ताज़ा खबर
 

एलिवेटेड पार्किंग करेगी मेट्रो की मुश्किल दूर

शहर में कम होती खाली जगह की समस्या से दिल्ली की मेट्रो भी अछूती नहीं। इसके चलते डीएमआरसी मेट्रो ट्रेनों की पार्किंग की समस्या से काफी दिनों से जूझ रहा था।

Author नई दिल्ली | July 9, 2016 01:21 am
दिल्ली मेट्रो।

शहर में कम होती खाली जगह की समस्या से दिल्ली की मेट्रो भी अछूती नहीं। इसके चलते डीएमआरसी मेट्रो ट्रेनों की पार्किंग की समस्या से काफी दिनों से जूझ रहा था। लेकिन अब इस समस्या का हल निकाल लिया गया है। ट्रेनों की पार्किंग के लिए डीएमआरसी एलिवेटेड पार्किंग की नई तकनीक पर काम कर रही है। जिसका निर्माण कार्य पूरा होने के बाद यहां एक साथ 27 मेट्रो ट्रेनों को आसानी से पार्क किया जा सकेगा।

मेट्रो अधिकारियों ने बताया कि डीएमआरसी कालिंदी कुंज डिपो के नजदीक जनकपुरी वेस्ट-बॉटेनिकल गार्डेन कॉरिडोर को जोड़ते हुए जसोला विहार के पास एलिवेटेड पुल का निर्माण कर रहा है। यहां मेट्रो ट्रेनें रात के वक्त खड़ी की जाएंगी। यह पुल कांलिदी कुंज डिपो की पहली लाइन से जोड़ते हुए बनाया जा रहा है। इस पुुल का निर्माण काफी ऊंचाई पर होगा और इसकी चौड़ाई 30 से 40 मीटर होगी। डीएमआरसी के मुताबिक मेट्रो की मरम्मत का कार्य डिपो में ही किया जाएगा।

दरअसल, कालिंदी कुंज डिपो में जगह की कमी थी। जिसके कारण डीएमआरसी को इस तरह के पुल का निर्माण करने की जरूरत पड़ी है। कांलिंदी डिपों में 21 मेट्रो ट्रैक बिछाए गए हैं। जिन पर जनकपुरी वेस्ट-बॉटेनिकल गार्डेन रूट पर चलने वाली सभी मेट्रो ट्रेनों को खड़ा करना फिलहाल संभव नहीं हो पा रहा है। डीएमआरसी का कहना है अभी उनका फोकस तीसरे फेज में बिना ड्राइवर की मेट्रो और एलिवेटेड पार्किंग की नई तकनीक पर है।

एयरपोर्ट के लिए सीधी मेट्रो

दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरशनतीसरे चरण की निर्माण परियोजनाओं को जल्द ही पूरा करने वाला है। इसी के साथ इंदिरा गांधी एयरपोर्ट की घरेलू सेवाओं के लिए मेट्रो सुविधा भी मिल जाएगी। डीएमआरसी की माने तो यह स्टेशन अन्य मेट्रो स्टेशनों के मुकाबले  कहीं ज्यादा आकर्षक बनाए जा रहे हैं। इस भूमिगत एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन का डिजाइन, ग्रेनाइट पत्थर, स्टील, रंग-बिरंगी पट्टी से आकर्षक बनाया जाएगा। इस निर्माण के पूरा होने के बाद लोगों को घरेलू उड़ान के लिए सीधा मेट्रो संपर्क  भी मिल जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App