ताज़ा खबर
 

मच्छर मारना रॉकेट साइंस नहीं: केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को राजधानी में डेंगू और चिकनगुनिया के मच्छरों से निजात के लिए फॉगिंग अभियान शुरू किया।
Author नई दिल्ली | September 23, 2016 01:14 am

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को राजधानी में डेंगू और चिकनगुनिया के मच्छरों से निजात के लिए फॉगिंग अभियान शुरू किया। महीने भर चलने वाले इस अभियान की शुरुआत करते हुए मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस प्रयास में आपस में हाथ मिला लें तो मच्छरों का मुकाबला करना कोई रॉकेट साइंस नहीं है।
मुख्यमंत्री आवास, 6, फ्लैगस्टाफ रोड से फॉगिंग की शुरुआत करते हुए केजरीवाल ने कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ताओं से इस अभियान में साथ जुड़ने का आह्वान किया। लेकिन साथ ही वह भाजपा शासित नगर निगमों पर निशाना साधने से नहीं चूके। केजरीवाल ने कहा ‘एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करने का कोई तुक नहीं है। मच्छर कांग्रेस, भाजपा और आप समर्थकों के बीच भेद नही करते, वे सभी को काटते हैं। यह हर साल होता है। इस बार एमसीडी ने अपना काम नहीं किया। मैं कारणों में नहीं जाऊंगा। सभी दलों को मिलकर मच्छरों का मुकाबला करने की जरूरत है। उनसे निजात पाना कोई रॉकेट साइंस नहीं है’।
दिल्ली सरकार के इस अभियान के तहत अक्तूबर अंत तक शहर की हर गली में हर दूसरे दिन फॉगिंग कराई जाएगी। इसके लिए गुरुवार से 200 फॉगिंग मशीनें लगाई गई हैं। 26 सितंबर से 600 फॉगिंग मशीनें मच्छरों के सफाए का काम करेंगी। हर राजनीतिक दल के कार्यकर्ताओं से यह तय करने की अपील करते हुए कि कोई क्षेत्र अभियान से अछूता न रह जाए, मुख्यमंत्री ने कहा, ‘लोग अनुरोध कर भी अपने घरों में दवा का छिड़काव करा सकते हैं’।
मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर एक महीने का प्रयोग सफल रहा तो फॉगिंग अभियान अगले साल अप्रैल-मई तक चलाया जाएगा। राजधानी में इस साल डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया से कम से कम 40 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं और करीब 4000 लोग उसकी चपेट में आए हैं।

क्या बोले केजरीवाल – मच्छर कांग्रेस, भाजपा और आप समर्थकों के बीच भेद नहीं करते, वे सभी को काटते हैं। यह हर साल होता है। इस बार एमसीडी ने अपना काम नहीं किया। मैं कारणों में नहीं जाऊंगा। सभी दलों को मिलकर मच्छरों का मुकाबला करने की जरूरत है। उनसे निजात पाना कोई रॉकेट साइंस नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.