ताज़ा खबर
 

India-China Border HIGHLIGHTS: ‘ड्रैगन’ की कमर तोड़ने को VHP चलाएगा देशव्यापी अभियान, चीन के वाणिज्य दूतावास के पास एबीवीपी के प्रदर्शन को रोका गया

इससे पहले, भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के दौरान घायल हुए भारतीय जवानों में से चार की हालत में पहले से सुधार आया है। इसी बीच, ड्रैगन के साथ तनातनी के बीच भारतीय सेना की कई गाड़ियों को लद्दाख रवाना कर दिया गया है।

भारत और चीन के बीच खूनी झड़प गलवान घाटी में 15-16 जून की दरमियानी रात को हुई।

India-China Ladakh Border Dispute HIGHLIGHTS: भारत में कारोबारिक स्तर पर चीन की कमर तोड़ने के लिए विश्व हिंदू परिषद (विहिप) अब देशव्यापी अभियान चलाएगी। संगठन के सदस्य इस दौरान घर-घर जाकर लोगों से चीन के बने उत्पाद/सामान का बहिष्कार करने के लिए कहेंगे। इसी बीच, व्यापारियों की संस्था CAIT ने बॉलीवुड सेलेब्स से अपील की है कि वे चीन के ब्रांड्स का ऐड और प्रमोशन न करें। ऐसे ऐक्टरर्स में Aamir Khan, Deepika Padukone, Katrina Kaif, Virat Kohli और अन्य हैं।

उधर, मुंबई में चीन के वाणिज्य दूतावास की ओर जा रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोक दिया। एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से संबद्ध छात्र संगठन के कार्यकर्ता वाणिज्य दूतावास के सामने विरोध प्रदर्शन करना चाहते थे लेकिन पुलिस ने उन्हें 500 मीटर पहले ही रोक दिया। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत के 20 सैन्यकर्मियों के शहीद होने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।

गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों में खूनी झड़प को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने पूछा है- झड़प के दौरान भारतीय सैनिकों को चीनियों पर गोली चलाने के आदेश क्यों नहीं दिए गए? बता दें कि 15-16 की दरमियानी रात पीएलए के सैनिकों ने भारतीय फौजियों पर बल्लों, तार लिपटी स्टिक्स और पत्थरों से वार किए थे, जबकि देश के जवानों के पास हथियार थे, मगर एंग्रीमेंट के समझौते के तहत उन्होंने गोलियां नहीं चलाई थीं।

इससे पहले, भारत ने बृहस्पतिवार को चीन से कहा कि वह अपनी गतिविधियों को वास्तविक नियंत्रण रेखा के उसके अपने क्षेत्र तक ही सीमित रखे और उसे इसमें बदलाव के लिए कोई एकपक्षीय कार्रवाई नहीं करनी चाहिए। गलवान घाटी की हिंसक झड़प का उल्लेख करते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि भारत देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग में संवाददाताओं से बातचीत में श्रीवास्तव ने कहा कि सोमवार रात को गलवान घाटी में हुई झड़प के बाद से कोई भारतीय जवान लापता नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘सीमा प्रबंधन पर जिम्मेदाराना रुख के साथ भारत का बहुत स्पष्ट मत है कि उसकी सभी गतिविधियां हमेशा एलएसी के इस ओर होती हैं। हम चीनी पक्ष से अपेक्षा करते हैं कि वह भी अपनी गतिविधियों को एलएसी के अपनी तरफ सीमित रखे।’’ प्रवक्ता ने कहा कि दोनों पक्ष अपने-अपने दूतावासों तथा विदेश कार्यालयों के माध्यम से नियमित संपर्क में हैं और जमीनी स्तर पर भी संपर्क कायम रख रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘सीमा के मामलों पर परामर्श और समन्वय के लिए कामकाजी प्रणाली समेत हमारी अन्य स्थापित कूटनीतिक प्रणालियों पर बातचीत जारी है।’’

दरअसल, लद्दाख की गालवान घाटी में भारत और चीन के बीच हुई हिंसक झड़प के दौरान 20 भारतीय सेना के जवान शहीद हुए हैं। मंगलवार रात भारतीय सेना ने इसकी पुष्टि की। दूसरी तरफ न्यूज एजेंसी एएनआई ने एक इंटरसेप्ट के हवाले दावा किया है कि चीन के भी 43 जवान हताहत हुए हैं। हालांकि, चीनी मीडिया में इस खबर को पूरी तरह दबा दिया गया है। चीन के मुखपत्र कहे जाने वाले पीपुल्स डेली और पीएलए डेली अखबार ने लद्दाख में भारतीय सेना के साथ हुई मुठभेड़ की खबरों को जगह ही नहीं दी थी, जबकि मुठभेड़ पर हमलावर रुख अख्तियार किए ग्लोबल टाइम्स अखबार ने इस खबर को 16वें पन्ने पर छोटी जगह दी।

Live Blog

Highlights

    06:28 (IST)19 Jun 2020
    थरूर ने मोदी के पुराने ट्वीट पोस्ट कर केंद्र सरकार पर साधा निशाना

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुराने ट्वीट को पोस्ट कर पूर्वी लद्दाख में चीन-भारत के बीच मौजूदा टकराव को लेकर भाजपा नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधा है। मोदी के ये ट्वीट तब के हैं, जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे । बिना कोई टिप्पणी पोस्ट किए थरूर ने तीन ट्वीट को रीट्वीट किया है। इसमें मोदी का एक ट्वीट आठ फरवरी 2014 का है, दो ट्वीट उनकी वेबसाइट के ट्विटर हैंडल का है जो कि 13 मई 2013 और 15 अगस्त 2013 का है। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ टकराव के मुद्दे से निपटने को लेकर कांग्रेस केंद्र सरकार पर निशाना साध रही है। थरूर ने भी इसी पृष्ठभूमि में मोदी के पुराने ट्वीट को पोस्ट कर कटाक्ष किया है।

    05:01 (IST)19 Jun 2020
    गलवान झड़प में कोई जवान लापता नहींः सेना

    भारतीय सेना ने गुरुवार को उन मीडिया खबरों को खारिज किया जिनमें दावा किया गया है कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में तीन दिन पहले चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़पों के बाद उसके कई सैनिक लापता हैं। सेना ने एक बयान में कहा, ‘यह स्पष्ट किया गया है कि कार्रवाई में कोई भारतीय सैनिक लापता नहीं है।’ इस तरह की खबरें थी कि गलवान घाटी में हिंसक झड़प के बाद चीनी सेना ने भारतीय सेना के कुछ सैनिकों को बंदी बना लिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने भी एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि सोमवार को हुई झड़प के बाद से कोई भारतीय सैनिक लापता नहीं हुआ है।

    03:30 (IST)19 Jun 2020
    गलवान झड़प: चीन के नापाक मंसूबे को ध्वस्त करने के लिए केंद्र से एहतियाती कदम उठाने का अनुरोध

    पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सेना और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प को लेकर अरूणाचल प्रदेश के नेताओं, अग्रणी छात्र संगठनों सहित आम लोगों ने चीन की निंदा की है। चीन के नापाक मंसूबे को ध्वस्त करने के लिए लोगों ने केंद्र से एहतियाती कदम भी उठाने का अनुरोध किया है। अरूणाचल प्रदेश में चीन से लगी 3488 किलोमीटर की सीमा है । अरूणाचल के कुछ लोगों ने कहा, ‘‘हम अरूणाचल के वासी हैं और एक दूसरे को जय हिंद कहकर अभिवादन करते हैं । ’’ उन्होंने राज्य में चीन के घुसपैठ के किसी भी प्रयास को नाकाम बनाने के लिए केंद्र से एहतियाती कदम उठाने का आग्रह किया।

    01:38 (IST)19 Jun 2020
    सोशल मीडिया पर चीनी सामान का बहिष्कार लेकिन धड़ाधड़ बिक रहे उत्पाद

    भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव जारी है। ऐसे में देश में चीन के उत्पादों के बहिष्कार की मांग लगातार उठ रही है। सोशल मीडिया पर चीन के उत्पादों का बहिष्कार ट्रेंड कर रहा है लकिन इसका शियोमी, रियलमी और हायर जैसी कंपनियों के स्मार्टफोन और टिकाऊ उपभोक्ता सामान की बिक्री पर कोई असर नहीं दिखा है। हालांकि, कंपनियों ने इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से इनकार किया है लेकिन इन कंपनियों के शीर्ष कार्यकारियों का कहना है कि अभी उनकी बिक्री पर कोई असर नहीं पड़ा है। एक स्मार्टफोन कंपनी के अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 महामारी की वजह से लोग घर से काम कर रहे हैं और घर पर ही पढ़ाई कर रहे हैं जिससे मोबाइल फोन की मांग बढ़ी है। अधिकारी ने कहा कि कई कंपनियों को बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए महंगा आयात करना पड़ा है। एक और चीनी कंपनी के कार्यकारी ने कहा कि हमारी घटनाक्रम पर नजदीकी नजर है। जमीनी स्तर के साथ ही सोशल मीडिया पर भी हमारी पूरी निगाह है।

    00:26 (IST)19 Jun 2020
    रेलवे ने 471 करोड़ रुपये का रद्द किया चीनी कंपनी का ठेका

    रेलवे ने कानपुर और मुगलसराय के बीच 417 किलोमीटर लंबे खंड पर सिग्नल व दूरसंचार के काम में धीमी प्रगति के कारण चीन की एक कंपनी का ठेका रद्द करने का निर्णय लिया है।मालगाड़ियों की आवाजाही के लिये समर्पित इस खंड ‘ईस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर’ के सिग्नल व दूरसंचार का काम रेलवे ने 2016 में चीन की कंपनी बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एंड डिजायन इंस्टिट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्युनिकेशन ग्रुप को दिया था। यह ठेका 471 करोड़ रुपये का है। रेलवे ने यह कदम ऐसे समय उठाया है, जब सोमवार की रात पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीन के सैनिकों के साथ भयंकर टकराव में एक कर्नल सहित भारतीय सेना के 20 जवानों की मौत हो गयी। यह दोनों देशों के बीच पिछले पांच दशक का सबसे बड़ा सैन्य टकराव है।

    23:20 (IST)18 Jun 2020
    फारूक अब्दुल्ला की भारत, चीन से अपील: युद्ध समाधान नहीं, संवाद के जरिये कम हो तनाव

    नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष तथा सांसद फारूक अब्दुल्ला ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर हालात को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए बृहस्पतिवार को भारत और चीन से संयम बरतने और संवाद के जरिये सैन्य तनाव कम करने का अनुरोध किया। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री का यह बयान सोमवार रात पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में एक कर्नल समेत 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद आया है। अब्दुल्ला ने एक बयान में कहा, ''एलएसी पर तनाव कम करने के लिये शांतिपूर्ण तरीके से राजनयिक माध्यमों का सहारा लिया जाना चाहिये। युद्ध समाधान नहीं है, इससे दक्षिण-पूर्वी एशिया में रहने वाले लोगों की मुश्किलें ही बढ़ेंगी।''

    21:57 (IST)18 Jun 2020
    मुख्यमंत्री ने दिया शहीद के पार्थिव शरीर को कंधा, शासकीय स्कूल का नामकरण होगा शहीद के नाम पर

    छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लद्दाख की गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सेना के जवान गणेश राम कुंजाम के पार्थिव शरीर को कंधा दिया तथा उनके नाम पर गांव के शासकीय स्कूल का नामकरण करने की घोषणा की है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज राजधानी रायपुर के माना स्थित स्वामी विवेकानंद विमानतल पर छत्तीसगढ़ के शहीद जवान गणेश राम कुंजाम के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। अधिकारियों ने बताया कि विमानतल पर शहीद कुंजाम को सलामी दी गई। मुख्यमंत्री ने शहीद कुंजाम के पार्थिव शरीर को कांधा देकर विदाई दी। उन्होंने बताया कि विमानतल से हेलीकॉप्टर से शहीद का पार्थिव शरीर अंतिम संस्कार के लिए उनके गृह ग्राम कांकेर जिले के गिधाली गांव के लिए रवाना किया गया।

    21:19 (IST)18 Jun 2020
    ओडिशा: गलवान घाटी में शहीद हुए दो सैनिकों के पार्थिव शरीर को उनके गांव ले जाया गया

    लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए ओडिशा के दो सैनिकों के पार्थिव शरीर विशेष विमान से बृहस्पतिवार को यहां लाए गए। मयूरभंज जिले के रायरंगपुर के निवासी नायब सूबेदार नंदूराम सोरेन और कंधमाल जिले के बीआरपंजा के रहने वाले चंद्रकांत प्रधान के पार्थिव शरीरों को लेकर जब विमान बीजू पटनायक हवाई अड्डे पर शाम को उतरा तब माहौल गमगीन हो गया। देश की संप्रभुता और अखंडता और के लिए प्राण न्योछावर करने जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए हवाई अड्डे पर उपस्थित कई गणमान्य लोगों में राज्यपाल गणेशी लाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी शामिल थे। लाल और पटनायक ने तिरंगे में लिपटे उन ताबूतों पर पुष्प अर्पित किए जिसमें दिवंगत जवानों के पार्थिव शरीर रखे गए थे।

    21:18 (IST)18 Jun 2020
    अक्साई चीन अब वापस लेने का वक्त आ चुका है- बीजेपी सांसद

    लद्दाख से BJP सांसद जामयांग नामग्याल ने गुरुवार को कहा है कि अक्साई चीन भारतीय क्षेत्र है और अब उसे चीन से वापस लेने का वक्त आ चुका है। 'इंडिया टुडे टीवी' से बातचीत के दौरान उन्होंने आगे कहा- केवल अक्साई चीन ही नहीं, बल्कि गिलगित और बाल्टिस्तान जैसे सभी इलाके लद्दाख का हिस्सा हैं। 2020 का भारत, 1962 का देश नहीं है। बता दें कि साल 1962 में भारत और चीन के बीच जंग हुई थी, जिसमें इंडिया को बड़ा झटका लगा था। इस युद्ध को भारत चीन सीमा विवाद के रूप में भी जाना जाता है।

    19:52 (IST)18 Jun 2020
    घायल हुए भारतीय जवानों में से चार की हालत में पहले से सुधार आया

    भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के दौरान घायल हुए भारतीय जवानों में से चार की हालत में पहले से सुधार आया है। इसी बीच, ड्रैगन के साथ तनातनी के बीच भारतीय सेना की कई गाड़ियों को लद्दाख रवाना कर दिया गया है। दूसरी तरफ अमेरिका की तरफ से भारत-चीन के बीच तनाव पर दो दिन में दूसरा बयान आया है। व्हाइट हाउस की प्रवक्ता केली मैकेनैनी ने कहा कि अमेरिका की स्थिति पर करीब से नजर है। हमने 20 भारतीय जवानों की शहादत की खबर सुनी। हम इस पर संवेदना व्यक्त करते हैं। भारत-चीन के बीच मध्यस्थता कराने के सवाल पर केली ने कहा कि अभी इस पर कोई आधिकारिक योजना नहीं है।

    19:00 (IST)18 Jun 2020
    चीन, भारत गलवान घाटी में हुए संघर्ष से उत्पन्न ‘गंभीर मामले’ से ’उचित तरीके’ से निपटेंगे: अधिकारी

    चीन के एक शीर्ष अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा कि गलवान घाटी में संघर्ष से उत्पन्न ‘‘गंभीर मामले’’ से भारत और चीन ‘‘उचित तरीके’’ से निपटेंगे तथा दोनों पक्ष जल्द से जल्द तनाव कम करने के लिए कूटनीतिक एवं सैन्य तंत्रों के माध्यम से एक-दूसरे के संपर्क और समन्वय में हैं। गलवान घाटी में सोमवार की रात चीनी सैनिकों के साथ झड़प में कम से कम 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। चीन के अधिकारिक मीडिया ने बीजिंग के सैनिकों के हताहत होने की बात भी स्वीकार की है, लेकिन कितने सैनिक मारे गए या घायल हुए, यह उल्लेख नहीं किया है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजान ने बृहस्पतिवार को कहा कि इस घटना के बाद दोनों पक्ष मामले पर कूटनीतिक एवं सैन्य तंत्रों के माध्यम से एक-दूसरे के संपर्क और समन्वय में हैं।

    18:22 (IST)18 Jun 2020
    चीन ने भारतीय सैनिकों पर हमले, गलवान नदी पर बांध बनाने के सवालों को टाला

    भारतीय सैनिकों पर 15 जून को लोहे की छड़ों और कंटीली तार लगे डंडों से बर्बर हमला करने संबंधी सवालों को टालने के साथ ही चीन ने बृहस्पतिवार को उन खबरों पर सवालों का जवाब देने से भी इनकार कर दिया कि वह चीन-भारत सीमा पर गलवान नदी के प्रवाह को बाधित करने के लिए एक बांध बना रहा है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान सोमवार रात को गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ झड़प में चीनी सैनिकों के हताहत होने के बारे में पूछे गए सवाल को लगातार दूसरे दिन टाल गए।

    झाओ से उन आरोपों के बारे में पूछा गया कि चीनी सैनिकों ने कर्नल संतोष बाबू और अन्य भारतीय सैनिकों पर लोहे की छड़ों तथा कंटीली तार लगे डंडों से बर्बर हमला किया और क्या यह विवाद तब शुरू हुआ जब भारतीय सैनिक वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन द्वारा बनाए जा रहे ढांचों को ध्वस्त करने पहुंचे थे। झाओ ने इस घटना के लिए भारतीय सेना को जिम्मेदार ठहराने वाले चीन के आरोपों को दोहराया।

    17:58 (IST)18 Jun 2020
    लद्दाख झड़प: ममता शुक्रवार को होने वाली सर्वदलीय बैठक में शामिल होंगी

    लद्दाख में चीन-भारत सीमा पर स्थिति पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शामिल होंगी। तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों ने यह जानकारी दी। बनर्जी ने बुधवार को कहा था कि स्थिति पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने संबंधी केन्द्र का कदम सही फैसला है। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘हमारी पार्टी प्रमुख वीडियो कांफ्रेंस के जरिये होने वाली बैठक में शामिल होंगी। जैसा कि उन्होंने पहले ही कहा था कि हम संकट की इस घड़ी में देश के साथ खड़े हैं।’’

    17:20 (IST)18 Jun 2020
    ‘हथियार के बिना’ सैनिकों को खतरे की ओर किसने भेजा, कौन जिम्मेदार है: राहुल

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने को लेकर बृहस्पतिवार को फिर से सरकार पर निशाना साधा और सवाल किया कि ‘हमारे सैनिकों को हथियार के बिना खतरे की ओर से किसने भेजा और इसके लिए कौन जिम्मेदार है।’ उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा, ‘‘चीन ने शस्त्रहीन भारतीय सैनिकों की हत्या करके बहुत बड़ा अपराध किया हैं। मैं पूछना चाहता हूं कि इन वीरों को बिना हथियार के खतरे की ओर से किसने भेजा? क्यों भेजा? कौन जिम्मेदार है?’’

    17:06 (IST)18 Jun 2020
    US बोला- भारत-चीन सीमा विवाद से अवगत हैं ट्रम्प

    व्हाइट हाउस ने कहा है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पूर्वी लद्दाख में भारतीय एवं चीनी बलों के बीच हुई झड़प से अवगत हैं और दोनों देशों के बीच मध्यस्थता को लेकर अमेरिका की कोई औपचारिक योजना नहीं है। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कैली मेकनैनी ने सीमा पर हुई झड़प के बारे में पूछे जाने पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘राष्ट्रपति को इसकी जानकारी है। हम पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारतीय एवं चीनी बलों के बीच हालात पर नजर रख रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने भारतीय सेना का बयान देखा है कि झड़प में 20 भारतीय जवानों ने जान गंवाई है और हम इसे लेकर गहरी संवेदना प्रकट करते हैं।’’ उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच मध्यस्थता की कोई औपचारिक योजना नहीं है। मेकनैनी ने कहा, ‘‘मैं केवल यह बताना चाहती हूं कि इस साल दो जून को (अमेरिका के) राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हुई बातचीत में दोनों ने भारत-चीन सीमा पर स्थिति को लेकर बातचीत की थी।’’

    16:03 (IST)18 Jun 2020
    भारतीय, चीनी सेनाओं ने लगातार तीसरे दिन मेजर जनरल-स्तर की वार्ता की

    पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सामान्य स्थिति बहाल करने के उद्देश्य से लगातार तीसरे दिन बृहस्पतिवार को भारतीय और चीनी सेनाओं ने मेजर जनरल-स्तर की वार्ता की। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। गलवान घाटी में सोमवार की शाम भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गये थे। इस झड़प में भारतीय सेना के लगभग 18 जवान गंभीर रूप से घायल हो गये थे। सूत्रों ने बताया कि गलवान घाटी के निकट दोनों पक्षों के बीच हुई वार्ता मंगलवार और बुधवार को बेनतीजा रही थी। मेजर जनरल स्तरीय बातचीत में गलवान घाटी से सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया को लागू करने पर चर्चा हुई थी। छह जून को दोनों पक्षों के बीच उच्च स्तरीय सैन्य वार्ता में इसी पर सहमति बनी थी। चीन को कड़ा संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा था कि भारत शांति चाहता है किंतु यदि उकसाया गया तो वह यथोचित जवाब देने में सक्षम है। साथ ही उन्होंने कहा था कि भारतीय जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा।

    14:59 (IST)18 Jun 2020
    सुब्रमण्यम स्वामी की मोदी सरकार को सलाह- 50 साल पुरानी स्वदेशी योजना को करें लागू

    भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार को सलाह दी है कि वह उनकी बनाई हुई 50 साल पुरानी योजना को बिना नीति आयोग को परेशान किए लागू कर सकती है। स्वामी ने कहा कि यह योजना उन्होंने स्वदेशी को ध्यान में रखकर ही बनाई थी। लेकिन तत्कालीन पीएम इंदिरा गांधी ने संसद में इसकी निंदा की थी। 

    13:59 (IST)18 Jun 2020
    चीनी मामलों के जानकार बोले- एलएसी पर चीन का एक्शन सीमा विवाद को बढ़ावा देने वाला

    चीन मामलों के एक्सपर्ट और भारत के पूर्व डिप्लोमैट टीसीए रंगचारी ने कहा है कि एलएसी पर चीन की कार्रवाई सीधे तौर पर उसके और भारत के बीच हुए समझौतों का उल्लंघन है। रंगचारी ने कहा कि दोनों देशों ने बिना बातचीत के कोई भी बदलाव न करने का समझौता किया था। ऐसा कोई भी फैसला सिर्फ शांतिपूर्ण तरीके से राजनयिक तरीकों से ही किया जाना था।

    12:58 (IST)18 Jun 2020
    भाजपा नेता बोले- जब पूरा देश सेना-सरकार के साथ, तब विपक्ष दुश्मनों का फायदा कर रहा

    भाजपा नेता राम माधव ने भारत और चीनी सेनाओं के बीच सीमा पर हुए टकराव के मुद्दे पर राजनीति करने के लिए विपक्ष को घेरा है। राम माधव ने कहा कि जब पूरा देश सेना और सरकार के साथ खड़ा है, तब मुख्य विपक्षी दल (कांग्रेस) ऐसे बयान जारी करती है, जिससे दुश्मनों को फायदा पहुंच सकता है। राम माधव ने कहा कि वे (चीन) अपनी बात रखने के लिए राहुल गांधी के बयान का इस्तेमाल करते हैं।

    11:54 (IST)18 Jun 2020
    भारत के खिलाफ ग्लोबल टाइम्स का भड़काऊ एजेंडा जारी

    चीनी मीडिया भारत को धमकाने का अपना काम बखूबी कर रही है। चीन का ग्लोबल टाइम्स अखबार खासतौर पर भारत के खिलाफ साइकोलॉजिकल वॉरफेयर की कोशिशों में जुटा है। सोमवार रात को दोनों सेनाओं के बीच हुई मुठभेड़ के बाद अखबार के संपादक हू शिजिन ने कहा है कि भारत टकराव में मारे गए अपने 17 सैनिकों को बचा सकता था, लेकिन उसकी तरफ से रेस्क्यू में देरी और घायलों को उपचार मुहैया कराने में कमी सामने आई है। ये पठारी क्षेत्रों में मॉडर्न कॉम्बैट आर्मी की निशानी बिल्कुल नहीं है। पढ़ें पूरी खबर...

    10:58 (IST)18 Jun 2020
    भाजपा अध्यक्ष बोले- गलवान में हमारे सैनिकों ने सर्वोच्च बलिदान दिया, देश उनका कर्जदार

    भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुरुवार को लद्दाख के गलवान में चीनी सैनिकों से टकराव के दौरान शहादत पाने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा में जान गंवाने वाले हमारे बहादुर सैनिकों का सर्वोच्च बलिदान हमेशा याद रखा जाएगा। देश उनके प्रति कर्जदार है। मैं शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं। भाजपा अगले दो दिन के लिए अपने सारे राजनीतिक कार्यक्रम टाल रही है।

    09:58 (IST)18 Jun 2020
    तेलंगानाः गलवान घाटी में चीन से हुई मुठभेड़ में जान गंवाने वाले कर्नल को सेना का सलाम

    लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ मुठभेड़ में जान गंवाने वाले बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग अफसर कर्नल संतोष बाबू को आज तेलंगाना में उनके सूर्यपेट स्थित घर पर श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर पहुंचे सैना के जवानों ने उनकी गार्ड ऑफ ऑनर के साथ विदाई की।

    09:03 (IST)18 Jun 2020
    साइबर हमलों के जरिए भारत के बैंकिंग सिस्टम को निशाना बनाने की कोशिश में चीन

    चीन सीमा पर सेना के साथ-साथ अपने हैकर्स के जरिए भारतीय साइबर सिक्योरिटी को पूरी तरह तबाह कर देना चाहता है। खुफिया जानकारी के मुताबिक, पिछले दो दिनों में भारत की सरकारी वेबसाइटों और बैंकिंग सिस्टम से जुड़े नेटवर्क पर चीन के हमले बढ़ गए हैं। पढ़ें पूरी खबर...

    08:14 (IST)18 Jun 2020
    भारतीय विदेश मंत्री का आरोप- गलवान में जो हुआ, वह साजिश थी

    भारत और चीन के बीच खूनी झड़प के बाद बुधवार को चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर से फोन पर बातचीत की। समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक, वांग ने जयशंकर से कहा, "भारत और चीन को उनके नेताओं के बीच बनी महत्वपूर्ण सहमति का पालन करना चाहिए।" वांग ने इसके साथ ही जोर दिया कि मतभेदों को दूर करने के लिए दोनों पक्षों को मौजूदा तंत्र के जरिए संचार और समन्वय मजबूत बनाना चाहिए। वहीं, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गलवान में हिंसक झड़प को लेकर अपने चीनी समकक्ष वांग यी के समक्ष भारत का कड़ा विरोध दर्ज कराया। उन्होंने कहा- गलवान में जो कुछ भी चीन की सेना (PLA) ने किया, वह साजिश थी।

    07:40 (IST)18 Jun 2020
    चीनी सेना की हरकतों ने भारतीय शेर को भड़कायाः अमेरिकी मीडिया

    इस बीच अमेरिकी मीडिया में भी मंगलवार को भारत और चीन विवाद की चर्चा रही है। वॉशिंगटन एग्जामिनर अखबार में मंगलवार को छपे लेख में कहा गया कि 15 जून को चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने 20 भारतीय सैनिकों को पीटकर मार दिया। इससे चीनी सेना ने भारतीय राष्ट्रवादी शेर को एक बार फिर जगा दिया है।

    इस लेख को लिखने वाले पत्रकार रोगन ने प्रधानमंत्री मोदी के राष्ट्रवादी आधार पर बात करते हुए कहा कि वे लगातार भारत को घरेलू रुचियों से दूर कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने की बात कहते रहे हैं। अब पीएम मोदी पर खासा दबाव है, क्योंकि फरवरी 2019 में पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तानी आतंकियों पर सरकार की तरफ से तेज कार्रवाई हुई थी। ऐसे में मोदी के सामने चीन का सामना करने की चुनौतियां बढ़ गई हैं, क्योंकि चीनी सेना की तरफ से सीमा के उल्लंघन का यह पहला मामला नहीं है।

    06:37 (IST)18 Jun 2020
    गलवान घाटी में शहीद हुए जवान गुरबिंदर सिंह की इस साल होनी थी शादी

    पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए सिपाही गुरबिंदर सिंह के रिश्तेदार जगसीर सिंह ने बताया कि गुरबिंदर की पिछले साल सगाई हुई थी और इस साल उनकी शादी की योजना थी। जगसीर सिंह ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा कि गुरबिंदर की पिछले साल सगाई हुयी थी और ‘‘जब वह छुट्टी पर आने वाले थे तो इस साल उसकी शादी की योजना थी।’’ लेकिन अब संगरूर की सुनाम तहसील के तोतावल गांव में उनका पार्थिव शरीर बृहस्पतिवार को लाया जायेगा।

    06:10 (IST)18 Jun 2020
    आस्ट्रेलिया भारत स्थापित व्यवस्था के नियमों का करते हैं पालन, लेकिन चीन नहीं : आस्ट्रेलिया के दूत

    आस्ट्रेलिया के दूत बैरी ओ फरेल ने बुधवार को कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के बाद नियम और तकाजे को लेकर स्थापित व्यवस्था का भारत और आस्ट्रेलिया पालन कर रहे हैं लेकिन चीन ऐसा नहीं कर रहा। आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त ने जोर दिया कि दक्षिण चीन सागर में चीन एकतरफा तरीके से यथास्थिति बदलने का प्रयास कर रहा है। यह इस विषय पर बनी आम सहमति और वार्ता के मुताबिक नहीं है। विवेकानंद इंटरनेशनल फाउंडेशन में अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि भारत और आस्ट्रेलिया की साझा चिंताएं हैं।

    05:15 (IST)18 Jun 2020
    चीन ने गलवान घाटी पर संप्रभुता का दावा किया

    चीन ने पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी और भारतीय सेना के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद बुधवार को दावा किया कि घाटी में संप्रभुता हमेशा से उसी की रही है, लेकिन उसने इस बात को जोर देकर कहा कि बेजिंग और झड़पें नहीं चाहता। भारत ने मंगलवार को कहा था कि पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प क्षेत्र में यथास्थिति को एकतरफा तरीके से बदलने के चीनी पक्ष के प्रयास के कारण हुई।

    04:32 (IST)18 Jun 2020
    मारते-मारते मरे हैं हमारे सैनिक : प्रधानमंत्री

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि जवानों की कुर्बानी व्यर्थ नहीं जाएगी। हमें अपने जवानों पर गर्व करना चाहिए, वे मारते-मारते मरे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख में चीन से विवाद पर पहली बार बयान दिया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत शांति चाहता है, लेकिन उकसाए जाने पर मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि हमारे लिए, देश की एकता और संप्रभुता सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है। मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा कोशिश की है कि मतभेद विवाद न बनें।

    03:47 (IST)18 Jun 2020
    देश की अंतरात्मा को चोट पहुंचाई गई है, संतोषजनक तरीके से इससे निपटा जाना चाहिये: प्रणब मुखर्जी

    पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सैनिकों की मौत पर बुधवार को कहा कि देश की अंतरात्मा को चोट पहुंचाई गई है। ऐसा दोबारा न हो, इसके लिये सभी विकल्प तलाशने होंगे।

    03:02 (IST)18 Jun 2020
    शहीद सैनिकों के शव उनके गृह स्थान पर पहुंचाए गए

    शहीद सैनिकों के पार्थिव शरीर उनके गृह स्थानों पर पहुंचाए गए, देश के कई हिस्सों में चीन विरोधी प्रदर्शन चंडीगढ़/हैदराबाद/बारीपदा, 17 जून (भाषा) पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए सैनिकों के पार्थिव शरीर बुधवार को जब उनके घरों तक पहुंचाये गये तब देशभर में शोक की लहर दौड़ गयी। लोगों में चीन के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा है। 

    02:22 (IST)18 Jun 2020
    आरआईसी बैठक : रूस ने कहा, त्रिपक्षीय सहयोग बाधित होने के संकेत नहीं

    सीमा पर झड़प के बाद चीन-भारत में बढ़े तनाव के बीच रूस ने बुधवार को कहा कि आरआईसी (रूस-भारत-चीन) का अस्तित्व एक निर्विवाद हकीकत है और त्रिपक्षीय सहयोग बाधित होने के कोई संकेत नहीं हैं। भारत में रूस के राजदूत निकोलय कुदाशेव ने चीन-भारत के तनाव को घटाने के मकसद से उठाए गए कदमों का स्वागत किया।

    23:33 (IST)17 Jun 2020
    सूरत में लोगों ने चाइनीज कंपनी के टेलीविजन सेटों को सड़क पर फेंका

    लद्दाख सीमा पर चीनी सैनिकों के हमले में भारतीय जवानों के शहीद होने से देशवासियों में जबरदस्त गुस्सा व्याप्त है। गुजरात के सूरत में कई लोगों ने चाइनीज कंपनी के टेलीविजन सेटों को सड़क पर फेंक दिया। लोगों ने भारत माता की जय का नारे लगाए। 

    22:51 (IST)17 Jun 2020
    चीन के साथ मेजर जनरल स्तर की बातचीत बेनतीजा: सूत्र

    भारत और चीन के मेजर जनरलों के बीच बुधवार शाम गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प को लेकर बात हुई। सूत्रों के हवाले से ये चर्चा बेनतीजा रही, क्योंकि इस दौरान कोई ऐसा फैसला नहीं हुआ, जिससे जमीनी चीजें फौरन बदल जाएं। ऐसे में आने वाले दिनों में बातचीत का दौर चलेगा।

    21:39 (IST)17 Jun 2020
    पंजाब सरकार ने गलवान झड़प में शहीद हुए सैनिकों के परिजनों को अनुग्रह राशि, नौकरी देने की घोषणा की

    पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने लद्दाख में चीनी सेना के साथ हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए राज्य के चार सैनिकों के परिजनों को अनुग्रह राशि और नौकरी देने की बुधवार को घोषणा की। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ सोमवार की रात हुई झड़प में एक कर्नल समेत 20 भारतीय सैन्यकर्मी शहीद हो गये थे। सिंह ने शहीद सैनिकों नायब सूबेदार सतनाम सिंह (गुरदासपुर), नायब सूबेदार मंदीप सिंह (पटियाला), सिपाही गुरबिंदर सिंह (संगरूर) और सिपाही गुरतेज सिंह (मनसा) के परिजनों के प्रति संवेदना भी व्यक्त की। मुख्यमंत्री ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि कैबिनेट मंत्री राज्य सरकार की ओर से इन बहादुर शहीद जवानों के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे।

    20:58 (IST)17 Jun 2020
    चीन चाय के लिए एक अहम बाजार, लेकिन व्यापार राष्ट्रीय हितों से ऊपर नहीं : चाय बोर्ड प्रमुख

    लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच संघर्ष के संदर्भ में चाय बोर्ड के चेयरमैन प्रभात के. बेजबरुआ ने बधुवार को कहा कि चाय निर्यात के लिए चीन एक ‘अहम बाजार’ है, लेकिन व्यापार राष्ट्रीय हितों से ऊपर जाकर नहीं हो सकता। गलवान घाटी में सोमवार रात हुए संघर्ष में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए। बेजबरुआ ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ राष्ट्रीय सुरक्षा, सीमाओं और हमारे जवानों की सुरक्षा सर्वोपरि है। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि इसकी पुनरावृत्ति ना हो। चीन का अपने लगभग सभी पड़ोसी देशों के साथ सीमा विवाद है।’’

    19:21 (IST)17 Jun 2020
    चीनी विदेश मंत्री से भारतीय समकक्ष जयशंकर की हुई बात, दोनों ने तनाव कम करने पर जताई सहमति जताई

    चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने विदेश मंत्री एस जयशंकर से फोन पर बात की और दोनों नेताओं ने तनावपूर्ण स्थिति को यथासंभव जल्द से जल्द शांत करने और दोनों देशों के बीच हुए समझौते के अनुरूप सीमावर्ती क्षेत्र में अमन-चैन बनाये रखने पर सहमति जताई। यहां एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गयी। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात को चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़पों में 20 भारतीय जवानों के मारे जाने के बाद दोनों मंत्रियों की टेलीफोन पर बातचीत हुई है।इसे पिछले पांच दशक में दोनों देशों के बीच सबसे बड़ी सैन्य झड़प बताया जा रहा है। नयी दिल्ली में विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि टेलीफोन बातचीत में जयशंकर ने वांग से हिंसक झड़पों पर कड़े से कड़े शब्दों में भारत का विरोध जाहिर किया और कहा कि अभूतपूर्व घटनाक्रम के द्विपक्षीय संबंधों पर गंभीर प्रभाव होंगे। उन्होंने चीनी पक्ष से उसकी गतिविधियों का पुनर्मूल्यांकन कर सुधारात्मक कदम उठाने को कहा।

    18:50 (IST)17 Jun 2020
    रक्षा मंत्री ने अपने बयान में चीन का नाम क्यों नहीं लिया: कांग्रेस

    कांग्रेस ने लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों की शहादत पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान में ‘चीन का उल्लेख नहीं होने’ पर बुधवार को उन पर निशाना साधा और कहा कि ‘गुमराह करने’ के बजाय उन्हें सामने आकर जवाब देना चाहिए। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने यह सवाल भी किया कि जवानों की शहादत पर दुख प्रकट करने में राजनाथ सिंह को दो दिन का समय क्यों लगा? उन्होंने रक्षा मंत्री के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, ‘‘ अगर यह (शहादत) बहुत पीड़ादायक था तो फिर आपने अपने ट्वीट में चीन का नाम क्यों नहीं लिया? दुख जताने में दो दिन का समय क्यों लगा? जब हमारे जवान शहीद हो रहे थे तो आपने रैलियां क्यों संबोधित कीं? आप क्यों छिप गए और ‘क्रोनी मीडिया’ द्वारा सेना को जिम्मेदार ठहराने दिया?’’

    18:06 (IST)17 Jun 2020
    ममता ने गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए बंगाल के दो जवानों के परिवारों को मुआवजा देने का ऐलान किया

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ झड़प में शहीद हुए राज्य के दो जवानों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपए मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की बुधवार को घोषणा की। पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के राजेश ओरांग और अलीपुरद्वार जिले के बिपुल रॉय सोमवार रात हुई हिंसक झड़प में शहीद हुए 20 भारतीय सैनिकों में शामिल हैं।

    18:05 (IST)17 Jun 2020
    चीन ने एक बार फिर से किया छलावा : रावत

    उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने भारत—चीन सीमा पर गलवान घाटी में शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए बुधवार को कहा कि चीन ने हमारे निहत्थे सैनिकों पर धोखे से आक्रमण कर एक बार फिर से 1962 की तरह छलावा किया है । रावत ने यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा, ' एक बार फिर चीन ने छलावा किया है, विश्वासघात किया है । नियमित शांति वार्ता चल रही थी । इस दौरान हमारे सैनिकों पर हमला किया गया । एक प्रकार से चीन ने फिर से 1962 को दोहराने का काम किया है ।'

    16:55 (IST)17 Jun 2020
    लद्दाख की स्थिति का कारण मोदी सरकार की कूटनीतिक अदूरदर्शिता : अधीर

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को आरोप लगाया कि भारत-चीन सीमा पर मौजूदा स्थिति का कारण नरेंद्र मोदी सरकार की "कूटनीतिक अदूरदर्शिता" है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के यह साबित करने का समय आ गया है कि उनके पास "56 इंच का सीना है।” लोकसभा में कांग्रेस के नेता ने कहा कि पाकिस्तान के साथ गतिरोध के समय दिखी मजबूत राष्ट्रवाद की बयानबाजी अब गायब है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘2014 की झूला कूटनीति का क्या हुआ? वास्तविकता यह है कि मोदी सरकार की कूटनीतिक अदूरदर्शिता के कारण ही यह स्थिति पैदा हुई है। जब आप मनमाने तरीके से सरकार चलाते हैं,तो यही होता है।"

    16:22 (IST)17 Jun 2020
    प्रधानमंत्री सामने आएं और चीन के साथ टकराव पर देश को भरोसे में लें: सोनिया

    कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लद्दाख में शहीद हुए 20 जवानों को नमन करते हुए बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सामने आएं और मौजूदा स्थिति के बारे में सच एवं तथ्यों के आधार पर देश को भरोसे में लें। उन्होंने यह सवाल भी किया कि चीन ने कितने हिस्से पर कब्जा किया है और हमारे जवानों की शहादत क्यों हुई? सोनिया ने एक वीडियो जारी कर कहा, ‘‘हमारे 20 जवानों की शहादत ने देश की अंतरात्मा को हिलाकर रख दिया है। मैं इन सभी बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करती हूं। साथ ही प्रार्थना करती हूं कि उनके परिवारों को यह दुख सहने की शक्ति मिले।’’

    16:07 (IST)17 Jun 2020
    'देश के लिए बेटा शहीद हुआ है, दो पोते हैं उन्हें भी भेज रहे हैं'
    15:35 (IST)17 Jun 2020
    पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक से पहले दी गलवान में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोनावायरस के हालात पर बात करने से पहले लद्दाख की गलवान घाटी में चीन से मुठभेड़ के दौरान जान गंवाने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। पीएम ने इस दौरान कहा कि भारत अपनी संप्रभुता से कोई समझौता नहीं करेगा। इसके बाद उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह समेत सभी सीएम से खड़े होकर जवानों के लिए 2 मिनट का मौन रखने का आग्रह किया।

    14:36 (IST)17 Jun 2020
    लद्दाखः गलवान वैली में जान गंवाने वाले सैनिकों को दी गई श्रद्धांजलि

    लद्दाख के लेह स्थित आर्मी हॉस्पिटल में बुधवार को गलवान वैली में चीन से मुठभेड़ में जान गंवाने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई। इस जगह पर लगातार हेलिकॉप्टर की आवाजाही जारी रही है।

    13:47 (IST)17 Jun 2020
    पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल बोले- चीन को सख्त जवाब देना जरूरी

    रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कहा है कि अब चीन को बेहद सख्त जवाब देना जरूरी हो गया है। उन्होंने कहा कि हमें चीन को उसकी सीमाएं दिखानी होंगी। इस बातचीत को टॉप लेवल पर ले जाएं, लेकिन अपनी तैयारी पूरी रखें, क्योंकि अगर हालात बिगड़े तो सेना को स्थितियां संभालनी होंगी।

    13:02 (IST)17 Jun 2020
    चीन से झड़प के बाद आर्म्ड फोर्सेज को युद्ध स्टॉक बढ़ाने को दिए गए अधिकार

    भारत और चीन के बीच लद्दाख में बढ़ते तनाव पर अब सरकार निर्णायक मोड पर आ चुकी है। सरकार ने सेना को आपात युद्ध स्टॉक बढ़ाने के लिए पूरे अधिकार दे दिए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत को तीनों सर्विस (थल, वायु और नौसेना) के साथ सहयोग कर के उनकी जरूरतों के बारे में जानकारी लेने के लिए कहा गया है। पढ़ें पूरी खबर...

    12:22 (IST)17 Jun 2020
    सैनिकों के शव हेलिकॉप्टर से उठाने आए चीनीः न्यूज एजेंसी

    सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआई को यह भी बताया कि एलएसी के आसपास चीनी चॉपर्स की गतिविधि अधिक दिखी। माना जा रहा है कि भारत के साथ हुई खूनी झड़प में पीएलए के जो सैनिक मारे गए या जख्मी हुए, उन्हें एयरलिफ्ट करने के लिए ये हेलीकॉप्टर्स आए थे।

    11:49 (IST)17 Jun 2020
    शिवसेना सांसद बोले- बॉर्डर पर अभी जो हो रहा उसके लिए नेहरु और राहुल गांधी जिम्मेदार नहीं

    महाराष्ट्र में महाविकास अघाड़ी सरकार का हिस्सा बने शिवसेना ने अपने पुराने साथी भाजपा पर हमले तेज कर दिए हैं। सीमा पर 20 जवानों की शहादत पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि हम बॉर्डर पर जो हो रहा है, उसके लिए जवाहरलाल नेहरु, इंदिरा गांधी और राहुल गांधी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते। उन्होंने कहा कि 20 जवानों की शहादत के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं। सभी पार्टियां पीएम के फैसले का समर्थन करेंगी, लेकिन उन्हें बताना होगा कि आखिर गड़बड़ क्या है।

    11:17 (IST)17 Jun 2020
    PHOTOS: 1962 के भारत-चीन युद्ध की दुर्लभ तस्‍वीरें

    भारत और चीन के बीच सोमवार देर रात खूनी झड़प हुई है। यह 53 साल बाद है कि भारत-चीन सीमा पर किसी देश का सैनिक मारा गया। इसके अलावा कई बार चीनी सैनिकों की भारतीय सीमा में घुसपैठ की खबरें भी आती रहती हैं। ऐसे में हम आपको साल 1962 के भारत-चीन युद्ध की कुछ दुर्लभ तस्वीरें दिखा रहे हैं। ये तस्वीरें इंडियन एक्सप्रेस के फोटोग्राफर ने युद्ध के दौरान अपने कैमरे में कैद की थीं। यहां देखें तस्वीरें

    Next Stories
    1 Tecno Spark Power 2: 17 जून को भारत में लॉन्च होगा ये दमदार फोन, कीमत होगी इतनी
    ये पढ़ा क्या...
    X