राजद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए लालू की हुंकार, कहा- हर जिले का करूंगा दौरा, हमारी पार्टी बिहार में सबसे बड़ी

राजद प्रमुख ने कहा कि जो हार जाता है वो पार्टी छोड़ देता है, जिसे टिकट नहीं मिलती है वो अपनी ही पार्टी के उम्मीदवार को हराने में जुट जाता है। प्रशिक्षण शिविर के आयोजन की सराहना की और कहा कि आगे भी ऐसे कार्यक्रम होने चाहिए।

Lalu Prasad, Bihar, RJD
राजद कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए लालू प्रसाद यादव (फोटो- ट्विटर- @RJDforIndia)

राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए लालू प्रसाद ने कहा कि वो जल्द ही दिल्ली से बिहार आएंगे और हर जिले का दौरा करेंगे। इसके साथ ही आरजेडी सुप्रीमों ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की भी जमकर तारीफ की। लालू ने कहा कि हमारी पार्टी बिहार में सबसे बड़ी पार्टी है। वोट हमारा कभी कम नहीं होता है।

राजद प्रमुख ने कहा कि जो हार जाता है वो पार्टी छोड़ देता है, जिसे टिकट नहीं मिलती है वो अपनी ही पार्टी के उम्मीदवार को हराने में जुट जाता है। प्रशिक्षण शिविर के आयोजन की सराहना की और कहा कि आगे भी ऐसे कार्यक्रम होने चाहिए। तेजस्वी यादव की चर्चा करते हुए कहा कि उनके नेतृत्व को बिहार ने स्वीकार किया है। अन्य दलों के नेता भी कहते हैं कि तेजस्वी काफी अच्छा कर रहा है। इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी नेताओं और कार्यकर्ताओं से कहा कि पार्टी का हर कार्यकर्ता अपने घर पर आरजेडी का झंडा लगाए, ये हमारी पहचान है।

इधर पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती के ब्यूरोक्रेसी द्वारा चप्पल उठाने वाले बयान पर सियासी घमासान मच गया है। विपक्षी पार्टियों द्वारा मामले को तूल देने के बाद उन्होंने अपनी सफाई पेश की है। उमा भारती ने सिलसिलेवार एक के बाद एक कई ट्वीट किये और लिखा, ‘ब्यूरोक्रेसी पर बोली असंयत भाषा पर मैंने आत्मग्लानि का अनुभव किया और उसे व्यक्त भी किया किन्तु मेरे भाव बिलकुल सही थे। मैं तो किसी को अपने पांव भी नहीं छूने देती हूं तो किसी से चप्पल उठाने की बात कैसे कह सकती हूं?’ भारती ने इस बहाने एक किस्सा भी साझा किया है।

उमा भारती ने लिखा है कि साल 2000 में जब मैं केंद्र की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में पर्यटन मंत्री थी, तब बिहार में वहां की मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनके पति लालू यादव जी के साथ मेरा पटना से बोधगया हेलीकॉप्टर से जाने का दौरा हुआ। हेलीकॉप्टर में हमारे सामने की सीट पर बिहार के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी भी बैठे थे। लालू यादव जी ने मेरे ही सामने अपने पीकदान में थूका एवं उस वरिष्ठ आईएएस अधिकारी के हाथ में थमाकर उसको खिड़की के बगल में नीचे रखने को कहा और उस अधिकारी ने ऐसा किया भी।

पढें अपडेट समाचार (Newsupdate News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट