ताज़ा खबर
 

वसंत विहार के मॉडर्न स्कूल में बम लगाए जाने की फोन पर धमकी

दक्षिणी दिल्ली में वसंत विहार इलाके के मार्डन स्कूल में बम लगाए जाने का फोन मिलने के बाद स्कूल को छात्रों और कर्मचारियों से खाली करवा लिया गया।

Author नई दिल्ली | March 4, 2016 2:17 AM
दिल्ली के मॉडर्न स्कूल की फाइल फोटो

दक्षिणी दिल्ली में वसंत विहार इलाके के मार्डन स्कूल में बम लगाए जाने का फोन मिलने के बाद स्कूल को छात्रों और कर्मचारियों से खाली करवा लिया गया। हालांकि बाद में यह सूचना सिर्फ अफवाह साबित हुई।

दिल्ली के अग्निशमन सेवा के अधिकारियों के मुताबिक यह फोन करीब 1:15 बजे आया, जिसके बाद अग्निशमन दल को स्कूल भेजा गया और छात्रों और अध्यापकों को स्कूल से बाहर निकाला गया। बम निरोधक दस्ते ने स्कूल का अच्छी तरह से परीक्षण किया। करीब तीन बजे दिल्ली पुलिस ने इसे अफवाह करार दिया। पुलिस फोन करने वाले का सुराग लगाने में लगी है।

पुलिस सूत्र ने बताया कि लैंडलाइन नंबर पर फोन किया गया था। जिसके बाद स्कूल प्राधिकरण ने पुलिस को इसकी सूचना दी। जल्द ही स्कूल को बंद कर दिया गया और छात्रों और अध्यापकों से स्कूल खाली करवाया गया। पुलिस उपायुक्त के मुताबिक वसंत विहार के मार्डन स्कूल में एक बम होने का फोन आया। जिसके बाद सहायक पुलिस आयुक्त और थाना प्रभारी को स्कूल भेजा गया। अध्यापकों और छात्रों की मदद से पूरा स्कूल खाली कराया गया। बम-रोधी दस्ते ने पूरे स्कूल की तलाशी ली। अब स्थिति सामान्य है।

सड़क हादसे में सैनिक की मौत : नई दिल्ली कैंट इलाके में सड़क हादसे में साइकिल से जा रहे सेना के जवान की मौत हो गई। हादसे में जान गंवाने वाले सेना के जवान का नाम राम स्वरूप राजपूत है। वे असम रेजिमेंट में नायक पद पर तैनात थे। राम स्वरूप के परिवार में उनकी पत्नी और दो साल की बेटी है। आरोपी शख्स को गिरप्तार कर लिया गया है। मौके पर पहुंची पुलिस राम स्वरूप को फौरान नजदीकी अस्पताल ले गई, जहां कुछ देर के इलाज के बाद उन्होंने दम तोड़ दिया।

जानकारी के मुताबिक हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलने के चलते फैली हिंसा के बाद राज्य में सेना की तैनाती की गई थी। राजपूत भी पानीपत और हिसार में जिले में तैनात रहे। राजपूत हाल में हरियाणा से वापस अपनी यूनिट में लौटे थे। हादसा बुधवार को क्रिवी पैलस के पास लाल बत्ती पर हुआ। अचानक पीछे से आॅडी कार ने जवान की साइकिल को टक्कर दे मारी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App