ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी के राज में ताबड़तोड़ नौकरियां छोड़ रहे हमारे अर्द्धसैनिक, देश की आंतरिक सुरक्षा पर अा सकता है बड़ा खतरा

2016-17 में वीआरएस लेने वाले अर्धसैनिकों में सबसे ज्यादा बीएसएफ के 4,274 सैनिक हैं उसके बाद सीआरपीएफ के 3280 और सीआईएसएफ के 765 कर्मचारी हैं।

बीएसएफ जवान को सम्मानित करते गृहमंत्री राजनाथ सिंह।

पैरामिलिट्री फोर्स यानि अर्धसैनिक बल में समय से पहले रिटायरमेंट लेने वालों की संख्या में पिछले एक साल में बहुत ज्यादा बढ़ोत्तरी हुई है। संसद में सरकार की तरफ से पेश एक रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल वीआरएस लेने वालों की संख्या में 450 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरेन रिजिजू ने कहा है कि अपने निजी कारणों के चलते इन अर्धसैनिकों ने समय से पहले रिटायरमेंट ले लिया है। रिजिजू ने ये भी बताया कि साल 2016-17 में 9065 अर्धसैनिकों ने वीआरएस लिया है इसमें ज्यादातर सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, एसएसबी और असम राइफल्स के हैं।

आपको बता दें कि साल 2014-15 में समय से पहले नौकरी छोड़ने वालों की संख्या 5289 थी। 2015-16 में वीआरएस लेने वालों की संख्या में भारी कमी आई और उससाल सिर्फ 2105 अर्धसैनिकों ने ही समय से पहले रिटायरमंट लिया था। 2016-17 में वीआरएस के आंकड़ों में 450 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पैरैमिलेट्री फोर्स के सूत्रों की मानें तो ज्यादातर अर्धसैनिक अपनी नौकरी में तनाव, कम तन्ख्वाह और कठिन हालातों में काम करने की अनिवार्यता के चलते वीआरएस ले कर समय से पहले ही नौकरी छोड़ देते हैं।

इतनी बड़ी संख्या में वीआरएस लेने के चलते पैरामिलिट्री फोर्सेज़ में अर्धसैनिकों की कमी होती जा रही है। गृहमंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि इतनी ज्यादा संख्या में वीआरएस लेने के चलते बहुत सी सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं पर असर पड़ सकता है। 2016-17 में वीआरएस लेने वाले अर्धसैनिकों में सबसे ज्यादा बीएसएफ के 4,274 सैनिक हैं उसके बाद सीआरपीएफ के 3280 और सीआईएसएफ के 765 कर्मचारी हैं।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू के मुताबिक 20 साल तक नौकरी करने के बाद ये अर्धसैनिक एक सामान्य पारिवारिक जीवन बिताने का आनंद लेना चाहते हैं। अपने इसी निजी फैसले के चलते अर्धसैनिकों के वीआरएस लेने की प्रवृत्ति बढ़ती जा रही है।

VIDEO: BSF जवान तेज बहादुर यादव की पत्नी का दावा- “पति पर डाला रिटायरमेंट का दबाव, बाद में किया गिरफ्तार”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 यूपी में मीट विक्रेताओं की हड़ताल जारी, कहा- हर रोज हो रहा है 1400 करोड़ का नुकसान
ये पढ़ा क्या?
X