ताज़ा खबर
 

इंडोनेशिया में मौत की सजा पाने वाले गुरदीप ने परिजनों से कहा, मेरा शव भारत मगंवा लेना

इंडोनेशिया में कथित रूप से नशे की तस्करी में मौत की सजा का सामना कर रहे भारतीय नागरिक गुरदीप सिंह ने अपनी पत्नी से कहा था कि 'मुझे गोली मार दी जाएगी और मेरा शव स्वदेश मंगवा लेना।'

Author जालंधर | July 29, 2016 06:49 am
(File Photo)

इंडोनेशिया में ड्रग जैसे नशीले पदार्थ की तस्करी में मौत की सजा का सामना कर रहे भारतीय नागरिक गुरदीप सिंह ने अपनी पत्नी से कहा था कि ‘मुझे गोली मार दी जाएगी और मेरा शव स्वदेश मंगवा लेना। जालंधर जिले के नकोदर इलाके में रहने वाली कुलविंदर कौर ने रूंधे गले से बताया, ‘भारतीय दूतावास के अधिकारी का आज फिर मेरे पास फोन आया था। इस बार आवाज मेरे पति की थी और उन्होंने मुझे कहा कि आज रात उन्हें गोली मार दी जाएगी और मैं उनका शव यहां मंगवा लूं।’

कुलविंदर ने 48 वर्षीय गुरदीप के साथ हुई बातचीत का हवाला देते हुए बताया, ‘मैं यहां ठीक हूं। आज रात यहां मुझे गोली मार दी जाएगी। मैं नहीं चाहता कि यहां रहूं। इसलिए मेरा शव वहीं मंगवा लेना।’ बाद में गुरदीप के हवाले से उसके भांजे गुरपाल ने बताया, ‘यहां गोली मारे जाने की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है। ताबूत आदि भी मंगवा लिए गए हैं। सूचना मिली है कि मौलवी, पादरी और पुजारी को भी बुलाया गया है। आज रात मुझे गाली मार दी जाएगी।’

परिवार पिछले 12 साल से इसी इंतजार में है कि गुरदीप को वहां की हुकूमत रिहा कर दे और वापस भारत भेज दे। गौरतलब है कि गुरदीप उन 14 लोगों में शामिल है जिन्हें ड्रग्स तस्करी के विभिन्न मामलों में मौत की सजा दी गई है।

48 वर्षीय गुरदीप सिंह को 300 ग्राम हेरोइन की तस्‍करी करने की कोशिश में इंडोनेशिया में वर्ष 2004 में गिरफ्तार किया गया था। हालांकि  इन्हें बचाने के लिए भारत सरकार अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App