ताज़ा खबर
 

बॉलीवुड एक्टर कमाल आर खान ने किया नरेश अग्रवाल का बचाव, कहा- बात आस्था की होती तो सूअर की भी पूजा होती

कमाल खान ने गोवा में बीफ के मुद्दे पर पर भी लिखा कि बात आस्था की होती तो रोजाना सैकड़ों गायें गोवा में ना मरती।
बॉलीवुड कलाकार कमाल राशिद खान उर्फ केआरके (Source: Facebook/KRK)

अपने विवादित बयानों से हमेशा चर्चा में रहने वाले बॉलीवुड एक्टर कमाल राशीद खान ने नरेश अग्रवाल के संसद में दिये विवादित बयान पर उनका बचाव करते हुए कहा है कि बात आस्था की ही होती तो पूरे देश में सूअर की भी गाय की तरह पूजा होती क्योंकि वो भी तो विष्णु जी का अवतार है। कमाल खान ने ट्वीट करते हुए ये बात कही। कमाल खान ने सिर्फ यही एक ट्वीट नहीं किया, उन्होंने हिंदू आस्था पर एक के बाद एक लगातार 5 ट्वीट किये। आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद ने बुधवार को राज्यसभा में गोरक्षा के नाम पर भीड़ द्वारा हत्या (लिंचिंग) पर चर्चा में हिस्सा ले रहे थे, जिस दौरान उन्होंने सन् 1991 की एक घटना का जिक्र किया, जब वह उस स्कूल में गए, जिसे जेल में तब्दील कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि हिंदुओं के कुछ देवताओं के नामों को शराब की किस्मों से जोड़ा गया था और ये बातें स्कूल की दीवार पर लिखी हुई थीं। सत्ता पक्ष की तरफ इशारा करते हुए अग्रवाल ने कहा कि ये पंक्तियां ‘आपके लोगों’ द्वारा लिखी गई थीं। मंत्रियों सहित भाजपा के सदस्यों ने सपा सदस्य से माफी की मांग की और उन्होंने कहा कि वे किसी को भी ‘हिंदू देवी-देवताओं का अपमान’ नहीं करने देंगे।

 

सपा सांसद ने हंगामा बढ़ता देख माफी मांगते हुए कहा कि मेरा मकसद किसी की आस्था को चोट पहुंचाना नहीं था। इसी आस्था पर कमाल खान ने ट्वीट करते हुए चुटकी ली है। कमाल खान ने लिखा कि अगर बात आस्था की होती तो चूहे मारने वाली दवा पर रोक होती, आखिर वो भी तो गणेश जी का वाहन है। कमाल खान ने सिर्फ गणेश जी ही नहीं, भगवान शंकर, भगवान विष्णु और बजरंगबली का भी नाम लेते हुए आस्था की बात की है।

कमाल खान ने गोवा में बीफ के मुद्दे पर पर भी लिखा कि बात आस्था की होती तो रोजाना सैकड़ों गायें गोवा में ना मरती। बात सिर्फ देश में आपसी नफरत फैलाकर राजनीति करने की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. दर्शन Ac
    Jul 21, 2017 at 11:02 am
    सुअरोंको पता नहि, बराह देव कौन है। अगर मुस्लिम की सोच रखते तो आज सुअर दुनियामें नही रहता।। और पता नहि कौन सि सायकल कि जरिये हमारि मानव सायकल किस गढेमे ढूंढने पड़ते।। सुअरको इज्जत तो दे नहि सकते हो, उसकी पूजाकी बात छेड़ते हो।। शर्म है क्या मुस्लिम सोच वालो ??
    (0)(0)
    Reply