ताज़ा खबर
 

अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा शुरू, सीएम विजय रुपाणी ने सोने की झाड़ू लगाई और खींचा रथ

अहमदाबाद में थोड़ी ही देर में भगवान जगन्नाथ की 141वीं रथयात्रा निकलेगी। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी झाड़ू लगाकर रथयात्रा को रवाना करेंगे।

गुजरात के अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की यह 141वीं यात्रा है।

अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की 141वीं रथयात्रा शुरू हो गई है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने रथ के आगे झाड़ू लगाकर रथयात्रा का शुभारंभ किया। रुपाणी ने मंदिर पहुंचकर सबसे पहले पूजा-अर्चना की। फिर परंपरा का अनुसार रथ के आगे झाड़ू लगाकर रथयात्रा को रवाना किया। इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी रथयात्रा में शामिल होने अहमदाबाद पहुंचे। उन्होंने मंगला आरती में भी हिस्सा लिया। अहमदाबाद के अलावा ओडीशा के पुरी में भी आज रथयात्रा निकलेगी। पुरी में मदिर के कपाट सुबह 8 बजे खुलेंगे। वहा तकरीबन 15 लाख लोगों के जुटने की संभावना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर लोगों जगन्नाथ यात्रा की शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि भगवान जगन्नाथ की कृपा से देश नई ऊचाइयां प्राप्त करे।

रथयात्रा के लिए भगवान जगन्नाथ, बलराम और सुभद्रा के रथ तैयार कर लिए गए हैं। तीनों रथों को भव्य तरीके से सजाया गया है। 7 बजे से रथयात्रा शुरू हो जाएगी जो देर रात तक चलेगी। 15 किलोमीटर के लंबे रूट पर निकलने वाली रथयात्रा पर हाईडेफिनिशन कैमरे से नजर रखी जा रही है। लाखों लोग भगवान के दर्शन के लिए अहमदाबाद में जुटे हुए हैं।

गुजरात के अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की यह 141वीं यात्रा है। बता दें कि भगवान विष्णु के अवतार श्रीकृष्ण को ही भगवान जगन्नाथ कहा जाता है। रथयात्रा में भगवान के साथ उनके भाई बलभद्र और उनकी बहन सुभद्रा भी होते हैं। इनके लिए अलग-अलग तीन रथों की व्यवस्था होती है। तीनों रथों को भव्य तरीके से सजाया गया होता है। रथयात्रा से पहले झाड़ू लगाने की परंपरा को पहिंद विधि कहा जाता है। यह भगवान के स्वागत की एक परंपरा है, जिसे प्रदेश के मुख्यमंत्री निभाते हैं। रथयात्रा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रसाद भिजवाया है। गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए मोदी हर साल रथयात्रा में शामिल होते थे। मोदी ने अब तक 13 बार जगन्नाथ मंदिर में झाड़ू लगाकर रथयात्रा को रवाना किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App