ताज़ा खबर
 

बलात्कार के जुर्म में महमूद फारूकी को 7 साल की कैद

चर्चित फिल्म ‘पीपली लाइव’ के सह-निर्देशक महमूद फारूकी को दिल्ली की एक अदालत ने एक अमेरिकी शोधकर्ता से पिछले साल यहां बलात्कार करने के मामले में सात साल के कैद की सजा सुनाई।
Author नई दिल्ली | August 5, 2016 02:02 am

चर्चित फिल्म ‘पीपली लाइव’ के सह-निर्देशक महमूद फारूकी को दिल्ली की एक अदालत ने एक अमेरिकी शोधकर्ता से पिछले साल यहां बलात्कार करने के मामले में सात साल के कैद की सजा सुनाई। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संजीव जैन ने इस अपराध के लिए तय न्यूनतम सजा फारूकी को सुनाई। फारूकी को हिरासत में अदालत में पेश किया गया था।

अदालत ने 44 साल के फिल्मकार पर 50 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया। वह राशि पीड़ित को दी जाएगी। ऐसा करने में नाकाम रहने पर उन्हें तीन महीने के अतिरिक्त कैद की सजा काटनी होगी। अदालत ने दिल्ली विधि सेवा प्राधिकरण से महिला के लिए उचित मुआवजे पर फैसला करने को कहा। अदालत ने 30 जुलाई को फारूकी को पिछले साल अमेरिकी महिला से अपने घर में नशे की हालत में बलात्कार करने का दोषी ठहराया था। सजा पर दलील के दौरान दिल्ली पुलिस ने फिल्मकार के लिए आजीवन कारावास की सजा की मांग की थी। अदालत ने कहा कि विदेशी के साथ अपराध से भारत की बदनामी हुई है।

फारूकी के वकील नित्य रामकृष्णन ने सजा में नरमी की मांग करते हुए कहा था कि फिल्मकार ने मामले में पूरी तरह सहयोग किया और उसे सुधरने का एक मौका दिया जाना चाहिए। फारूकी के लिए कड़ी से कड़ी सजा की मांग करते हुए शिकायतकर्ता की वकील वृंदा ग्रोवर ने कहा था कि विदेशी महिला (पीड़िता) यहां शोध कार्य के लिए आई थी लेकिन जिस व्यक्ति को वह जानती थी, उसने उसके साथ बलात्कार किया। वह उसका मित्र था और उसपर उसने विश्वास किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App