अव्यवस्था और अशांति के खिलाफ कलात्मक कदम - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अव्यवस्था और अशांति के खिलाफ कलात्मक कदम

जिंदगी को जिंदादिली से जी रही लड़की को अगर खौफ से नहीं तोड़ पाए तो उसके चेहरे पर तेजाब फेंक दिया। फेंकने वाले लड़के की जिंदगी पर कोई असर नहीं पड़ा।

Author नई दिल्ली | July 16, 2016 4:52 AM

जिंदगी को जिंदादिली से जी रही लड़की को अगर खौफ से नहीं तोड़ पाए तो उसके चेहरे पर तेजाब फेंक दिया। फेंकने वाले लड़के की जिंदगी पर कोई असर नहीं पड़ा। लेकिन अपने चेहरे पर मर्दवादी जलन और झुलसन के साथ जीने वाली लड़की अपनी सांसों और सपनों के लिए मुकाबला कर रही है। श्रीराम सेंटर में दिशा क्रिएटिव डांस ग्रुप के कलाकारों ने जब लड़की के जलन को मंच पर उभारा तो दर्शक भी कुछ हद तक उस आग को महसूस कर रहे थे। दर्शक और मंच का यह साझापन ही कलाकारों की सफलता थी।

‘पीस एवं हारमोनी कंटेपररी नृत्य’ विषय पर हुए इस आयोजन में योग की मुद्राओं में ब्रह्मांड की शांति और आध्यात्मिकता दिखी। पृथ्वी पर फैली अव्यवस्था और अशांति के खिलाफ रंगमंचीय प्रस्तुति। और इसके लिए प्रतीक चुने गए अग्नि और जल। दिशा क्रिएटिव डांस ग्रुप ने डेढ़ घंटे के कार्यक्रम में कई तरह के संदेश दिए।

कलाकारों ने अग्नि और जल के विरोधाभास को रंगमंच पर उतारा। अग्नि में ऊर्जा, क्रोध और जुनून का भाव है। इसके विपरित जल शीतलता और शांति की बात करता है। रोशनी और संगीत के मिश्रण से इन दो विपरित भावों की जुगलबंदी मन को झकझोर रही थी। इसके साथ ही बंधुआ मजदूरी और मानव तस्करी पर आधारित प्रस्तुति में दिखाया गया कि गरीबी और अज्ञानता इंसान को किस गहरी खाई में धकेल सकते हैं। और, एकजुट लड़ाई ही इस समस्या का हल है। कलाकारों ने नृत्य के कंटेपररी शैली के जन्मदाता उदय शंकर जी को श्रद्धांजलि देने के लिए खास प्रस्तुति दी। इसके साथ ही नृत्य की विभिन्न विधाओं छऊ, कथक, कुचीपुड़ी, पश्चिमी शैली व समकालीन नृत्य शैलियों के फ्यूजन से मनमोहक प्रस्तुति दी।

पूरी प्रस्तुति में कलाकारों की ऊर्जा और शारीरिक लय ने दर्शकों को बांधे रखा। खासकर मंच पर प्रकाश परिकल्पना इस प्रस्तुति को नया अर्थ दे रही थी। कलाकारों की वेशभूषा भी प्रस्तुति के साथ कदमताल कर रही थी। सज्जा व कोरियोग्राफी में मंच पर बसु शर्मा की मेहनत साफ दिखाई दे रही थी। कार्यक्रम में संगीत भी बसु शर्मा ने ही दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App