त्रिपुराः निकाय चुनावों को लेकर भिड़े बीजेपी-टीएमसी समर्थक, दो जवानों समेत 19 जख्मी, लगाई धारा 144

एडीजी (ला एंड आर्डर) सुब्रत चक्रवर्ती ने कहा कि कालीतिला इलाके में बुधवार रात करीब साढ़े नौ बजे उस वक्त यह विवाद शुरू हुआ, जब टीएमसी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे। उसी दौरान वो भाजपा कार्यालय के पास पहुंच गए। उन्होंने बताया कि दोनों दलों के समर्थक आमने-सामने आ गए।

Tripura, BJP TMC clash, 19 injured, Section 144 clamped, Teliamura Municipal Council
सांकेतिक फोटो। ANI

त्रिपुरा में खोवई जिले के तेलियामुरा में भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल के समर्थकों के बीच हुई झड़प में 19 लोग घायल हो गए। फिलहाल इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि सूबे में नगर निकाय चुनावों से कुछ दिन पहले हुई इस झड़प में घायल हुए लोगों में दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए तेलियामुरा एसडीएम मोहम्मद सज्जाद पी ने वार्ड 13,14 और 15 में धारा 144 लगा दी। यह आदेश 24 नवंबर तक लागू रहेगा।

एडीजी (ला एंड आर्डर) सुब्रत चक्रवर्ती ने कहा कि कालीतिला इलाके में बुधवार रात करीब साढ़े नौ बजे उस वक्त यह विवाद शुरू हुआ, जब टीएमसी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे। उसी दौरान वो भाजपा कार्यालय के पास पहुंच गए। उन्होंने बताया कि दोनों दलों के समर्थक आमने-सामने आ गए। अचानक से टीएमसी कार्यकर्ताओं ने भाजपा समर्थकों पर हमला कर दिया। उसके बाद दूसरे पक्ष ने भी हमला किया। चक्रवर्ती ने कहा कि पुलिस ने दोनों गुटों को शांत करने की कोशिश की। स्थिति नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस का भी प्रयोग करना पड़ा।

घटना के सिलसिले में तेलियामपुरा पुलिस थाने में तीन मामले दर्ज किए गए। इनमें दो मामले टीएमसी कार्यकर्ता अनिर्बान सरकार के पिता ने दर्ज कराए हैं। उसे चोट लगने की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि सरकार समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें से चार को अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां से इन्हें 30 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। सरकार को अस्पताल में भर्ती होने की वजह से अदालत में पेश नहीं किया जा सका।

उधर, टीएमसी नेता सुष्मिता देव ने आरोप लगाया कि 25 नवंबर को स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के शीर्ष अदालत के निर्देशों के बावजूद उनकी पार्टी के उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं पर हमले हो रहे हैं। इन आरोपों को खारिज करते हुअ भाजपा प्रवक्ता नवेंदु भट्टाचार्य ने कहा कि उनकी पार्टी के सदस्यों ने किसी टीएमसी कार्यकर्ता पर हमला नहीं किया। तृणमूल राज्य में उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदी हैं ही नहीं। निकाय चुनाव 25 नवंबर को होंगे। राज्य के कुल 20 नगर निकायों में से सात पर सत्तारूढ़ भाजपा ने निर्विरोध जीत हासिल कर ली है।

पढें अपडेट समाचार (Newsupdate News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
विनोद राय ने मनमोहन सिंह पर बोला हमला, कहा- ‘कांग्रेसी नेताओं ने बनाया था दबाव’
अपडेट