ताज़ा खबर
 

आदित्य हत्याकांड मामला: पुलिस का वादा- स्पीडी ट्रायल कराकर आरोपी जदयू नेता के बेटे को सजा दिलवाएंगे

पुलिस ने बताया कि मुख्य आरोपी रॉकी यादव को मंगलवार (10 मई) को प्रात: गिरफ्तार करते हुए उसके पास से इस हत्या में इस्तेमाल पिस्तौल बरामद करने के साथ 19 कारतूस जब्त किए गए हैं।

Author पटना | May 11, 2016 6:29 AM
फोटो मृतक के कार की है, आदित्य सचदेव इनसेट में।

बिहार के गया जिला में गत 6-7 मई की रात्रि में आदित्य कुमार सचदेवा नामक युवक की गोली मारकर हत्या मामले के गिरफ्तार आरोपी और सत्ताधारी पार्टी जदयू की पार्षद मनोरमा देवी के पुत्र राकेश रंजन यादव उर्फ रॉकी यादव को पुलिस ने स्पीडी ट्रायल कराकर सजा दिलवाने का मंगलवार (10 मई) को वादा किया। अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) सुनील कुमार ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया कि गया की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को इस मामले का स्पीडी ट्रायल कराने को कहा गया है। इस मामले में जांच अभी भी जारी है जिसे तीन सप्ताह के भीतर पूरा कर लिया जाएगा तथा आरोपपत्र संबंधित अदालत में एक महीने के भीतर समर्पित कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस मामले के मुख्य आरोपी रॉकी यादव को मंगलवार (10 मई) को प्रात: गिरफ्तार करते हुए उसके पास से इस हत्या में इस्तेमाल पिस्तौल बरामद करने के साथ 19 कारतूस जब्त किए गए हैं। गत 6-7 मई की रात्रि में गया जिला के रामपुर थाना अंतर्गत पुलिसलाइन के समीप 20 वर्षीय युवक आदित्य कुमार सचदेवा की वाहन ओवरटेक करने को लेकर हुए विवाद के दौरान रॉकी ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

HOT DEALS
  • Sony Xperia XZs G8232 64 GB (Ice Blue)
    ₹ 34999 MRP ₹ 51990 -33%
    ₹3500 Cashback
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 16230 MRP ₹ 29999 -46%
    ₹2300 Cashback

गया जिला की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक के रॉकी यादव को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के दावे के कुछ ही देर बाद रॉकी के मीडियाकर्मियों से बातचीत के दौरान अपने को निर्दोष बताते हुए गोली चलाने से इंकार तथा गिरफ्तारी के बजाए आत्मसमर्पण किये जाने के दावे के बारे में पूछे जाने पर अपर पुलिस महानिदेशक ने कहा कि कोई भी आरोपी यह स्वीकार नहीं करता है कि उसने जुर्म किया है। मामले की अदालत में सुनवाई के दौरान उसे अपनी बात कहने का मौका मिलेगा। जहां तक पुलिस पक्ष की बात है तो हमारे पास उसके दोषी होने को लेकर प्रर्याप्त सबूत हैं। उन्होंने बताया कि इस मामले में घटनास्थल से एकत्रित किए गए एवं वैज्ञानिक साक्ष्य, इस वारदात में इस्तेमाल वाहन तथा सीआरपीसी की धारा 164 के तहत न्यायिक दंडाधिकारी के समक्ष रिकॉर्ड किए गए चश्मदीद गवाहों के बयान पुलिस के पास मौजूद हैं।

अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) सुनील कुमार ने बताया कि इस मामले में आरोपी रॉकी के पिता बिंदेश्वरी यादव और उनकी पत्नी मनोरमा देवी के सरकारी अंगरक्षक राजेश कुमार को गिरफ्तार कर सोमवार (10 मई) को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। रॉकी के एक अन्य सहयोगी, जो कि उस समय उसके वाहन में मौजूद था, की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी है। उन्होंने बताया कि वैज्ञानिक साक्ष्य जैसे फिंगर प्रिंट, हत्या में प्रयुक्त पिस्टल और कारतूस का इस्तेमाल जिसकी जांच के लिए फॉरेंसिक सार्इंस लैबरोट्री (एफएसएल) की टीम पटना से गया के लिए रवाना हो गई है तथा यह पुलिस साक्ष्य को संपुष्ट करने में मदद करेगा।

सुनील ने बताया कि पुलिस द्वारा गिरफ्तार राकी से हर पहलुओं से पूछताछ की जा रही है और उसे 24 घंटे के भीतर अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा तथा आगे की जांच के लिए उसे रिमांड पर दिए जाने का आग्रह किया जाएगा। यह पूछे जाने पर कि रॉकी ने कहां से हथियार का लाइसेंस प्राप्त किया। सुनील ने बताया कि इसे दिल्ली के वसंतकुंज से हासिल किया गया था। उन्होंने बताया कि हथियार का लाइसेंस सही है या फर्जी है। इसे दिल्ली स्थित आवासीय पता या फिर इसे जाली दस्तावेज के जरिए प्राप्त किया गया, इसकी जांच दिल्ली गई गया जिला की एक पुलिस टीम द्वारा की जा रही है। यह पूछे जाने पर कि इस मामले के मुख्य आरोपी रॉकी की मां मनोरमा देवी जिनके घर से सोमवार (10 मई) को पुलिस ने शराब की बोतल सहित कुछ अन्य सामग्री बरामद की थी, के खिलाफ पुलिस क्या कार्यवाही करने जा रही है, के जवाब में सुनील ने कहा कि इस मामले में बिंदेश्वरी यादव के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है तथा और उनके परिवार के अन्य सदस्यों का बयान रिकॉर्ड किए जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App