होने के बाद दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने कप्तान हाशिम आमला की अगुआई में संयम और एकाग्रता के साथ क्रिकेट खेला और मैच ड्रा कराने की कोशिश की। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने चाय के फौरन बाद दक्षिण अफ्रीका की आधी टीम को महज 143 रनों पर समेट कर भारत को 337 रनों से बड़ी जीत दिला कर चार टैस्ट की सीरीज में 3-0 से जीत दिला दी।

जीत के लिए दक्षिण अफ्रीका को 481 रनों का लक्ष्य मिला था। लेकिन टीम के प्रदर्शन को देखते हुए यह लक्ष्य काफी बड़ा था। इस जीत के साथ ही भारत आइसीसी टैस्ट रैंकिंग में भी दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। इससे पहले वनडे और टी20 सीरीज भारत हार गया था। टैस्ट सीरीज में मिली शानदार जीत से भारतीय टीम को राहत मिली है। चार टैस्ट मैचों की सीरीज का पहला और तीसरा टैस्ट भारत ने जीता था। बंगलुरु में खेला गया दूसरा टैस्ट बारिश की भेंट चढ़ गया था।

अंतिम सत्र में उमेश यादव और रविचंद्रन अश्विन ने सिर्फ 5.1 ओवर में दक्षिण अफ्रीकी टीम को समेट कर भारतीय टीम को जीत दिलाई। मेहमान टीम ने ये रन बनाने के लिए 143.1 ओवर खेले। मोर्नी मोर्कल आउट होने वाले आखिरी खिलाड़ी रहे।
कप्तान विराट कोहली के लिए यह जीत यादगार रही। उनकी कप्तानी में फीरोजशाह कोटला पर भारत का यह पहला टैस्ट था और इस पहले टैस्ट में जीत दिला कर उन्होंने इस टैस्ट को यादगार बना डाला। रविवार को जब खेल थमा था तब मेहमान टीम ने 72 ओवर में दो विकेट खो कर 72 रन बनाए थे। सोमवार को भी आमला और एबी डिविलयर्स ने इसी संयम के साथ अपनी पारी को आगे बढ़ाया। लेकिन पहले सत्र में दूसरी नई गेंद से रविंद्र जडेजा ने आमला के किले को भेद कर उनका आफ स्टंप बिखेर कर भारत को जीत की राह पर लगाया।

आमला ने रविवार को अपना खाता खोलने के लिए 46 गेंदों का इंतजार किया था। फाफ डु प्लेसिस ने उन्हें पीछे छोड़ दिया। उन्होंने 52 गेंदें बिना किसी रन के खेलीं। उन्होंने 53वें गेंद पर अपना खाता खोला। इससे पहले डु प्लेसिस ने एडीलेड में 2011 में भी इस तरह का रक्षात्मक खेल दिखाते हुए सात घंटे 46 मिनट क्रीज पर रहकर 110 रन बनाए थे। उनकी इस पारी के कारण आस्ट्रेलिया तय लग रही जीत से महरूम रह गया था। तब भी उनके जोड़ीदार डिविलियर्स थे जिन्होंने 220 गेंद में 33 रन बनाए थे। डु प्लेसिस ने खाता खोलने के लिए सबसे ज्यादा गेंदें खेलेने का ग्रांट फ्लावर (2000 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 51 गेंद) को पीछे छोड़ा। अब वे इस सूची में तीसरे नंबर पर आ गए हैं। आमला का स्ट्राइक रेट 10.44 का रहा लेकिन उन्होंने रक्षात्मक खेल का नायाब नमूना पेश किया। उन्होंने सिखाया कि लगभग हारे हुए मैच का रुख ड्रा की ओर कैसे किया जाता है। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने सुबह के सत्र में 31 ओवरों में महज 42 रन बनाए थे। अंतिम सत्र शुरू होने से पहले लगने लगा था कि दक्षिण अफ्रीका ने टैस्ट को भारत की मुट्ठी से निकाल लिया है। लेकिन चाय के बाद भारतीय गेंदबाजों ने मैच का नक्शा ही बदल डाला।

आमला के आउट होने के बाद दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज डिविलियर्स ने अकेले ही किला बचाने के लिए जी-जान लगा दिया। अपनी संयमित पारी के दौरान उन्होंने यह भी बताया कि बेहतरीन खिलाड़ी किस तरह हालात के मुताबिक खुद को और अपने खेल को ढाल सकते हैं। दुनिया के सबसे खतरनाक टी20 बल्लेबाज ने बेहद संयम का प्रदर्शन किया और संभलकर रन बनाए।
इससे पहले दक्षिण अफ्रीका ने सुबह के सत्र में 31 ओवरों में सिर्फ 42 रन बनाए थे। कोटला की सपाट हो चुकी विकेट से सुबह फायदा मिला लेकिन 160 ओवर खेलकर मैच बचाना कभी आसान नहीं होता। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजों ने इस कदर रक्षात्मक खेल दिखाया कि जडेजा ने 46 में से 33 ओवर मैडन फेंके। एक समय तो जडेजा ने लगातार 17 ओवर मेडन फेंके। लेकिन वे बापू नाडकरनी के लगातार 21 ओवर मेडन फेंकने के रेकार्ड को नहीं तोड़ पाए जो उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 1962-63 में चेन्नई में बनाया था।

एबी डिविलियर्स के 297 गेंद में 43 रन की बदौलत एक समय दक्षिण अफ्रीका ड्रा की तरफ बढ़ता दिख रहा था लेकिन आखिरी सत्र के पांच ओवरों ने मैच भारत की झोली में डाल दिया। तेज गेंदबाज उमेश यादव ने पहले डेन विलास को बोल्ड किया फिर उसी अंदाज में काइल एबोट का डंडा उखाड़ा। डेन पिएट भी यादव का शिकार बने, साहा ने अपने दार्इं तरफ छलांग लगा कर बेहतरीन कैच लपका। अश्विन ने डिविलियर्स को आउट कर दक्षिण अफ्रीकी संघर्ष पर विराम लगाया।

अश्विन की करिश्माई आफ ब्रेक गेंद को डिविलियर्स ने अजीब तरीके से खेला और लेग स्लिप में जडेजा को कैच दे बैठे। गेंद उनके दस्ताने से लग कर उछली और जडेजा ने कैच लपकने में कोई कोताही नहीं की। लंच के बाद भारत ने डुप्लेसिस और जेपी डुमिनी का विकेट निकाल कर भारत की जीत की उम्मीदों को बनाए रखा था। हालांकि एक छोर डिविलयर्स संभाले हुए थे। लेकिन अंतिम सत्र में छठे ओवर में पांच विकेट फटाफट निकाल कर भारत ने टैस्ट जीत कर सीरीज 3-0 से जीती। इस सीरीज में भारत के सबसे कामयाब गेंदबाज अश्विन ने इस टैस्ट की दूसरी पारी में 49.1 ओवर में 61 रन देकर पांच विकेट हासिल किए।

कप्तान विराट कोहली और मैन आफ द मैच अजिंक्य रहाणे ने सोवेनियर स्टंप्स उठाए। बाद में खिलाड़ियों ने जीत का जश्न मनाने के साथ-साथ दर्शकों का अभिवादन किया। दर्शकों ने अपने सितारे खिलाड़ियों के अभिवादन का जवाब जोरदार तालियों से दिया।

स्कोर बोर्ड

भारत (पहली पारी) : 334
दक्षिण अफ्रीका (पहली पारी) : 121
भारत (दूसरी पारी) : पांच विकेट पर 267 (घोषित)
दक्षिण अफ्रीका (दूसरी पारी) : डीन एल्गर का रहाणे बो अश्विन 4, तेंबा बावुमा बो अश्विन 34, हाशिम आमला बो जडेजा 25, एबी डिविलियर्स का जडेजा बो अश्विन 43, फाफ डु प्लेसिस एलबीडब्लू बो जडेजा 10, जेपी डुमिनी एलबीडब्लू बो अश्विन 0, डेन विलास बो यादव 13, काइल एबोट बो यादव 0, डेन पीएट का साहा बो यादव 1, मोर्नी मोर्कल बो अश्विन 2, इमरान ताहिर नाटआउट 0, अतिरिक्त 11, कुल योग: 143 रन।

विकेट पतन : 1-5, 2-49, 3-76, 4-111, 5-112, 6-136, 7-136, 8-140, 9-143

गेंदबाजी : ईशांत 20-12-23-0, अश्विन 49.1-26-61-5, जडेजा 46-33-26-2, यादव 21-16-9-3, धवन 3-1-9-0, विजय 2-0-2-0, कोहली 1-1-0-0, पुजारा 1-0-2-0

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App