ताज़ा खबर
 

दिल्ली में जाट फिर करेंगे चक्का जाम, मेट्रो पर भी पड़ेगा असर, गृह मंत्रालय ने धारा 144 लगाने को कहा

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने अपनी मांगों को लेकर जोर देने के लिए 20 मार्च से संसद का घेराव करने की धमकी दी है।

Author March 18, 2017 9:34 PM
खट्टर केन्द्रीय कानून एवं न्याय राज्य मंत्री पीपी चौधरी और केन्द्रीय मंत्री बीरेन्द्र सिंह के साथ जाट नेताओं से बात करेंगे। (Photo Source: PTI)

जाटों के दिल्ली में प्रदर्शन से पहले केंद्र ने दिल्ली और इसके पड़ोसी राज्यों की पुलिस को आंदोलनकारियों को राष्ट्रीय राजधानी की सीमा पर पहुंचने से पहले ही रोकने का निर्देश दिया है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक परामर्श में दिल्ली पुलिस और हरियाणा, उत्तर प्रदेश तथा राजस्थान की सरकारों को जाट प्रदर्शनकारियों को राष्ट्रीय राजधानी में पहुंचने से रोकने के लिए धारा 144 लगाने को कहा है। दरअसल, जाट प्रदर्शनकारियों ने नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण की मांग करते हुए दिल्ली में प्रदर्शन करने की धमकी दी है। परामर्श में कहा गया है, ‘प्रदर्शनकारियों को दिल्ली में पहुंचने से पहले गिरफ्तार किया जाए या हिरासत में लिया जाए, प्रदर्शनकारियों को ले जाने वाली बसों को राजमार्गो पर आने की अनुमति नहीं दी जाए और ट्रैक्टर ट्राली की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया जाए।’

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने अपनी मांगों को लेकर जोर देने के लिए 20 मार्च से संसद का घेराव करने की धमकी दी है। गृह मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने जाटों की धमकी के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी और पड़ोसी राज्यों में सुरक्षा हालात की समीक्षा भी की है। केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में कानून व्यवस्था की स्थिति का बुधवार को इन चारों राज्यों के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ जायजा लिया था।

उन्होंने अधिकारियों को प्रदर्शन के दौरान शांति सुनिश्चित करने और जनजीवन में खलल की कोशिशों को रोकने को कहा। समिति के अध्यक्ष यशपाल मलिक ने कहा है कि जाट अपने ट्रैक्टर और छोटे वाहनों के साथ हैं तथा वे कम से कम 10 दिनों का राशन लेकर पड़ोसी राज्यों से राजमार्गों के जरिए दिल्ली की ओर मार्च करेंगे।

जाट आरक्षण की मांग को लेकर 20 मार्च को दिल्ली घेराव के मद्देनजर मेट्रो का परिचालन भी आंशिक तौर पर प्रभावित रहेगा। दिल्ली पुलिस ने दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन :डीएमआरसी: से 20 मार्च को मेट्रो का परिचालन दिल्ली सीमा से बाहर एनसीआर के नोएडा, फरीदाबाद और गुड़गांव में नहीं करने को कहा है। डीएमआरसी के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस के अनुरोध पर रविवार रात 11:30 बजे से मेट्रो का परिचालन सिर्फ दिल्ली शहर तक सीमित रहेगा। वहीं केन्द्रीय सचिवालय, पटेल चौक और राजीव चौक सहित मध्य दिल्ली के 12 स्टेशन रविवार रात 8 बजे से अग्रिम आदेश तक बंद रहेंगे। जाट आंदोलन के मद्देनजर कानून व्यवस्था की स्थिति को बरकरार रखने के लिए यह फैसला किया गया है।

गौरतलब है कि जाट सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में आरक्षण की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा समुदाय के कई युवाओं के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामले वापस लेने की भी मांग कर रहे हैं। वे जेल में कैद लोगों को रिहा करने और पिछले साल के आंदोलन के दौरान मारे गए लोगों के निकट परिजनों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण एवं मुआवजा देने की भी मांग कर रहे हैं।

देखिए वीडियो - जाट आरक्षण आंदोलन: हाईकोर्ट ने माना मुरथल में हुआ था बलात्कार, SIT से दोषी और पीड़ितों को खोजने को कहा

ये वीडियो भी देखिए - दिल्ली: मेट्रो स्मार्टकार्ड में बचे पैसे 1 अप्रैल से नहीं होंगे रिफंड

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App