ताज़ा खबर
 

असम: कॉलेज शिक्षक ने दिल्ली हिंसा पर PM मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की, छात्रों ने करा दी FIR, प्रोफेसर गिरफ्तार

टीचर के खिलाफ 10 से ज्यादा छात्रों ने मामला दर्ज कराया, कहा- दो बार चुने गए पीएम के लिए कैसे कर सकते हैं आपत्तिजनक टिप्पणी

Author Translated By कीर्तिवर्धन मिश्र सिलचर | Updated: February 29, 2020 6:30 PM
टीचर के परिवार के मुताबिक, शुक्रवार को 40 से ज्यादा छात्र उनके घर के बाहर प्रदर्शन के लिए जुटे थे। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

असम के सिलचर में पुलिस ने एक प्रोफेसर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट डालने के लिए गिरफ्तार कर लिया। मामला सिलचर के गुरुचरण कॉलेज का है। यहां पढ़ाने वाले सौरदीप सेनगुप्ता पर आरोप है कि उन्होंने सनातन धर्म के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी की। इस मामले में कॉलेज के ही छात्रों ने एफआईआर दर्ज कराई। पुलिस ने शुक्रवार रात सौरदीप को गिरफ्तार कर लिया। कचार पुलिस के एसपी मनबेंद्र देव राय के मुताबिक, “टीचर को फेसबुक पर असमाजिक कमेंट करने के लिए गिरफ्तार किया गया। इससे सांप्रदायिक तनाव बढ़ने के आसार थे।” पुलिस ने उन पर आईपीसी की धारा 295(ए), 153(ए), 507 और आईटी एक्ट की धारा 66 के तहत एफआईआर दर्ज की।

टीचर के खिलाफ 10 छात्रों ने मिल कर शिकायत दर्ज कराई। इसमें कहा गया कि सौरदीप ने हिंदू समुदाय के खिलाफ भड़काऊ बयान देकर सांप्रदायिक हिंसा को बढ़ावा देने की कोशिश की। जीसी कॉलेज में फिजिक्स के लेक्चरर के तौर पर नियुक्त सौरदीप पर आरोप है कि उन्होंने उत्तर-पूर्व दिल्ली में हुई हिंसा के संबंध में पोस्ट के जरिए कहा था कि कुछ वर्ग देश की राजधानी में गोधरा के 2002 के दंगे जैसा माहौल खड़ा करना चाहते थे। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्पणी की।

सोशल मीडिया पर घेरे जाने के बाद सौरदीप ने गुरुवार को अपना पोस्ट डिलीट कर लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए माफी मांग ली थी। उन्होंने लिखा था- “मैंने सांप्रदायिक तौर पर संवेदनशील मामले में गैरजिम्मेदार बयान दिया। यह मेरे निर्णय में चूक थी। मेरा इरादा किसी भी धर्म की बेइज्जती करा नहीं था।”

छात्रों ने एफआईआर में सौरदीप पर धार्मिक भावनाएं आहत करने का आरोप लगाया। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

हालांकि, शुक्रवार दोपहर ही छात्रों ने एफआईआर दर्ज कराई और कॉलेज के प्रिंसिपल को ज्ञापन सौंपकर सौरदीप को तुरंत निलंबित करने की मांग की। एक शिकायतकर्ता ने कहा, “आखिर कैसे कोई टीचर हमारे धर्म का अपमान कर सकता है? आखिर कैसे कोई टीचर दो बार के चुने हुए प्रधानमंत्री के लिए आपत्तिजनक टिप्पणी कर सकता है?”

सौरदीप के घर में भी घुसे छात्रः सौरदीप के परिवार ने बताया कि शुक्रवार शाम को करीब 40 छात्र उनके घर के बाहर जुट गए और बयान के लिए माफी मांगने के लिए कहने लगे। उनकी आंटी स्वागता चौधरी ने कहा, “यह हमारे लिए डरावना माहौल था। वे हमसे गेट खुलवाकर सौरदीप के कमरे में चले गए। वे जय श्री राम के नारे लगा रहे थे। उन्होंने फेसबुक लाइव पर सौरदीप से माफी मांगने के लिए भी कहा।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चोर-बदमाशों की अब खैर नहीं, इनके स्टेशन पहुंचते ही पुलिस को चलेगा मालूम! Indian Railways देश भर में लागू करेगा ये सिस्टम
2 वरिष्ठ पत्रकार का दावा: दिल्ली दंगों पर पीएम मोदी और अमित शाह में थे मतभेद? ऐन मौके पर कराई गई अजित डोभाल की एंट्री
3 ‘मरो या मार डालो, जो भी आए काट डालो,’ वायरल हो रहा रागिनी तिवारी का दिल्ली में हिंसा भड़काने का कथित वीडियो
IPL 2020
X