ताज़ा खबर
 

मध्य प्रदेश के मंत्री का बीजेपी पर तंज, कहा- कुत्ते जैसी मानसिकता है उनकी…

बीजेपी ने मध्य प्रदेश सरकार के अस्थिर होने का दावा किया था। इसपर सज्जन सिंह ने कहा कि पहले एक मुंगेरीलाल होते थे, अब 5-6 बीजेपी में हो गए हैं।शिवराज सिंह चौहान, कैलाश विजयवर्गीय, नरोत्तम मिश्रा , गोपाल भार्गव, भुपेंद्र सिंह को हसीन सपने देखने की आदत है , उनके आरोपों से क्या होता है।

Author भोपाल | July 15, 2019 9:43 PM
कांग्रेस के नेता सज्जन सिंह वर्मा ने बीजेपी के नेताओं को लेकर विवादित बयान दिया है।

मध्य प्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी के बीच शब्दों के बाण चलते नजर आ रहे हैं। कांग्रेस के नेता सज्जन सिंह वर्मा ने बीजेपी के नेताओं को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने बीजेपी नेताओं को कुत्ते जैसी मानसिकता वाला बताया। हाल ही में गृह विभाग में तैनात खोजी कुत्तों का तबादला किया गया था, जिसको लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेताओं ने कांग्रेस सरकार पर तंज कसा था।
इसके जवाब में बीजेपी विधायक रामेश्वर वर्मा ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘अगर सज्जन सिंह वर्मा हमें कुत्ता कह रहे हैं तो हम उन्हें कहना चाहते हैं कि हां हम कुत्ते हैं। हम मध्य प्रदेश की जनता के वफादार कुत्ते हैं।

बीजेपी ने मध्य प्रदेश सरकार के अस्थिर होने का दावा किया था। इसपर सज्जन वर्मा ने कहा कि पहले एक मुंगेरीलाल होते थे, अब 5-6 बीजेपी में हो गए हैं।शिवराज सिंह चौहान, कैलाश विजयवर्गीय, नरोत्तम मिश्रा , गोपाल भार्गव, भुपेंद्र सिंह को हसीन सपने देखने की आदत है , उनके आरोपों से क्या होता है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार द्वारा राज्य भर में 46 पुलिस डॉग और उनके हैंडलरों का तबादला कर दिया गया था जिसको लेकर बीजेपी ने तंज कसा था। बीजेपी के विधायक रामेश्वर वर्मा की तरफ से ट्वीट करते हुए लिखा था। ‘हाय रे बेदर्दी कांग्रेस सरकार कुत्तो को तो छोड़ देते … ! पुलिस विभाग ने किए कुत्तो के थोकबंद तबादले । कांग्रेस की कमलनाथ सरकार का वश चले और कोई माल देने वाला मिल जाए तो वो जमीन और आसमान का स्वयं के व्यय पर तबादला कर दे ।’ जिसके बाद कांग्रेस की तरफ से ऐसा बयान आया था।बता दें कि सज्जन सिंह पहले भी अपने बयानों को लेकर विवादों में रह चुके हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान हेमा मालिनी को लेकर भी विवादित बयान दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App