ताज़ा खबर
 

गर्मी से राहत देने वाली बारिश, ट्रैफिक के लिए फिर बनी आफत

शनिवार की भारी बारिश के बाद तरबतर हुई दिल्ली के लोगों के लिए आज भी बारिश एक बार फिर आफत बनकर बरसी और कई इलाकों में पानी जमा होने के चलते वाहन थम गए।

Author नई दिल्ली | July 18, 2016 2:27 PM
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक तौर पर

शनिवार की भारी बारिश के बाद तरबतर हुई दिल्ली के लोगों के लिए आज भी बारिश एक बार फिर आफत बनकर बरसी और कई इलाकों में पानी जमा होने के चलते वाहन थम गए। आईआईटी-दिल्ली और मुनीरका के बीच, मोती बाग, चिराग दिल्ली, साकेत, मोदी मिल, मूलचंद, साउथ एक्सटेंशन, युसूफ सराय, एम्स, लोधी रोड, एंड्रूज गंज, ग्रेटर कैलाश, नेहरू प्लेस और जसोला के बीच पानी जमा हो जाने के कारण दक्षिण दिल्ली में यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ।

शनिवार सुबह भारी बारिश के कारण राष्ट्रीय राजधानी की भागदौड़ भरी जिंदगी की रफ्तार थम सी गई थी। इन हालात के लिए स्थानीय निकायों ने एक दूसरे को जिम्मेदार ठहराया था।

सुबह सवेरे काम धंधे पर निकले लोगों को फ्लाईओवरों के मुहाने पर, अंडरपास और निचले इलाकों में भरे पानी ने खासा परेशान किया। पूसा रोड, आनंद पर्वत, मुंडका, जनपथ, नारायणा, मायापुरी, जखीरा फ्लाईओवर, वजीराबाद, बदरपुर बॉर्डर, वजीराबाद, ओखला, पालम फ्लाईओवर, द्वारका के सेक्टर छह और सात, नजफगढ और पीरागढ़ी में और आसपास के कई इलाकों में गाड़ियों की लंबी कतारें देखने को मिली। यातायात विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि गुड़गांव-धौलाकुआं सड़क पर एक पेड़ गिर जाने के कारण जाम लगा।

दिल्ली में आज सुबह भारी बारिश हुई और न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकारी ने बताया कि सफदरजंग और लोधी रोड वेधशालाओं में क्रमश: 26.3 मिमी और 30.2 मिमी बारिश दर्ज की गई। पालम वेधशाला ने 8.1 मिमी बारिश दर्ज की जबकि आयानगर में 7.3 मिमी और रिज क्षेत्र में 0.8 मिमी बारिश दर्ज की गई।

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि आज सुबह साढ़े आठ बजे तक न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस और आर्द्रता 100 फीसदी दर्ज की गई।
मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने दिन में और बारिश होने की भविष्यवाणी की है, जबकि अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 30 डिग्री सेल्सियस और 27 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।कल, अधिकतम तापमान 30.1 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। आर्द्रता 81 और  97 फीसदी के बीच रही।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App