यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह का लंबी बीमारी के बाद निधन, लखनऊ के पीजीआई में ली अंतिम सांस

शनिवार को उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह का निधन हो गया।

कल्याण सिंह लंबे समय से बीमार चल रहे थे, हाल ही में कई बीजेपी नेताओं ने अस्पताल जाकर उनके स्वास्थ्य का जायजा लिया था। (फोटो- एएनआई)

उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व दिग्गज भाजपा नेता कल्याण सिंह का निधन शनिवार को हो गया। वे काफी दिनों से लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई ) में भर्ती थे। एसजीपीजीआई के द्वारा जारी बयान के अनुसार कल्याण सिंह का निधन सेप्सिस और मल्टी ऑर्गन फेल्योर की वजह से हुआ है।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्‍याण सिंह की स्थिति काफी समय से नाजुक बनी हुई थी और उनको जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था। कल्‍याण सिंह एसजीपीजीआई के क्रिटिकल केयर मेडिसिन, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी, एंडोक्रिनोलॉजी एवं कार्डियोलॉजी विभागों के वरिष्ठ चिकित्सकों की देखरेख में थे। 89 वर्षीय कल्याण सिंह को गत चार जुलाई को संक्रमण की वजह से एसजीपीजीआई के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। इससे पहले उनका इलाज डॉक्टर राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट में किया जा रहा था।

कल्याण सिंह के बिगड़े स्वास्थ्य की जानकारी मिलते ही उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपना गोरखपुर दौरा बीच में रद्द करके शनिवार को बीते 24 घंटे के अंदर दूसरी बार लखनऊ स्थित एसजीपीजीआई पहुंचे थे। इससे पहले शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वहां जाकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली थी।

कल्याण सिंह के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट कर दुख जताया है। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि मैं निशब्द हूं। कल्याण सिंह जी…राजनेता, अनुभवी प्रशासक, जमीनी स्तर के नेता और महान इंसान। उत्तर प्रदेश के विकास में उनका अमिट योगदान है। उनके पुत्र राजवीर सिंह से बात की और अपनी संवेदना व्यक्त की। ऊँ शांति।

एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा कि भारत के सांस्कृतिक उत्थान में उनके योगदान के लिए आने वाली पीढ़ियां हमेशा कल्याण सिंह जी की आभारी रहेंगी। वे भारतीय मूल्यों के प्रति दृढ़ थे और सदियों पुरानी परंपराओं पर गर्व करते थे। कल्याण सिंह जी ने समाज के वंचित तबके से आने वाले करोड़ों लोगों को आवाज दी। उन्होंने किसानों, युवाओं और महिलाओं के सशक्तिकरण की दिशा में कई प्रयास किए।

पढें अपडेट समाचार (Newsupdate News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट