ताज़ा खबर
 

गणतंत्र दिवस पर आई जीत की बहार, कोहली और गेंदबाजों की बदौलत जीता भारत

कोहली (नाबाद 90) ने तूफानी अर्धशतक जड़ने के अलावा सुरेश रैना (41) के साथ तीसरे विकेट के लिए रिकार्ड 134 रन की साझेदारी की जिससे भारत ने तीन विकेट पर 188 रन बनाए।

Author एडिलेड | January 27, 2016 12:28 AM
भारतीय बल्लेबाज विराट कोहली। (पीटीआई फाइल फोटो)

विराट कोहली के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के बाद गेंदबाजों के प्रभावी प्रदर्शन से भारत ने पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में मंगलवार को यहां ॉस्ट्रेलिया को 37 रन से हरा दिया। इस तरह भारत तीन मैचों की शृंखला में 1-0 से आगे हो गया है। कोहली (नाबाद 90) ने तूफानी अर्धशतक जड़ने के अलावा सुरेश रैना (41) के साथ तीसरे विकेट के लिए रिकार्ड 134 रन की साझेदारी की। इससे भारत ने तीन विकेट पर 188 रन बनाए जो ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर उसका सर्वोच्च स्कोर है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया में भारत का सर्वाधिक स्कोर छह विकेट पर 140 रन था, जो उसने मेजबान टीम के खिलाफ फरवरी 2012 को सिडनी में बनाया था। इस मैदान पर किसी टीम का सर्वाधिक स्कोर इंग्लैंड के नाम था जिसने जनवरी 2011 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नौ विकेट पर 158 रन बनाए थे।

ऑस्ट्रेलिया की टीम पदार्पण कर रहे दो युवा गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह (23 रन पर तीन विकेट) और हार्दिक पांड्या (37 रन पर दो विकेट) के अलावा रविंद्र जडेजा (21 रन पर दो विकेट) और रविचंद्रन अश्विन (28 रन पर दो विकेट) की उम्दा गेंदबाजी के सामने 19.3 ओवर में 151 रन पर ढेर हो गई। आशीष नेहरा ने भी एक विकेट चटकाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से कप्तान आरोन फिंच से सर्वाधिक 44 रन बनाए।

एडिलेड ओवल में यह ऑस्ट्रेलिया की तीन मैचों में लगातार तीसरी हार है। शृंखला का दूसरा मैच मेलबर्न में 29 जनवरी को खेला जाएगा। लक्ष्य का पीछा करने उतरे ऑस्ट्रेलिया को फिंच ने तूफानी शुरुआत दिलाई। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगभग पांच साल बाद वापसी कर रहे नेहरा की पहली गेंद पर फिंच ने चौका जड़ने के बाद अगले ओवर में अश्विन पर चौका और छक्का मारा। वार्नर ने भी नेहरा के दूसरे ओवर में लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बुमराह को चौथे ओवर में गेंद थमाई और उन्होंने अपने दूसरे ओवर ही पहली गेंद पर ही डेविड वार्नर (17) को मिड आन पर कोहली के हाथों कैच करा दिया। स्टीव स्मिथ ने आते ही बुमराह पर दो चौके मारे। तेज गेंदबाज पांड्या ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत लगातार तीन वाइड के साथ की जबकि उनके इस ओवर में फिंच ने छक्का भी जड़ा।

जडेजा ने इसके बाद स्मिथ (21) को एक्सट्रा कवर में कोहली के हाथों कैच कराया जबकि अश्विन ने अगले ओवर फिंच को पगबाधा आउट किया। फिंच ने 33 गेंद की अपनी पारी में चार चौके और दो छक्के जड़े। जडेजा ने पदार्पण कर रहे ट्रेविस हेड (02) को पगबाधा आउट कर ऑस्ट्रेलिया का स्कोर चार विकेट पर 93 रन किया। शेन वाटसन (12) ने युवराज सिंह का स्वागत छक्के के साथ किया लेकिन अश्विन के अगले ओवर में वह गेंद को हवा में लहरा गए और नेहरा ने शार्ट फाइन लेग पर कैच लपका। क्रिस लिन (17) ने पांड्या पर छक्का जड़ा लेकिन इसी ओवर की अंतिम गेंद पर युवराज को एक्सट्रा कवर पर कैच देकर इस तेज गेंदबाज का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पहला शिकार बने। ऑस्ट्रेलिया को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 65 रन की दरकार थी लेकिन उसने 27 रन जोड़कर अपने बाकी चार विकेट भी गंवा दिए। इस तरह भारत ने गणतंत्र दिवस पर यादगार जीत दर्ज की।

इससे पहले कोहली ने 55 गेंद की अपनी पारी में नौ चौके और दो छक्के जड़े। रैना ने भी 34 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके और एक छक्का मारा। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 134 रन जोड़े जो इस विकेट के लिए भारतीय रिकार्ड और टीम की ओर से तीसरी सर्वोच्च साझेदारी है। आॅस्ट्रेलिया की ओर से टीम में वापसी कर रहे अनुभवी शेन वॉटसन ने 24 रन देकर दो विकेट चटकाए लेकिन शान टैट (बिना विकेट विकेट के 45 रन), जेम्स फाकनर (एक विकेट पर 43 रन) और केन रिचर्डसन (बिना किसी विकेट के 41 रन) महंगे साबित हुए।

फिंच ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। एकदिवसीय शृंखला में मैन आफ द सीरीज रहे रोहित शर्मा ने क्रीज पर उतरते ही फिर अपने तेवर दिखाए। लगभग पांच साल बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर रहे शान टैट के पहले ही ओवर में रोहित ने चौका और फिर छक्का जड़ा। रोहित ने उनके अगले ओवर में दो और चौके मारे। जेम्स फाकनर के ओवर में रोहित को थर्ड मैन पर कैमरन बायस ने जीवनदान दिया लेकिन वाटसन के पहले ओवर की पहली गेंद पर ही यह बल्लेबाज मिड आन पर फाकनर को कैच दे बैठा। उन्होंने 20 गेंद में चार चौकों और एक छक्के की मदद से 31 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (05) भी इसी ओवर में विकेटकीपर मैथ्यू वेड को कैच दे बैठे। इससे भारत का स्कोर दो विकेट पर 41 रन हो गया।

कोहली और रैना ने इसके बाद मोर्चा संभाला। दोनों ने टैट पर चौके मारे। रैना इस बीच 17 रन बनाते ही कोहली के बाद टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 1000 रन पूरे करने वाले दूसरे भारतीय और कुल 22वें बल्लेबाज बने। उन्होंने अपने 47वें मैच में यह उपलब्धि हासिल की। कोहली ने 12वें ओवर में लेग स्पिनर बायस पर लांग आफ पर छक्के से रैना के साथ अर्धशतकीय साझेदारी पूरी की। वॉटसन के अगले ओवर में भारत का रनों का शतक पूरा हुआ।

कोहली इस बीच अच्छी लय में दिखे। उन्होंने ट्रेविस हेड और वॉटसन चौकों के बाद केन रिचर्डसन पर लगातार दो चौके और फिर दो रन के साथ 32 गेंद में अपना 10वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने 73 गेंद में रैना के साथ शतकीय साझेदारी पूरी की। कोहली और रैना की तूफानी पारी से भारत ने अंतिम सात ओवर में 82 रन जोड़े। रैना फाकनर के पारी के अंतिम ओवर में बोल्ड हुए। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी तीन गेंद में नाबाद 11 रन बनाए।

स्कोर बोर्ड

ऑस्ट्रेलिया: आरोन फिंच पगबाधा बो अश्विन 44, डेविड वार्नर का कोहली बो बुमराह 17, स्टीवन स्मिथ का कोहली बो जडेजा 21, ट्रेविस हेड पगबाधा बो जडेजा 02, क्रिस लिन का युवराज बो पांड्या 17, शेन वॉटसन का नेहरा बो अश्विन 12, मैथ्यू वेड का जडेजा बो पांड्या 05, जेम्स फाकनर बो बुमराह 10, केन रिचर्डसन बो नेहरा 09, कैमरन बायस का पांड्या बो बुमराह 03, शान टैट नाबाद 01, अतिरिक्त: 10 रन। कुल : 19.3 ओवर में तीन विकेट पर: 151 रन।

विकेट पतन : 1-47, 2-89, 3-89, 4-93, 5-110, 6-124, 7-129, 8-143, 9-149

गेंदबाजी : नेहरा 4-0-30-1,अश्विन 4-0-28-2, बुमराह 3.3-0-23-3, जडेजा 4-0-21-2, पांड्या 3-0-37-2, युवराज 1-0-10-0

भारत : रोहित शर्मा का फाकनर बो वॉटसन 31, शिखर धवन का वेड बो वाटसन 05, विराट कोहली नाबाद 90
सुरेश रैना बो फाकनर 41, महेंद्र सिंह धोनी नाबाद 11, अतिरिक्त: 10 रन। कुल : 20 ओवर में तीन विकेट पर: 188 रन।

विकेट पतन: 1-40, 2-41, 3-175,

गेंदबाजी : टैट 4-0-45-0, रिचर्डसन 4-0-41-0, फाकनर 4-0-43-1, वॉटसन 4-0-24-2, बायस 3-0-23-0, हेड 1-0-9-0

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App