ताज़ा खबर
 

गुड़ी पड़वा 2017 : जानिए क्यों मनाया जाता है गुड़ी पड़वा और क्या हैं महत्व

Gudi Padwa 2017: यह दिन 'वास्तु पूजा' के लिए शुभ माना जाता है और नए कारोबार खोलने के लिए भी इस दिन को महत्वता दी जाती है।

Gudi Padwa 2017,Gudi Padwa 2017 Timing,Gudi Padwa Vidhi,Gudi Padwa 2017 Tithi,Gudi Padwa Vidhi in Hindi,गुड़ी पड़वा 2017,gudi padwa in hindi,Gudi Padwa 2017 Puja Vidhi Hindi,उगादि, गुड़ी पड़वा, Happy Gudi Padwa 2017, happy ugadi,Ugadi, गुडी पडवा, गुडी पाड़वा २०१७, Maratha New Year, Gudi Padwa Tithi In Hindi, gudi padwa information in marathiGudi Padwa 2017: पंचांगों की अलग-अलग गणना के कारण रामनवमी भी इस बार दो दिन मनाई जाएगी। (photo source – PTI)

आज(28 मार्च) देश में गुड़ी पड़वा का त्यौहार मनाया जा रहा है। इस त्यौहार को विशेष रुप से गोवा और मराठी लोग मनाते हैं। आज इस त्यौहार को मराठी समाज के लोग मनाएंगे तो वहीं कल(29 मार्च) को दूसरे समाज के लोग मनाएंगे। एक त्यौहार को दो अलग- अलग दिनों में मनाने का कारण है पंचाग में दी गई तिथियां हैं। इस त्यौहार के मनाने के पिछे कई लोगों की अलग- अलग राय है लेकिन पौराणिक कथाओं में कहा जाता है कि भगवान ब्रह्मा ने इस दिन ब्रह्मांड बनाया था और मानव सभ्यता की शुरुआत हुई थी। माना जाता है कि चैत्र माह से हिन्दुओं का नववर्ष आरंभ होता है।

इस त्यौहार का विशेष महत्व है। कहा जाता है कि यह दिन ‘वास्तु पूजा’ के लिए शुभ माना जाता है और नए कारोबार खोलने के लिए भी इस दिन को महत्वता दी जाती है। इस दिन महाराष्ट्र में कई सामुदायिक जुलूस भी निकालते हैं। इस त्यौहार से कई कहानियां भी जुड़ी हैं। उनमें से एक है “निर्माण का सिद्धांत”। इस दिन को लंका के राजा रावण को पराजित करने के बाद भगवान राम के अयोध्या लौटने का दिन भी कहा जाता है। इस दिन सूर्योपासना के साथ आरोग्य, समृद्धि और पवित्र आचरण की कामना की जाती है। इस दिन घर-घर में विजय के प्रतीक स्वरूप गुड़ी सजाई जाती है। उसे नवीन वस्त्राभूषण पहनाकर शक्कर से बनी आकृतियों की माला पहनाई जाती है।

इस दिन के बारे में कहा जाता है यह दिन लोगों को भौतिक और आध्यात्मिक रूप से समृद्ध बनाता है। इस दिन लोग लोग स्पेशल खाना खाते हैं। इस दिन सभी अपने घरों को साफ करते हैं। लोग अपने घरों के पास रेंजली डिजाइन भी करते हैं। वे नए कपड़े पहनते हैं और परिवार के समारोहों का आनंद लेते हैं।

इस दिन लोग अपने शरीर पर बेसन और तेल का उबटन लगाकर नहाना आदि से शुद्ध होते हैं एवं पवित्र होकर हाथ में गंध, अक्षत, पुष्प और जल लेकर भगवान ब्रह्मा के मंत्रों का उच्चारण करके पूजा करते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुड़ी पड़वा के अवसर पर महाराष्ट्र के लोगों को शुभकामनाएं दी। पीएम ने लिखा, “गुड़ी पड़वा के विशेष अवसर पर महाराष्ट्र के लोगों को बधाई देता हूं। मैं आने वाले साल में खुशी, अच्छे स्वास्थ्य और समृद्धि की कामना करता हूं। “

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गुड़ी पड़वा 2017: मराठी नववर्ष गुड़ी पड़वा के मौके पर अपनों को इस तरह दें शुभकामनाएं और बधाई
2 अक्सर ‘शेर खान’ और ‘टाइगर’ कहकर पत्नी का जिक्र करते हैं चीफ जस्टिस जे एस केहर
3 उगादि पर्व 2017: तेलुगु नववर्ष उगादि के मौके पर अपनों को इस तरह दें शुभकामनाएं और बधाई
ये पढ़ा क्या?
X